Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

ISIS आतंकी मोहसिन को लेकर NIA के कई खुलासे, पढ़ें, उसके खतरनाक मंसूबे

दिल्ली में रहकर अंतरराष्ट्रीय आतंकी संगठन आईएसआईएस के लिए काम करने वाले मोहसिन अहमद को लेकर राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने की खुलासे किए हैं. बताया जा रहा है कि मोहसिन बड़ी संख्या में युवाओं को आईएसआईएस से जुड़ने के लिए प्रेरित कर रहा था. इस काम में मोहसिन का एक साथी भी है जिसकी तलाश एनआईए कर रही है...

article-main

आईएसआईएस आतंकी मोहसिन अहमद

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिन्दी: ISIS आतंकी मोहसिन अहमद को लेकर राष्ट्रीय जांच एजेंसी (National Investigation Agency) ने बड़ा खुलाला किया है. एनआईए ने कहा कि मोहसिन अहमद (Mohsin Ahmad) जामिया यूनिवर्सिटी में पढ़ रहे छात्रों को इस्लामिक स्टेट की खूबियां बताता था. उन्हें इस्लामिक स्टेट के लिए काम करने को कहता था. एनआईए ने सोमवार को मोहसिन को पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया. कोर्ट से एनआईए को 16 अगस्त तक मोहसिन रिमांड मिली है.

एनआईए ने बताया कि वह लोगों से ISIS के नाम पर पैसे इकट्ठा करता था और उसे क्रिप्टोकरेंसी के जरिए सीरिया भेजता था. जहां ISIS उन पैसों की मदद से आतंकवाद को बढ़वा देता था. मोहसिन सिर्फ सीरिया ही नहीं और भी कई जगहों पर पैसे भेजता था जहां ISIS सक्रिय है.

यही नहीं बी-टेक कर रहे मोहसिन भारत में ISIS के विस्तार के लिए काम करता था. वह खासकर ISIS से जुड़ने के लिए युवाओं का ब्रेनवॉश भी करता था. वह कई तरह के प्रोपेगैंडा चलाकर ISIS के लिए भारत में बेस तैयार कर रहा था.

यह भी पढ़ें, अरविंद केजरीवाल के विधायक ने ISIS आतंकी मोहसिन अहमद को बताया बेकसूर

एनआईए का कहना है कि इस काम मोहसिन के साथी भी है. लेकिन, फिलहाल वह फरार है. एनआईए उसकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है.

एनआईए ने बताया कि मोहसिन के लैपटॉप से कई तरह के आपत्तिजनक साहित्य और वीडियो मिले हैं. एनआईए मोहसिन के लैपटॉप की जांच कर रही है. एनआईए का कहना है कि मोहसिन भारत कई हिस्सों में काम करने वाले ISIS के समर्थकों के संपर्क में भी था. 

यह भी पढ़ें, भारत को 2047 तक 'इस्लामिक राष्ट्र' बनाने का सपना देखने वाले PFI के बारे में जानिए सबकुछ

ध्यान रहे कि एनआईए ने शनिवार की शाम 7 बजकर 10 मिनट पर बाटला हाउस की जापानी गली से मोहसिन को गिरफ्तार किया है. ध्यान रहे कि 25 जून को भारत में ISIS का प्रोपेगैंडा फैलाने के सबूत मिलने के बाद एनआईए ने मोहसिन के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी.

मोहसिन मूल रूप से बिहार के पटना का रहने वाला है. वह हाल ही में इंटर की पढ़ाई करने के बाद बी-टेक करने दिल्ली आया था. वह इसके पहले राजस्थान के कोटा में रहकर इंजीनियरिंग की तैयारी कर रहा था. वह सिर्फ 3 महीने पहले ही दिल्ली आया है.

इधर आतंकी गतिविधियों को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने 15 अगस्त को लेकर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं. इस बार लालकिले की सुरक्षा के लिए 10 हजार जवान तैनात किए जाएंगे. पूरे इलाके में एंटी ड्रोन सिस्टम लगाए जाएंगे.

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv