Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Jupiter CEO ने 68 बिलियन डॉलर की कंपनी से दिया इस्तीफा, बोले-'मुझे समुद्र किनारे मजे करना है'

Jupiter के CEO एंड्रयू फॉर्मिका ने कंपनी से अपने पद पर से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने यह इस्तीफा सिर्फ इसलिए दिया है क्योंकि वह अब कुछ समय खुद के साथ बिताना चाहते हैं.

Latest News
article-main

जुपिटर के चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर एंड्रयू फॉर्मिका

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी: लंदन स्थित फंड हाउस ज्यूपिटर फंड मैनेजमेंट पीएलसी के चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर एंड्रयू फॉर्मिका (CEO, Andrew Formica) ने अचानक इस्तीफा देकर सभी को चौंका दिया है. इस्तीफा देने की वजह भी काफी रोचक है. दरअसल एंड्रयू फॉर्मिका ने अपने पद से सिर्फ इसलिए इस्तीफा दे दिया क्योंकि उन्हें समुद्र के किनारे का मजा लेना है. समाचार एजेंसी ब्लूमबर्ग (Bloomberg) ने कंपनी के एक बयान का हवाला देते हुए बताया कि फॉर्मिका, जो 2019 में 68 बिलियन डॉलर के फंड मैनेजमेंट दिग्गज में शामिल हुए, 1 अक्टूबर को अपना पद छोड़ देंगे.

रिपोर्ट में कहा गया है कि जुपिटर (Jupiter) के चीफ इन्वेस्टमेंट ऑफिसर मैथ्यू बेस्ली नए सीईओ का पद संभालेंगे और फॉर्मिका भी निवेश फर्म के डायरेक्टर के तौर पर अपने पद से मुक्त होंगे.

साथ ही यह भी बताया गया कि फॉर्मिका ने व्यक्तिगत कारणों का हवाला देते हुए CEO पद को छोड़ने का फैसला किया है और अपने बुजुर्ग माता-पिता के साथ रहने के लिए अपने मूल स्थान ऑस्ट्रेलिया वापस जाना चाहते हैं.

उन्होंने ब्लूमबर्ग से कहा, "मैं बस समुद्र तट पर बैठना चाहता हूं और कुछ नहीं करना चाहता."

मिस्टर फॉर्मिका, जिन्होंने यूनाइटेड किंगडम में लगभग तीस साल गुजारे हैं. उन्होंने मार्च 2019 में जुपिटर में ज्वाइन किया था. जुपिटर से पहले, उन्होंने जानूस हेंडरसन ग्रुप पीएलसी (Janus Henderson Group Plc) के साथ काम किया और 2017 में यूएस फंड हाउस जानूस (U.S. fund house Janus) और यूके के हेंडरसन (Henderson) के विलय में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी.

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार, ग्राहकों ने लगातार चार वर्षों तक जुपिटर से नकदी निकाली है और फर्म ने वर्ष की पहली तिमाही में £1.6 बिलियन का आउटफ्लो देखा है.

यह भी पढ़ें:  RD vs SIP क्या है बेहतर, किसमें मिलता है बेहतर मुनाफा

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों पर अलग नज़रिया, फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv