Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Yuvraj Singh अपने गोवा वाले घर को लेकर मुश्किल में, सरकार ने इस कारण दिया लीगल नोटिस

युवराज सिंह ने गोवा में अपने घर को होम स्टे में बदल दिया है, लेकिन इसके लिए उन्होंने टूरिस्ट ट्रेड एक्ट के तहत परमिशन नहीं ली है.

article-main

डीएनए हिंदी वेब डेस्क

Updated: Nov 22, 2022, 10:48 PM IST

Edited by

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी: इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले चुके धुरंधर बल्लेबाज युवराज सिंह (Yuvraj Singh) कानूनी मुश्किल में फंस गए हैं. गोवा सरकार (Goa Government) ने उन्हें मोरजिम (Morjim) स्थित अपने विला को बिना इजाजत लिए होम स्टे में बदलने के लिए लीगल नोटिस दिया है. गोवा टूरिज्म डिपार्टमेंट (Goa tourism department) ने उन्हें नोटिस भेजकर पूछा है कि उनके खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई क्यों नहीं होनी चाहिए? इस मामले में 8 दिसंबर को सुनवाई होगी. दरअसल गोवा रजिस्ट्रेशन ऑफ टूरिस्ट ट्रेड एक्ट, 1982 (Goa Registration of Tourist Trade Act, 1982) के तहत किसी भी होम स्टे को संचालित करने से पहले उसका रजिस्ट्रेशन टूरिज्म डिपार्टमेंट के पास कराना अनिवार्य है, लेकिन युवराज ने अनुमति लिए बिना ही अपने होम स्टे की  ऑनलाइन बुकिंग शुरू कर दी हैं.

पढ़ें- फिर हुई संजू सैमसन की अनदेखी, फैंस का फूटा गुस्सा- 'आसान नहीं है संजू होना...'

18 नवंबर को भेजा गया नोटिस

PTI के मुताबिक, युवराज सिंह को नोटिस 18 नवंबर को जारी किया गया था. टूरिज्म डिपार्टमेंट के डिप्टी डायरेक्टर राजेश काले (Deputy Director of Goa Tourism Rajesh Kale) की तरफ से जारी युवराज सिंह के मालिकाना हक वाले विला 'कासा सिंह (Casa Singh)' पर भेजा गया है, जो उत्तरी गोवा के मोरजिम में स्थित है. नोटिस में टीम इंडिया (Team India) के पूर्व ऑलराउंडर को 8 दिसंबर की सुबह 11 बजे मामले की निजी सुनवाई के लिए उपस्थित होने का आदेश दिया गया है.

पढ़ें- डेविड वॉर्नर ने सेंचुरी जड़कर किया दिल जीतने वाला काम, वीडियो देख आप भी हो जाएंगे फैन

लग सकता है 1 लाख रुपये का जुर्माना

नोटिस में पूछा गया है कि 40 वर्षीय क्रिकेटर पर अपनी प्रॉपर्टी को टूरिस्ट ट्रेड एक्ट के तहत रजिस्टर्ड नहीं कराने के लिए दंडात्मक कार्रवाई क्यों नहीं होनी चाहिए? नोटिस में युवराज को पेश होने के लिए कहने के साथ ही ताकीद की गई है कि यदि तय तारीख यानी 8 दिसंबर तक कोई जवाब नहीं मिलता है तो नोटिस में दिए तथ्य सही मानते हुए टूरिस्ट ट्रेड एक्ट की धारा 22 या अन्य प्रावधानों के उल्लंघन के लिए उन पर एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा.

पढ़ें- बिस्तर पर पड़े मैक्सवेल का छलका दर्द, बोले- 'लगता नहीं है भारत दौरे पर जा पाऊंगा'

युवराज के ही ट्वीट के आधार पर जारी हुआ है नोटिस

नोटिस में युवराज सिंह के ही एक ट्वीट को कार्रवाई का आधार बनाया गया है, जिसमें युवराज ने कहा है कि वे अपने गोवा वाले घर में केवल Airbnb के जरिये आने वाले छह लोगों के ग्रुप के एक्सक्लूसिव स्टे की मेजबानी करेंगे. यह वो जगह है, जहां मैंने अपने करीबी लोगों के साथ समय बिताया है और यह घर क्रिकेट पिच से जुड़ी मेरी सालों की यादों से भरा हुआ है.

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv