Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

JDU अध्यक्ष ललन सिंह ने PM Modi को बताया 'डुप्लीकेट OBC', बोले-ढोंग करते हैं पीएम

PM Narendra Modi पर ललन सिंह ने आरोप लगाया है कि वे साल 2014 से अतिपिछड़ा होने का ढोंग करते रहे हैं.

article-main
FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी: बिहार की सत्ताधारी पार्टी जेडीयू (JDU) के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह (Lalan Singh) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) पर बड़ा हमला बोला है. उन्होंने आरोप लगाया है कि पीएम मोदी (PM Modi) स्वयं को अतिपिछड़ा साबित करते रहते हैं जबकि गुजरात में अतिपिछड़ा वर्ग ही नहीं हैं. ललन सिंह ने पीएम मोदी को ढोंगी तक बताया है जो कि देश में घूम-घूम कर साल 2014 के बाद से अतिपिछड़ा होने का प्रचार कर रहे हैं  जबकि वे 'डुप्लीकेट OBC' हैं.

दरअसल, पार्टी के एक कार्यक्रम में जेडीयू अध्यक्ष  ललन सिंह ने नरेंद्र मोदी को बहरूपिया  बताया है. उन्होंने मोदी को लेकर कहा, "वे घूम-घूमकर खुद को पिछड़ा वर्ग का बताते हैं, जबकि वे असल में ओबीसी नहीं बल्कि डुप्लीकेट हैं. पीएम मोदी ने कहीं पर भी चाय नहीं बेची, बल्कि ढोंग कर रहे हैं." उन्होंने यह तक कह दिया है कि गुजरात में किसी प्रकार की कोई अतिपिछड़ा वर्ग ही नहीं है. 

यूपी पुलिस का उत्तराखंड में 'अवैध' एनकाउंटर, खनन माफिया के साथ फायरिंग में भाजपा नेता की पत्नी मरी

गुजरात में नहीं है अतिपिछड़ा वर्ग

ललन सिंह ने पीएम मोदी के लिए कहा, "प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बहरूपिया हैं. बहरूपिया जैसे 12 दिन में 12 रूप दिखाता है, मोदी भी ठीक वैसे ही हैं. मगर पिछड़े समाज के लोगों के बीच आकर इनका चेहरा बेनकाब हो गया है." ललन सिंह ने कहा,"गुजरात में कोई पिछड़ा वर्ग नहीं है और नरेंद्र मोदी  कभी अतिपिछड़ा वर्ग के रहे ही नहीं है." इसके साथ ही उन्होंने आरोप लगाया है कि नरेंद्र मोदी ने खुद गुजरात सरकार में मंत्री रहते हुए अपने समाज के लोगों को अतिपिछड़ घोषित किया था. 

मुख्यमंत्री बनने पर लिया था फैसला 

ललन सिंह ने आरोप लगाया है कि मोदी ने गुजरात में सत्ता का दुरुपयोग किया था. उन्होंने कहा, "नरेंद्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री बने थे, तब उन्होंने अपनी जाति को पिछड़ा वर्ग में शामिल कर दिया था. इसलिए वे डुप्लीकेट ओबीसी हैं, असली नहीं हैं."  इतना ही नहीं उन्होंने बीजेपी को आरक्षण के मुद्दे पर एक बार फिर घेर लिया है. ललन सिंह ने कहा, "बीजेपी हमेशा से आरक्षण विरोधी रही है. जननायक कर्पूरी ठाकुर ने बिहार में अति पिछड़ा वर्ग के लोगों को आरक्षण दिया था. इसके एक साल बाद बीजेपी ने उनसे समर्थन खींच लिया और कर्पूरी ठाकुर को कुर्सी गंवानी पड़ी थी."

'गांधी अव्यवहारिक नहीं, मौजूदा वक़्त की ज़रूरत हैं'

इसके साथ ही उन्होंने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा है कि पार्टी के दांत दिखाने के और हैं और खाने के और हैं. आपको बता दें कि ललन सिंह को बिहार की राजनीति का पॉलिटिकल डेंटिस्ट भी कहा जाता है. ऐसे में अब वे खुलकर पीएम मोदी के खिलाफ हमलावर हो रहे हैं. बीजेपी से गठबंधन टूटने के बाद से जेडीयू का प्रत्येक नेता बीजेपी की आलोचना कर रहा है. वहीं हाल ही में एक बार फिर नीतीश कुमार ने कहा था वे अब किसी भी कीमत पर बीजेपी से गठबंधन नहीं होगी.

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर. 

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv