Twitter
Advertisement
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

NEET Paper Leak: गिरफ्तार चिंटू ने नीट पेपर लीक मामले में खोले कई राज, CBI की टीम ने पटना और गुजरात में डाला डेरा

NEET-UG Paper Leak: सीबीआई ने नीट पेपर लीक मामले की जांच शुरू कर दी है. आरोपी चिंटू ने जांच टीम के सामने साजिश से जुड़े कई राज़ खोले हैं. केंद्रीय जांच टीम ने बिहार से लेकर गुजरात तक कई जगहों पर रेड डाली है. 

Latest News
NEET Paper Leak: गिरफ्तार चिंटू ने नीट पेपर लीक मामले में खोले कई राज, CBI की टीम ने पटना और गुजरात में डाला डेरा

नीट पेपर लीक मामले की जांच जारी

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

नीट पेपर लीक (NEET-UG Paper Leak) मामले को लेकर जांच जारी है. अब तक बिहार, झारखंड, गोधरा और गुजरात के कई शहरों में रेड डाली है. सीबीआई (CBI) की एक टीम ने पटना में डेरा डाल रखा है. केंद्रीय जांच एजेंसी की एक टीम गुजरात में है और लगातार जांच कर रही है. सूत्रों के मुताबिक एनटीए (NTA) के कुछ अधिकारी भी जांच एजेंसी की राडार पर हैं. अधिकारियों पर पेपर लीक कराने की साजिश में लाखों की रिश्वत लेने का अंदेशा है.

गिरफ्तार आरोपी चिंटू ने खोले कई राज
नीट पेपर लीक मामले में मास्टरमाइंड संजीव मुखिया फरार चल रहा है. हालांकि, अब तक हुई गिरफ्तारी में कई आरोपियों ने अपने राज खोले हैं. मीडिया रिपोर्ट्स की मानें, तो गिरफ्तार आरोपी चिंटू ने पेपर लीक की पूरी साजिश और नेटवर्क को लेकर कई चौंकाने वाले राज खोले हैं. पेपर लीक को अंजाम देने के लिए कई राज्यों में रैकेट सक्रिय था और महीनों पहले इसकी तैयारी शुरू हो गई थी. 


यह भी पढ़ें: राम मंदिर की छत से पानी गिरने पर बोले नृपेंद्र मिश्रा, 'कुछ दिन की बात है'  


पटना और गुजरात में सीबीआई की टीम ने डाला डेरा 
सीबीआई की एक टीम मामले की पड़ताल के पटना में है, जबकि एक और टीम गुजरात में है. सीबीआई ने एफआईआर दर्ज कर अपनी जांच शुरू कर दी है. इस मामले की जांच बिहार और गुजरात पुलिस अलग से कर रही थी. सीबीआई ने अलग-अलग कुल 25 केस को टेकओवर कर लिया है. नीट पेपर लीक के अलावा यूजीसी-नेट पेपर लीक की जांच भी सीबीआई कर रही है.


यह भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में नक्सली कमांडर अरुण मंडावी का खात्मा, 5 लाख का था इनाम


पेपर लीक मामले पर राजनीतिक बवाल भी जारी है. सरकार का कहना है कि मामले की निष्पक्ष जांच हो रही है और दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा. दूसरी ओर विपक्ष का कहना है कि यह मोदी सरकार की नाकामयाबी और भ्रष्टाचार का नतीजा है. 

ख़बर की और जानकारी के लिए डाउनलोड करें DNA App, अपनी राय और अपने इलाके की खबर देने के लिए जुड़ें हमारे गूगलफेसबुकxइंस्टाग्रामयूट्यूब और वॉट्सऐप कम्युनिटी से.

Advertisement

Live tv

Advertisement
Advertisement