Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Viral News: अजब प्रेम कहानी! 21 साल तक पत्नी के ताबूत के बगल में सोया, हैरान कर देगी पूरी कहानी

72 साल के चरण जनवाचकल थाईलैंड के बैंग खेन जिले के रहने वाले है. 21 साल पहले एक बीमारी के कारण उनकी पत्नी की मौत हो गई थी.

article-main
FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी: आपने प्यार-मोहब्बत की कई कहानियां सुनी होंगी, फिल्में भी देखी होंगी लेकिन आज हम आपको प्यार और एक दूसरे के साथ से जुड़ी एक ऐसी कहानी सुनाने वाले हैं जिसे सुनकर आप हैरान रह जाएंगे. इस कहानी में एक शख्स पिछले 21 साल से अपनी पत्नी के शव के साथ रहा था और बातें किया करता था. यह कहानी थाईलैंड के रहने वाले 72 के चरण जनवाचकल (Charn Janwatchakal) की है. चरण की पत्नी की 21 साल से पहले मौत हो गई थी लेकिन वो उनसे अलग नहीं रह पाए. चरण ने अपनी पत्नी के शव को एक ताबूत में रखा और उसके साथ ही रहने लगे. हाल ही में चरण ने अपनी पत्नी का अंतिम संस्कार करने का फैसला लिया. उन्होंने एक संस्था की मदद से पत्नी के बचे हुए अवशेषों को ताबूत से बाहर निकालकर विधि-विधान से अंतिम विदाई दी.

पत्नी के शव से करते थे बातें

द स्ट्रेट्स टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक 72 साल के चरण जनवाचकल (Charn Janwatchakal) थाईलैंड के बैंग खेन (Bang Khen) जिले के रहने वाले है. 21 साल पहले एक बीमारी के कारण उनकी पत्नी की मौत हो गई थी. वो अपनी पत्नी से बेइंतहा मोहब्बत करते थे जिसके चलते उन्होंने शव को कब्रिस्तान में दफन करने की जगह अपने घर में ही दफन कर लिया. चरण कभी अपनी पत्नी के शव के साथ बातें करते तो कभी उसके पास जाकर सो जाते.

यह भी पढ़ें: बेटे के मुंह में रखी सिगरेट पर बाप ने AK47 से लगाया निशाना, फिर क्या हुआ ?

दोनों बेटों ने छोड़ दिया था अकेले

पत्नी की मौत के बाद चरण के दोनों बेटे उन्हें अकेला छोड़कर चले गए लेकिन इस बात से चरण को कोई फर्क नहीं पड़ा. अब 21 साल के बाद उन्होंने अपनी पत्नी के शव का अंतिम संस्कार करने का फैसला लिया. पिछले महीने 29 अप्रैल को चरण ने अंतिम संस्कार का निर्णय लेकर एक संस्था से संपर्क किया. संस्था की मदद से उन्होंने पत्नी के शव के बचे हुए हिस्सों को ताबूत से बाहर निकालकर विधि-विधान से अंतिम विदाई दी. अंतिम विदाई के दौरान चरण की रोने-बिलखने की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है.

एक स्थानीय वकील नितिथॉर्न केवटो (Nitithorn Kaewto) ने उनके इस फैसले के बाद उनका इंटरव्यू किया. वकील ने बताया कि चरण काफी पढ़े लिखे हैं. उनके पास कई बड़ी डिग्रियां हैं. साथ ही वो थाई सेना में डॉक्टर भी रह चुके हैं लेकिन पत्नी की मौत के बाद से वो काफी साधारण जीवन जी रहे हैं. उनके घर में ना तो लाइट है ना ही कोई अच्छा बिस्तर. केवटो ने अंतिम संस्कार को लेकर जानकारी देते हुए बताया कि चरण को डर था कि उनकी मौत के बाद पत्नी के शव को कोई उचित सम्मान नहीं देगा इसलिए उन्होंने शव का अंतिम संस्कार करने का फैसला लिया. 

यह भी पढ़ें: World's Tallest Dog: दुनिया का सबसे लंबा कुत्ता, घोड़े जैसा ऊंचा है जानते हैं कितनी है हाइट ?

 

गूगल पर हमारे पेज को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें. हमसे जुड़ने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर आएं और डीएनए हिंदी को ट्विटर पर फॉलो करें. 

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv