Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Taiwan पहुंचने वाली हैं नैंसी पेलोसी, चीन ने अमेरिका को फिर दी धमकी- आग से मत खेलो, अंजाम बुरा होगा

US China Clash Over Taiwan: ताइवान जा रहीं नैंसी पेलोसी की वजह से चीन ने अमेरिका को एक बार फिर से धमकी दी है कि वह आग से न खेले वरना उसे गंभीर अंजाम भुगतने होंगे.

article-main

डीएनए हिंदी वेब डेस्क

Updated: Aug 02, 2022, 04:15 PM IST

Edited by

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी: अमेरिकी संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी (Nancy Pelosi) इन दिनों एशिया की यात्रा पर हैं. नैंसो पेलोसी मलेशिया के दौरे के बाद आज रात को ताइवान (Taiwan) पहुंच सकती हैं. अमेरिका के इस कदम के खिलाफ चीन ने एक बार फिर से धमकी दी है. चीन से अमेरिका को साफ कहा है कि वह आग से न खेले क्योंकि इसका बुरा होगा. भारत में चीनी दूतावास ने कहा है कि अमेरिका-चीन के संबंध तभी तक हैं जब तक अमेरिका 'एक चीन' की विचारधारा का सम्मान करे और ताइवान में अलगाववादी विचार को हवा न दे.

भारत में चीनी दूतावास के प्रवक्ता वांग जियाओजिन ने एक के बाद एक ट्वीट करके अमेरिका को खुली धमकी दी है. वांग जियाओजिन ने लिखा है, 'एक चीन का सिद्धांत ही चीन-अमेरिका के रिश्तों की राजनीतिक नींव है. ताइवान की आजादी जैसे अलगाववादी विचारों का चीन सख्त विरोध करता है. साथ ही, वह इस मामले में विदेशी दखलंदाजी के भी सख्त खिलाफ है. चीन किसी भी हालत में 'ताइवान की आजादी' की बात करने वाली किसी भी ताकत को अनुमति नहीं दे सकता'.

यह भी पढ़ें- China की धमकी के बावजूद ताइवान जाएंगी अमेरिका की नैंसी पेलोसी, जानिए चीन को क्यों लग रही मिर्ची

'नैंसी की यात्रा चीन के मामलों में हस्तक्षेप'
चीन की ओर से अमेरिका को धमकाते हुए वांग ने आगे लिखा है, 'नैंसी पेलोसी की ताइवान यात्रा को चीन के आंतरिक मामलों में खुला हस्तक्षेप माना जाएगा. इससे ताइवान जलसंधि के आसपास के इलाके में शांति और स्थिरता भंग हो सकती है. इसके अलावा, इस यात्रा की वजह से चीन और अमेरिका के रिश्तों में दरार पड़ सकती है और बेहद गंभीर स्थिति पैदा हो सकती है जिसके परिणाम बुरे होंगे.'

यह भी पढ़ें- अल जवाहिरी के मारे जाने के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति Joe Biden ने क्या कहा? पढ़िए एक-एक शब्द

उन्होंने आगे लिखा है, 'जनता की राय को चुनौती नहीं दी जा सकती है. जो आग से खेलते हैं वे इसी में जलकर खाक भी हो जाते हैं. अगर अमेरिका इस यात्रा को पूरी करने की जिद पर अड़ा रहता है और चीन की रेड लाइन को चुनौती देता है तो उसे इसके अंजाम भुगतने होंगे. इसके बाद होने वाली हर गतिविधि का परिणाम उसे झेलना होगा.'

यह भी पढ़ें- Ayman al-Zawahiri Killed: मारा गया अल ज़वाहिरी, अमेरिका ने काबुल में किया ड्रोन अटैक

'अमेरिका को भुगतना होगा अंजाम'
आपको बता दें कि चीन, ताइवान को अपना हिस्सा मानता है जबकि ताइवान खुद को आजाद देश कहता है. अमेरिका, चीन के खिलाफ ताइवान को हवा देना चाह रहा है और यही वजह है कि चीन ने इस पर सख्त नाराजगी जाहिर की है. इसी संबंध में पिछले हफ्ते चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन से बात की थी और उनसे भी साफ कहा था कि अमेरिका, चीन-ताइवान के मामले में कोई दखल न दे.

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर. 

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv