Twitter
Advertisement
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

कूड़ा बीनने वाले को मिल गए 30 लाख के डॉलर, पुलिस भी रह गई हैरान

Trending News Bengaluru: बेंगलुरु में कूड़ा बीनने वाले एक शख्स को एक बैग में लगभग 30 लाख डॉलर के नोट मिले हैं. अब इनकी जांच की जा रही है.

article-main

Ragpicker

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

डीएनए हिंदी: दिवाली से पहले लोगों के घरों में जमकर साफ-सफाई हो रही है. ऐसे में घरों से कचरा भी खूब निकल रहा है और इसे बाहर फेंका जा रहा है. शायद ऐसे ही फेंका गया कचरा एक कूड़ा बीनने वाले ने उठाया तो कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में हड़कंप मच गया. इस शख्स को कूड़े में फेंके एक प्लास्टिक बैग में से अमेरिकी डॉलर मिले हैं जो कि लगभग 30 लाख के बराबर हैं. इसके साथ कुछ ऐसे दस्तावेज भी हैं जिसे देखकर पुलिस भी हैरान है. शुरुआती तौर पर पुलिस का मानना है कि इसे किसी फर्जीवाड़े या घोटाले में इस्तेमाल किया जा रहा था और वहीं से इसे कूड़े में फेंक दिया गया.

39 साल के इस कूड़ा बीनने वाले को यह प्लास्टिक बैग एक रेलवे ट्रैक से मिला. इतने डॉलर की भारतीय मुद्रा में कीमत लगभग 25 करोड़ रुपये है. पुलिस की रिपोर्ट के मुताबिक, इस बैग में एक लेटरहेड भी मिला है जिस पर संयुक्त राष्ट्र की मोहर भी लगी हुई है. जिस कूड़ा बीनने वाले सुलेमान शेख को ये नोट मिले थे उन्होंने ही पुलिस को इसकी सूचना दी और सबकुछ पुलिस को सौंप दिया छथा.

यह भी पढ़ें- कुकर वाली कॉफी कभी पी है क्या, सोशल मीडिया पर वायरल हुआ वीडियो

रेलवे लाइन पर मिला था बैग
पश्चिम बंगाल के नदिया के रहने वाले सुलेमान शेख ने बताया कि वह बेंगलुरु में कचरा बीनने का काम करते हैं. उन्होंने बताया कि वह नागवारा रेलवे स्टेशन पर प्लास्टिक और बोतलें बीन रहे थे तभी उन्हें वह काला बैग दिखा. बैग घर ले जाकर देखा और उसमें इतने नोट दिखे तो वह हैरान रह गए. उन्होंने किसी और को ये नोट दिखाए तो सलाह मिली कि ये नोट पुलिस को सौंप दिए जाएं.

यह भी पढ़ें- समुद्र से मिली ऐसी चीज, एक ही रात में करोड़पति बना 'कंगाल' पाकिस्तान का मछुआरा

अब पुलिस ने इन नोट की जांच के लिए रिजर्व बैंक भेज दिए हैं. बताया गया है कि ये सभी नोट केमिकल में भीगे हुए थे. आशंका जताई जा रही है कि ये नोट नकली हैं और किसी तरह के फर्जीवाड़े में इनका इस्तेमाल हो रहा था. सुलेमान शेख के मालिक बप्पा ने यह भी कहा है कि नोट का मामला सामने आने के बाद 7 नवंबर को कुछ लोगो ने उनका अपहरण भी कर लिया था लेकिन जब भरोसा हो गया कि नोट उनके पास नहीं हैं तो छोड़ दिया. पुलिस सीसीटीवी के आधार पर इसकी सच्चाई भी खंगाल रही है.

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

Advertisement

Live tv

Advertisement

पसंदीदा वीडियो

Advertisement