Twitter
Advertisement
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Delhi Bulldozer Action: '41 लोगों की जान बचाने वाले Rat Miner का तोड़ दिया घर', PM Modi पर भड़के Asaduddin Owaisi

Delhi Bulldozer Action: दिल्ली में चल रहे अतिक्रमण हटाओ अभियान के तहत वकील हसन का घर गिरा दिया गया है, जो उत्तरकाशी सुरंग में फंसे 41 लोगों की जान बचाने वाले रैट माइनर में से एक थे.

Latest News
article-main
FacebookTwitterWhatsappLinkedin

Delhi Bulldozer Action: दिल्ली में चल रहा अतिक्रमण अभियान विवादों में आ गया है. दिल्ली डवलपमेंट अथॉरिटी (DDA) ने वकील हसन का घर भी गिरा दिया है, जो पिछले साल उत्तराखंड के उत्तरकाशी की सिलक्यारा सुरंग में फंसे 41 लोगों को बचाने वाले रैट माइनर्स में से एक है. इस कार्रवाई को लेकर Congress और AAP के बाद अब ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसिलमीन (AIMIM) ने भी इसे मुद्दा बना लिया है. AIMIM के चीफ असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने गुरुवार को एक्स (पहले ट्विटर) पर इससे जुड़ी फोटो शेयर करते हुए मोदी सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) पर भी इस घटना के लिए निशाना (Asaduddin Owaisi Attack on PM Narendra Modi) साधते हुए लिखा कि वकील हसन नाम के कारण पीएम मोदी के राज में उनका बुलडोजर-एनकाउंटर ही मुमकिन है.


यह भी पढ़ें- साउथ कोरियन लड़के ने ठसक से ऐसे पहनी धोती कि फिदा हो गए हिंदुस्तानी, देखें VIDEO


'सभ्य समाज में मिलता नायक का दर्जा'

ओवैसी ने ट्वीट में लिखा, पिछले साल उत्तरकाशी में फंसे 41 लोगों की जान बचाने वाले रैट माइनर वकील हसन के मकान को बुलडोजर से ढहा दिया गया है. DDA ने उन्हें नोटिस नहीं दिया और उनके बच्चे घर पर अकेले थे, तब बुलडोजर चला दिया. वकील और उनके साथियों ने 41 लोगों को बचाने के लिए जान की बाजी लगाई थी. सभ्य समाज में उन्हें राष्ट्रीय नायक का दर्जा मिलता. लेकिन उनका नाम वकील हसन है, इसलिए मोदी राज में उनका एनकाउंटर और बुलडोजर ही मुमकिन है.

क्या है पूरा मामला

दिल्ली में इस समय DDA की तरफ से अतिक्रमण विरोधी अभियान चलाया जा रहा है. इसमें बहुत सारे घरों को अवैध बताकर बुलडोजर से गिरा दिया गया है. इनमें ही रैट माइनर वकील हसन का भी घर है, जो दिल्ली के खजूरी खास की श्रीराम कॉलोनी में है. वकील के मुताबिक, उन्होंने साल 2023 में 80 का प्लॉट 38 लाख रुपये में खरीदा था और अपनी जिंदगी भर की कमाई के साथ ही पत्नी के जेवर व गांव की जमीन बेचकर आए पैसे से मकान बनाया था. तब उन्हें यह नहीं पता था कि ये DDA की जमीन है. वकील हसन ने DDA अधिकारियों पर रिश्वत मांगने और नहीं देने पर बिना नोटिस दिए घर गिराने का आरोप लगाया है. वकील हसन ने घर वापस नहीं मिलने पर अनशन की चेतावनी दी है.


यह भी पढ़ें: Uttarakhand Tunnel Rescue में मदद करने वाले रैट माइनर के घर चला बुलडोजर, क्या बोले वकील हसन


भाजपा कह चुकी है पीएम आवास योजना में दिलाएगी घर

वकील हसन के घर को गिराने का मुद्दा उछलने के बाद कांग्रेस और आप ने भी भाजपा को घेर रखा है. भाजपा पर लगातार हमला बोला जा रहा है. इसके बाद बैकफुट पर आई भाजपा ने घोषणा की है कि वकील हसन को पीएम आवास योजना में वैध घर दिलाया जाएगा.

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

Advertisement

Live tv

Advertisement
Advertisement