Twitter
Advertisement
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Pakistan में घुसकर Iran ने फिर की सर्जिकल स्ट्राइक, जैश-अल-अदल कमांडर को किया ढेर

Iran ने पाकिस्तान में घुसकर जैश अल-अदल नेता इस्माइल शाहबख्श और उसके साथियों को खत्म कर दिया है. ईरान और पाकिस्तान के बीच तल्खियां और बढ़ने वाली हैं.

Latest News
article-main

ईरान ने पाकिस्तान के आतंकी संगठनों पर एक्शन लिया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

ईरान (Iran) ने एक बार फिर पाकिस्तान (Pakistan) में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक की है. ईरानी सेना ने आतंकी संगठन जैश-अल-अदल के कमांडर इस्माइल शाहबख्श और उसके साथियों को मार गिराया है.  

ईरान और पाकिस्तान के बीच हाल के दिनों में तनाव अपने चरम पर है. दोनों देशों ने एक-दूसरे पर हवाई हमले किए हैं. पाकिस्तान आरोप लगाता रहा है कि ईरान, वैश्विक नियमों को तोड़ते हुए दाखिल हो रहा है, वहीं ईरान भी पाकिस्तान पर ऐसे ही आरोप लगा रहा है.

जैश अल-अदल पर हमला बोल रहा है ईरान
जैश अल-अदल को ईरान ने आतंकी संगठन की मान्यता दी है. साल 2012 में यह संगठन अस्तित्व में आया था. अल अरबिया न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक यह संगठन सिस्तान-बलूचिस्तान के दक्षिणपूर्वी प्रांत में सक्रिय है. यह एक सुन्नी आतंकी संगठन है.


इसे भी पढ़ें- Derek O'Brien का एक बयान और पश्चिम बंगाल में बिगड़ा Congress का खेल, जानिए कैसे


यह संगठन ईरानी सुरक्षा बलों पर हमला करता रहा है. दिसंबर में पाकिस्तान के सिस्तान और बलूचिस्तान प्रांत में एक पुलिस स्टेशन पर हमला हुआ था, जिसके चलते 11 पुलिसकर्मी मारे गए थे. दोनों देश एक-दूसरे के खिलाफ उकसावे के आरोप लगाते रहे हैं.

क्यों फेल हो रही कूटनीतिक वार्ता?
ईरान-पाकिस्तान के बीच भड़के तनाव को कम करने के लिए दोनों देश राजनयिक प्रयास कर रहे हैं. दो मित्र देशों के बीच तनाव थम नहीं रहा है. एक-दूसरे पर किए जा रहे एयर स्ट्राइक की वजह से हालात बिगड़ रहे हैं.

 


इसे भी पढ़ें- असम सरकार ने निरस्त किया Muslim marriage और Divorce law, क्या जल्द लागू होगा UGC


पहले पाकिस्तान और ईरान सुरक्षा सहयोग बढ़ाने पर सहमत हुए थे, अब ये सहमति टूटती नजर आ रही है. पाकिस्तान के विदेश मंत्री जलील अब्बास जिलानी और उनके ईरानी समकक्ष होसैन अमीर-अब्दुल्लाहियन के प्रयासों से बात नहीं बन रही है.

क्यों बिगड़ रहे ईरान-पाकिस्तान संबंध?
ईरान और पाकिस्तान के बीच आतंकी संगठनों पर लिए गए एक्शन की वजह से हालात बेकाबू हुए हैं. पाकिस्तान का कहना है कि ईरान के हमले में आम नागरिक मारे जाते हैं. पाकिस्तान ने ईरान से अपने राजदूतों को वापस बुला लिया है.

 


ये भी पढ़ें: Farmers Protest: किसानों का कैंडल मार्च आज, अब क्या क्या करेंगे प्रदर्शनकारी? 10 पॉइंट्स में जानिए


पाकिस्तान का आरोप है कि ईरान, उनकी संप्रभुता को नुकसान पहुंचा रहा है. पाकिस्तान ने ईरान में रह रहे बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी (BLA) और बलूचिस्तान लिबरेशन फ्रंट (BLF) जैसे संगठनों पर हमला बोला था. कूटनीतिक वार्ता के बात आई स्थिरता, एक बार फिर से भंग हुई है. पाकिस्तान और ईरान फिर एक-दूसरे पर हमला बोल रहे हैं.

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

Advertisement

Live tv

Advertisement
Advertisement