Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Pregnant Python के लिए 54 दिन तक रुका रहा हाईवे का काम

NH66 पर कंस्ट्रक्शन का काम 20 मार्च से रुका हुआ है. यहां काम पर लगी CPCRI की टीम ने एक पाइथन को देखा था और उसकी हालत देखते हुए यह फैसला लिया गया.

article-main
FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी: केरल के कासरगोड से एक बेहद पॉजिटिव न्यूज आई है. यहां एक प्रेग्नेंट पाइथन के लिए हाईवे कंस्ट्रक्शन का काम 54 दिनों के लिए रोक दिया गया. दरअसल Pregnant Python ने कंस्ट्रक्शन साइट के नजदीक 24 अंडे दिए थे. जब कंस्ट्रक्शन साइट पर काम कर रहे लोगों को इस बारे में पता चला तो उन्होंने काम रोक दिया. सभी ने इंतजार किया कि ये अंडे पूरी तरह से तैयार होकर अपने समय पर टूटें और इनमें से बच्चे बाहर निकल सकें. इसी इंतजार में पूरा काम 54 दिनों तक रुका रहा.

सांप के बच्चों को बचाने के लिए यह मिशन यूं ही नहीं था. इसके लिए फॉरेस्ट डिपार्टमेंट की टीम और सांप रेस्क्यू करने वाले एक शख्स को बुलवाया गया था. ताकि किसी भी बच्चे को कोई नुकसान न पहुंचे. 15 मई को सांप के बच्चे दुनिया में आने को पूरी तरह तैयार थे. इन्हें रेस्क्यू करने पहुंचे Ameen Adkathbail ने बताया, सभी 24 अंडे चटक गए हैं. हमने 15 सांप को जंगल में छोड़ दिया है और बाकी के 9 आज छोड़े जाएंगे.

यह भी पढ़ें: Optical Illusion: चट्टानों के बीच सामने ही छिपी है छोटी बच्ची, ढूंढने में जीनियस लोग भी हुए फेल

बता दें कि NH66 पर कंस्ट्रक्शन का काम 20 मार्च से रुका हुआ है. यहां काम पर लगी CPCRI की टीम ने एक पाइथन को देखा. उसकी हालत देखते हुए उन्होंने फॉरेस्ट डिपार्टमेंट से संपर्क किया. जिस बिल में यह पाइथन छिपी हुई थी वह करीब 4 फीट गहरी थी. फॉरेस्टर डिपार्टमेंट ने अमीन को बुलवाया. वह पिछले 10 सालों से सांपों को रेस्क्यू करने का काम ही कर रहे हैं.

कासरगोड के डिविजनल फॉरेस्ट ऑफिसर ने कहा, भले ही यह एक टाइम बाउंड प्रोजेक्ट था, इसके लिए समय तय किया गया था लेकिन काम रोकने से पहले NHAI से इजाजत ली गई थी. ऐसा इसलिए क्योंकि पाइथन भी वाइल्ड लाइफ प्रोटेक्शन एक्ट के शेड्यूल-1 के तहत हाई लेवल लीगल प्रोटेक्शन के अंडर आते हैं. मतलब उन्हें भी टाइगर जैसी ही सुरक्षा मिली हुई है.

यह भी पढ़ें: Video: हर तरह की धुन पर मटककर नाचता है यह तोता, क्यूटनेस देख आप भी हो जाएंगे फैन

 

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों पर अलग नज़रिया, फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv