Twitter
Advertisement
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Vastu Tips: घर में भूलकर भी इन जगहों पर न रखें कैंची, तनाव बढ़ने के साथ ही शुरू हो जाएगी आर्थिक तंगी

घर बनाने से लेकर उसमें सामान रखने की गलत दिशा वास्तु दोष (Vastu Dosh) प्रकट करती है. इसकी वजह से घर में अशांति और कलेश बढ़ता है. तनाव के साथ ही आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ता है.

Latest News
Vastu Tips: घर में भूलकर भी इन जगहों पर न रखें कैंची, तनाव बढ़ने के साथ ही शुरू हो जाएगी आर्थिक त��ंगी
FacebookTwitterWhatsappLinkedin

Vastu Tips For Scissors: घर में जिस तरह से चाकू की जरूरत होती है. ठीक उसी तरह सभी घरों में कैंची भी आसानी से मिल जाती है. कपड़ा काटने से लेकर घर में पेपर काटने के लिए कैंची का इस्तेमाल किया जाता है, लेकिन गलत दिशा में रखी यही कैंची आपकी समस्या को बढ़ा सकती है. यह वास्तु दोष को प्रकट करती है, जिसकी वजह से व्यक्ति को शारीरिक समस्याओं, बीमारियों और आर्थिक तंगी जूझना पड़ता है. इसका घर के बच्चों पर विपरीत असर पड़ता है.  

इस ग्रह से होता है कैंची का संबंध

कैंची धारदार चीज है. इसका संबंध केतु ग्रह होता है. अगर कुंडली में केतु खराब है तो आपको घर में कैंची को सही स्थान पर रखना चाहिए. इसकी सही दिशा ही आपको केतु के खराब प्रभावों से बचा सकती है. वहीं कैंची की वजह से लगने वाला ग्रह दोष घर में कलेश, बीमारी और आर्थिक समस्याओं को बढ़ाता है. 

इस दिशा में रखें कैंची

कैंची को घर के अंदर दक्षिण पश्चिम दिशा में रखना चाहिए. कैंची के साथ कोई दूसरी धारदार या नुकीली चीज जैसे टूल बॉक्स को इसी दिशा में रखना चाहिए. इसे हमेशा ढंककर या फिर किसी बॉक्स में रखना चाहिए. कैंची को लटकाकार नहीं रखना चाहिए. उसकी नोंक लटकी होना भी अशुभ होता है. 

गलत जगह पर रखी कैंची कराएंगी नुकसान

घर बनाने से लेकर उसमें रख छोटे से छोटे सामान भी वास्तु को प्रभावित करते हैं. इनमें गलत दिशा में रखी कैंची वास्तु दोष प्रकट करती है. इसकी वजह से बच्चों की उन्नति रुक जाती है. आर्थिक समस्याएं उत्पन्न होती हैं. घर के उत्तर पूर्व की दिशा में रखी कैंची मानसिक अशांति और उलझन पैदा करती है. इसकी वजह यह दिशा चंद्रमा की होती है. चंद्रमा मन के कारक होते हैं. यह मन में बैचेनी और अशांति पैदा करती है. इसकी वजह से व्यक्ति तनाव में रहता है. 

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. डीएनए हिंदी इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

DNA हिंदी अब APP में आ चुका है. एप को अपने फोन पर लोड करने के लिए यहां क्लिक करें.

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

Advertisement

Live tv

Advertisement

पसंदीदा वीडियो

Advertisement