Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Bihar: Nitish Kumar का बड़ा आरोप, बोले- JDU को खत्म करना चाहते थे प्रशांत किशोर 

प्रशांत किशोर के नीतीश के साथ चल रहे टकराव के बीच अब नीतीश ने आरोप लगाया है कि पीके उनकी पार्टी जेडीयू को ही खत्म करना चाहते थे.

article-main
FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी: बिहार में सियासी पारा बढ़ा हुआ है क्योंकि यहां अब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) और पूर्व राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) आमने-सामने आ गए हैं. नीतीश ने कहा है कि जब पीके (PK) उनके साथ जेडीयू में थे तो वे जेडीयू का विलय कांग्रेस (JDU-Congress Merger) में विलय कराकर जेडीयू को ही खत्म करना चाहते थे. 

दरअसल, पटना में नीतीश कुमार ने प्रशांत किशोर पर बड़ा हमला बोला है. उन्होंने पत्रकारों से बात करते हुए यह तक खुलासा कर दिया है कि प्रशांत किशोर कांग्रेस में उनकी पार्टी का विलय करना चाहते थे. उन्होंने कहा, "प्रशांत किशोर बीजेपी के लिए काम कर रहे हैं. मुझे भी जदयू को कांग्रेस में मिलाने की सलाह दी थी. वे जदयू को कांग्रेस में मर्ज करवाना चाहते थे.” 

हिंदी बनेगी भारत की राष्ट्रभाषा? राहुल गांधी ने भारत जोड़ो यात्रा में कही अहम बात

मैने नहीं दिया कोई ऑफर

इसके अलावा प्रशांत किशोर ने दावा किया था कि नीतीश उन्हें अपना उत्तराधिकारी बनाना चाहते हैं. सीएम नीतीश ने कहा, "प्रशांत किशोर कुछ भी बोलते रहते हैं, बीजेपी की मदद कर रहे हैं. प्रशांत किशोर को मैंने नहीं बुलाया था बल्कि वह खुद ही आए थे. मैंने कोई भी ऑफर उन्हें नहीं दिया है." 

पीके ने किया था मदद मांगने का दावा

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले ही नीतीश कुमार की प्रशांत किशोर से मुलाकात हुई थी. इस मीटिंग को लेकर पीके ने कहा था कि नीतीश उनसे मदद मांग रहे थे और पार्टी में बड़ा ऑफर दे रहे थे. पीके ने दावा किया कि उन्होंने  पीके का ऑफर ठुकरा दिया था. पीके के इन्हीं दावों को लेकर अब नीतीश ने हमला बोला है.

महिला अग्निवीर, नई यूनिफॉर्म और हथियारों का नया सिस्टम, जानिए IAF चीफ के बड़े ऐलान

आपको बता दें कि इससे पहले जेडीयू के पूर्व नेता पवन वर्मा भी यह आरोप लगा चुके थे कि जेडीयू के शीर्ष स्तर के नेता कांग्रेस में विलय करना चाहते थे और इसके चलते ही उन्होंने पार्टी भी छोड़ दी थी. अब नीतीश एक बार फिर पीके पर विलय का आरोप मढ़ रहे हैं. 

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv