Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Rajasthan News: इस्लाम छोड़कर हिंदू बने साधु की हत्या, चार टुकड़ों में मिली बॉडी

Saint Murder In Dholpur: 10 साल पहले हिंदू बने महामुद्दीन खान टोंटरी गांव के मंदिर में पुजारी का काम कर रहे थे. पढ़िए भानु शर्मा की रिपोर्ट.

article-main
FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी: Murder Crime in Rajasthan: करीब 10 साल पहले मुस्लिम धर्म छोड़कर हिंदू धर्म में शामिल हो जाने वाले एक साधु की निर्दयतापूर्वक हत्या कर दी गई है. राजस्थान के धौलपुर जिले में साधु महामुद्दीन खान की लाश उसी मंदिर के करीब चार टुकड़ों में अलग-अलग जगह प्लास्टिक के बोरों में बंद मिली है, जिसमें वह पुजारी के तौर पर रह रहे थे. कंचनपुरी थाना एरिया के टोंटरी गांव की इस घटना में महाबुद्दीन की डेडबॉडी का सिर अब तक बरामद नहीं हुआ. पुलिस ने डेडबॉडी को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है और पार्वती नदी के किनारे खड़ी झाड़ियों में शव के सिर की तलाश कराई जा रही है. 

पढ़ें- Coronavirus: सरकार ने जारी की कोरोना एडवाइजरी, घर से बाहर निकलने पर करना होगा ये सब

ग्रामीणों ने खून से सने बोरे देखकर दी पुलिस को जानकारी

पार्वती नदी के किनारे बुधवार सुबह पहुंचे ग्रामीणों ने अलग-अलग जगह खून से लथपथ चार बोरे देखे. इसके तत्काल बाद उन्होंने कंचनपुर थाना पुलिस को जानकारी दी. पुलिस ने बोरों को खोलकर देखा तो एक ही डेडबॉडी के चार टुकड़े बरामद हुए, लेकिन इसमे सिर नहीं था. ग्रामीणों ने कपड़ों व अन्य चिह्नों से डेडबॉडी की पहचान 60 वर्षीय महामुद्दीन खान पुत्र शेर खान के तौर पर की, जो टोंटरी गांव में ही पार्वती नदी के करीब बने चामड़ माता के मंदिर में 10 साल से बतौर पुजारी रह रहा था. ग्रामीणों के मुताबिक, महाबुद्दीन खान मूल रूप से भीमगढ़ का रहने वाला था, लेकिन 10 साल पहले उसने इस्लाम छोड़कर हिंदू धर्म ग्रहण कर लिया था. इसके बाद से ही वह साधु की तरह मंदिर में रहकर पूजापाठ कर रहा था. पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया है.

पढ़ें- Amit Shah भाषण के बीच में टोकने पर लोक सभा में भड़के, नशे पर कह दी ऐसी बात

तीन दिन से गायब था महामुद्दीन

कंचनपुर थाना प्रभारी हेमराज शर्मा के मुताबिक, महामुद्दीन 3 दिन से लापता था. आखिरी बार वह 17 दिसंबर को बाड़ी कस्बे से सामान खरीदकर लाने के दौरान देखा गया था. उसका भतीजा जाकिर 18 दिसंबर की सुबह चाय लेकर मंदिर पहुंचा था, लेकिन वह गायब मिला था. इसके बाद मंगलवार को भी महाबुद्दीन मंदिर में नहीं मिला था. कुछ ग्रामीणों में महामुद्दीन और मंदिर में रहने वाले अन्य साधुओं के बीच चढ़ावे को लेकर विवाद की बात कही है, लेकिन कोई अन्य रंजिश सामने नहीं आई है. पुलिस जांच कर रही है.

पढ़ें- भारत में भी आ गया चीन वाला कोरोना, वडोदरा की एनआरआई महिला में मिला BF.7 वैरिएंट

पहाड़ी पर मिला एक कटर और खून

घटना की सूचना मिलने पर धौलपुर के पुलिस अधीक्षक धर्मेंद्र सिंह भी मौके पर पहुंचे. आसपास के इलाके की छानबीन के दौरान पुलिस को पहाड़ी पर एक कटर और खून मिला है. माना जा रहा है कि इसी कटर से डेडबॉडी के यहां चार टुकड़े करने के बाद बोरों में बंद करके नदी की तरफ फेंका गया होगा. एसपी धर्मेंद्र सिंह ने हत्या का खुलासा जल्द से जल्द करने के आदेश थाना प्रभारी को दिए हैं. 

पढ़ें- Viral Video: 'रोज पीयें गांजा' क्या है मुंबई में सड़क के LED बोर्ड पर फ्लैश मैसेज के वायरल होने का सच

फोरेंसिक टीम को बुलाया गया मौके पर

हत्या का सुराग जुटाने के लिए कंचनपुर थाना पुलिस ने फोरेंसिक टीम को भी मौके पर बुलाया. FSL की टीम ने बोरों के मिलने की जगह, कटर मिलने की जगह और मंदिर के आसपास कुछ सबूत इकट्ठे किए हैं. हालांकि फिलहाल कोई जानकारी इस बारे में नहीं दी गई है. 

महामुद्दीन ने ही बनाया था माता का मंदिर

ग्रामीणों के मुताबिक, महामुद्दीन की 10 साल पहले अचानक चामड़ माता में बेहद आस्था हो गई थी. इसी कारण उसने हिंदू धर्म ग्रहण कर लिया था और खुद ही चामड़ माता का मंदिर बनाकर बीहड़ में रहने लगा था. इस मंदिर में वह खुद ही रोजाना पूजापाठ करता था और यहां शुक्ल पक्ष की सप्तमी को जात भी लगती है, जिसमें भारी भीड़ जुटती है.

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv

पसंदीदा वीडियो