Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Pitru Paksha 2022 Bhojan: श्राद्ध में पितरों के लिए कैसा भोजन बनाएं और खुद भी क्या खाएं

Shraddh me Kya banaye aur Kya khaye: पितृपक्ष के दौरान पितरों को प्रसन्न करने के लिए क्या बनाना चाहिए और कैसा भोजन पकाना चाहिए

article-main
FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी: Pitru Paksha 2022 Shraddh Bhojan-  इस साल 10 सितंबर से श्राद्ध शुरू हो रहे हैं, पितृपक्ष (Pitru Paksha 2022) के दौरान जो भोजन पितरों के लिए बनाया जाता है वह बहुत ही अलग होता है, पितरों की खान पान की पसंद को ध्यान में रखकर उनकी याद में भोजन बनाया जाता है और उसे ब्राह्मण या फिर जरूरतमंदों को खिलाया जाता है. ऐसा कहा जाता है कि इससे पितर देवता खुश होते हैं. इस दौरान तामसिक भोजन (Non Veg) ना ही बनता है और ना ही खाया जाता है,आईए जानते हैं इस दौरान कैसा भोजन खाना चाहिए (Pitru Paksha Bhojan) और क्या पकाना चाहिए. 

श्राद्ध का भोजन ऐसा होना चाहिए जिससे मन में किसी भी तरह की उत्तेजना पैदा ना हो, बहुत ही सात्विक और मन को शांत कर देने वाला होना चाहिए. इस दौरान बहुत ज्यादा तेल का खाना (Oily Food) ना ही बनाते हैं और ना ही खाते हैं. इस दौरान मटर और सरसों का उपयोग श्रेष्ठ है. Ghee से पकवान बनाए जाते हैं. ज्यादातर पकवान ऐसे होने चाहिए जो पितरों को पसंद है. भोजन में गंगाजल,दूध,शहद,कुश और तिल सबसे ज्यादा जरूरी है, तिल होने से उसका फल अक्षय होता है. कहा जाता है कि तिल पिशाचों से श्राद्ध की रक्षा करते हैं, इसलिए खाने में तिल का इस्तेमाल किया जाता है. 

यह भी पढ़ें- कब से शुरू हो रहे हैं श्राद्ध, जानिए क्या है तिथि और पूजन विधि

इसके अलावा उड़द की दाल के बड़े, दूध-घी से बने पकवान, जैसे खीर, पनीर, रायता, मौसमी सब्जियां जैसी लौकी, तोरी, भिंडी, सीताफल, मूली आदि बनानी चाहिए. कई लोगों के यहां पूए भी बनते हैं. श्राद्ध के दौरान सिर्फ भोजन बनाने का महत्व ही नहीं बल्कि आप किस अवस्था में भोजन पका रहे हैं और आप क्या खा रहे हैं. इसपर ध्यान देना बहुत ही जरूरी है

यह भी पढ़ें- श्राद्ध के बाद शुरू हो जाएंगे नवरात्र, जानिए क्या है चैत्र और शारदीय नवरात्र में अंतर

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. डीएनए हिंदी इसकी पुष्टि नहीं करता है.) 

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv

पसंदीदा वीडियो