Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Winter Session: आज शुरू होगा संसद का शीतकालीन सत्र, आरक्षण, महंगाई और चीन पर हंगामे के आसार

Winter Session Parliament 2022: संसद का नया सत्र बुधवार को शुरू हो रहा है. इस सत्र में कुल 17 बैठकें होनी हैं और सदन 29 दिसंबर तक चल सकता है.

article-main

डीएनए हिंदी वेब डेस्क

Updated: Dec 06, 2022, 11:42 PM IST

Edited by

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी: भारतीय संसद का शीतकालीन सत्र (Winter Session 2022) बुधवार से शुरू हो रहा है. सत्र शुरू होने से पहले सर्वदलीय बैठक में 47 पार्टियों में से 31 के नेता शामिल हुए. विपक्षी पार्टियों ने भारत-चीन सीमा विवाद (India-China Border Dispute), महंगाई, आरक्षण, कश्मीरी पंडितों पर हमले और संवैधानिक संस्थानों के दुरुपयोग सहित कई अन्य मुद्दों पर संसद में बहस (Parliament Debate) कराए जाने की मांग की है. इस सत्र में कुल 17 बैठकें होनी हैं और सदन 29 दिसंबर तक चल सकता है. विपक्षी पार्टियों की तैयारियों को देखकर अंदाजा लगाया जा रहा है कि सदन में जोरदार हंगामा होने वाला है. कांग्रेस पार्टी के नेता राहुल गांधी इन दिनों भारत जोड़ो यात्रा पर हैं और उनके बारे में कहा जा रहा है कि वह शीतकालीन सत्र में संसद नहीं जाएंगे.

मंगलवार को केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में सर्वदलीय बैठक बुलाई गई थी. इस बैठक में अरविंद केजरीवाल, ए राजा, सीताराम येचुरी और ममता बनर्जी सरीखे विपक्षी नेता शामिल हुए. सर्वदलीय बैठक के बाद लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि सरकार को बताना चाहिए कि भारत-चीन सीमा के वास्तविक हालात क्या हैं. उन्होंने बेरोजगारी और महंगाई को देश के लिए सबसे बड़ा मुद्दा बताते हुए कहा कि देश के माहौल, सरकार और न्यायपालिका के बीच टकराव, सरकारी एवं संवैधानिक प्रतिष्ठान का बेजा इस्तेमाल, कश्मीर में हिंदू पंडितों के ऊपर लगातार बढ़ रहे हमले, किसानों के साथ एमएसपी को लेकर किए गए वादे को पूरा करने, देश के संघीय ढांचे पर हो रहे प्रहार जैसे मुद्दों पर सदन में चर्चा होनी चाहिए.

यह भी पढ़ें- MCD Election Result Live: केजरीवाल की चलेगी आंधी या बीजेपी फिर मारेगी बाजी? 

कांग्रेस ने कहा- क्रिसमस का रखें ध्यान
अधीर रंजन चौधरी ने सदन के सत्र की तारीख को लेकर सरकार से कहा कि ईसाई समुदाय के त्योहार (क्रिसमस) का ध्यान रखना चाहिए. उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस सदन के सत्र को छोटा करने की मांग नहीं कर रही है बल्कि सरकार को 7 दिसंबर की बजाय इस सत्र को पहले ही शुरू कर देना चाहिए था क्योंकि चुनावों के लिए संसद सत्र को टालने की कोई जरूरत नहीं थी. उन्होंने यह भी कहा कि 17 दिनों के छोटे से सत्र में 24-25 मुद्दों पर चर्चा कैसे हो सकती है.

सर्वदलीय बैठक में अकाली दल ने पंजाब में बढ़ रहे नशे और किसानों का मुद्दा उठाया. बीजू जनता दल ने महिला आरक्षण और कोलेजियम का मुद्दा उठाया. तृणमूल कांग्रेस ने जांच एजेंसियों के दुरुपयोग और राज्यों की आर्थिक समस्याओं का मुद्दा उठाते हुए विपक्ष को अहम मुद्दे उठाने देने की अनुमति देने की मांग की. सरकार की तरफ से बोलते हुए केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी ने कहा कि सरकार हर मुद्दे पर चर्चा के लिए तैयार है. क्रिसमस को लेकर कांग्रेस के आरोप का जवाब देते हुए केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी ने कहा कि कांग्रेस का आरोप दुर्भाग्यपूर्ण है. उन्होंने कहा कि संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान क्रिसमस के त्योहार के दिन 25 दिसंबर को रविवार है और उस दिन हम सब लोग क्रिसमस मनाएंगे.

यह भी पढ़ें- जानें, देश में कैसे धीरे-धीरे कांग्रेस को 'खा' रही है आम आदमी पार्टी!

सर्वदलीय मीटिंग में पहुंचे पार्टियों के नेता 
रक्षा मंत्री और लोकसभा में बीजेपी के उपनेता राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में संसद भवन परिसर में हुई सर्वदलीय बैठक में सरकार की तरफ से संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी, केंद्रीय मंत्री और राज्य सभा में सदन के नेता पीयूष गोयल, अर्जुन राम मेघवाल, वी. मुरलीधरन भी बैठक में शामिल हुए. अन्य राजनीतिक दलों में कांग्रेस से अधीर रंजन चौधरी, तृणमूल कांग्रेस से सुदीप बंदोपाध्याय और डेरेक ओ ब्रायन, आम आदमी पार्टी से संजय सिंह,जनता दल यूनाइटेड से रामनाथ ठाकुर, बीजू जनता दल से पिनाकी मिश्रा, अकाली दल से हरसिमरत कौर बादल और नेशनल कांफ्रेंस से फारूक अब्दुल्ला के अलावा कई अन्य राजनीतिक दलों के भी फ्लोर लीडर्स बैठक में मौजूद रहे.

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv