Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

शिवसेना का Raj Thackeray पर बड़ा हमला, सामना में बताया 'दूसरा ओवैसी'

सामना में बाला साहेब ठाकरे का जिक्र करते हुए लिखा कि कुछ लोग हिंदुओं का ओवैसी बनने चाहते हैं.  

Latest News
article-main

शिवसेना और राज ठाकरे के बीच टकराव लगातार बढ़ता जा रहा है.

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदीः लाउडस्पीकर को लेकर जारी विवाद कम होता नजर नहीं आ रहा है. शिवसेना (Shiv Sena) ने इसे लेकर राज ठाकरे (Raj Thackeray) पर निशाना साधा है. शिवसेना ने सामना के संपादकीय में बाला साहेब ठाकरे (Bala Saheb Thackeray) का जिक्र करते हुए लिखा गया है कुछ लोगों को हिंदुओं का ओवैसी बनने की जल्दबाजी हैं. ऐसे लोग बाला साहेब ठाकरे की नकल करने को कोशिश कर रहे हैं लेकिन ऐसा नहीं कर पा रहे हैं. सामना में बिना नाम लिए कहा गया कि मौजूदा समय में दो-दो ओवैसी बीजेपी की गोद में बैठे हैं. शिवसेना ने बीजेपी पर भी हमला बोलते हुए कहा कि बीजेपी अभी से 2024 के चुनाव की तैयारी में जुट गई है और इसकी शुरुआत उसने महाराष्ट्र में दो-दो ओवैसियों को उतार कर की है.

यह भी पढ़ेंः UP में बिना अनुमति नहीं निकाल पाएंगे धार्मिक जुलूस या शोभायात्रा, CM Yogi ने बना दी ये गाइडलाइन

बीजेपी पर साधा निशाना
सामना में बीजेपी पर भी निशाना साधा गया है. इसमें कहा गया कि बालासाहेब की भ्रष्ट ढंग से नकल करनेवालों को हिंदुओं का ओवैसी बनने की जल्दबाजी लगी है. इतनी जल्दबाजी अच्छी नहीं है, ये उन्हें कौन कहे? इन दोनों ओवैसियों को भारतीय जनता पार्टी ने गोद में बैठाकर 2024 के चुनाव की तैयारी इनकी मदद से शुरू की है. संपादकीय में कहा गया कि बाला साहेब ठाकरे हिंदू हृदय सम्राट थे, परंतु वे धर्मांध नहीं थे. 

यह भी पढ़ेंः Omicron से बच्चों में दिल का दौरा पड़ने का खतरा अधिक, Covid को लेकर नई स्टडी में हुआ खुलासा

संबित पात्रा पर भी साधा निशाना 
सामना में कहा गया कि बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने अब ऐसी बुद्धिमत्ता दिखाई है कि ‘बीते 70 वर्षों में खुशामद की जो प्रथा चलाई गई वही देश में दंगों की वजह है.’ प्रधानमंत्री मोदी द्वारा उन ‘दंगे भड़कानेवालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी’ अथवा ‘लोग शांति रखें’ ऐसी सामान्य अपील भी न करना, इस पर हैरानी होती है. सामना में लिखा है कि सरकारी उपेक्षा के कारण कोरोना से 40 लाख लोगों की बलि चढ़ गई, ऐसी जानकारी ‘न्यूयॉर्क टाइम्स’ ने प्रकाशित की है.    

गूगल पर हमारे पेज को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें. हमसे जुड़ने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर आएं और डीएनए हिंदी को ट्विटर पर फॉलो करें.

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv

पसंदीदा वीडियो