Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Bihar DGP राजविंदर सिंह भट्टी कौन हैं, क्या बंद करवा पाएंगे जहरीली शराब का कारोबार?

Who is new DGP of Bihar: आईपीएस आर एस भट्टी को बिहार का नया डीजीपी बनाया गया है. वह मौजूदा डीजीपी एस के सिंघल की जगह लेंगे.

article-main

डीएनए हिंदी वेब डेस्क

Updated: Dec 18, 2022, 03:39 PM IST

Edited by

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी: बिहार में जहरीली शराब कांड (Bihar Hooch Tragedy) के बीच पुलिस व्यवस्था में बड़ा बदलाव हुआ है. अब राजविंदर सिंह भट्टी उर्फ आर एस भट्टी (IPS R S Bhatti) को बिहार या नया पुलिस महानिदेशक (DGP) बनाया गया है. पंजाब के रहने वाले आर एस भट्टी फिलहाल सीमा सुरक्षा बल (SSB) में अपर महानिदेशक पूर्वी क्षेत्र के पद पर तैनात हैं. बिहार काडर में काम कर रहे आर एस भट्टी ने कई बाहुबलियों के दांत खट्टे किए हैं. सख्त छवि वाले भट्टी से उम्मीद की जा रही है कि वह बिहार में अपराध और अवैध शराब के कारोबार पर रोक लगाएंगे.

आर एस भट्टी 1990 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं. उन्हें बिहार में कानून व्यवस्था को मजबूत करने वाले अधिकारी के रूप में जाना जाता है. आर एस भट्टी ने बिहार के बाहुबलियों शहाबुद्दीन, प्रभुनाथ सिंह और दिलीप कुमार सिंह जैसों की गिरफ्तारी में भी अहम योगदान दिया था. कहा जाता है कि शहाबुद्दीन की गिरफ्तारी का प्लान आर एस भट्टी ने ही बनाया था. उस वक्त वह एसएसपी सह डीआईजी के पद पर तैनात थे.

यह भी पढ़ें- जगन्नाथ मंदिर में भिखारी का महादान, मंदिर को दिए 1 लाख रुपये,  भीख मांगकर जुटाई थी रकम

2025 में रिटायर होंगे आर एस भट्टी
बिहार के मौजूदा डीजीपी एस के सिंघल का कार्यकाल खत्म हो रहा है ऐसे में नए डीजीपी के नाम का ऐलान करना ज़रूरी था. आर एस भट्टी को मनमोहन सिंह, शोभा अहोतकर और आलोक राज के ऊपर तरजीह दी गई है. आर एस भट्टी 30 सितंबर 2025 को रिटायर होंगे. अगर उन्हें डीजीपी पद से हटाया नहीं जाता है तो वह लगभग 3 सालों तक बिहार के डीजीपी बने रहेंगे.

यह भी पढ़ें- हैदराबाद से दुबई जा रहे Air India के विमान को मुंबई किया गया डायवर्ट, जानिए क्या रही वजह

आर एस भट्टी ऐसे समय पर बिहार के डीजीपी बन रहे हैं जब बिहार जहरीली शराब कांड से घिरा हुआ है. छपरा और आसपास के इलाकों में जहरीली शराब पीने की वजह से 70 से ज़्यादा लोगों की जान जा चुकी है. इसके अलावा, बिहार में आपराधिक घटनाओं पर काबू पाना और कानून व्यवस्था को मजबूत बनाने की चुनौती भी उनके सामने मुंह बाए खड़ी है.

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv