Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Jammu Kashmir: फारूख अब्दुल्ला बोले- कोई धर्म खराब नहीं, लोग फैला रहे हिंदूओं के खतरे में होने का एजेंडा

फारुख अब्दुल्ला ने कहा है कि उन्होंने कभी भी पाकिस्तान से हाथ नहीं मिलाया, पाकिस्तान उनसे हाथ मिलाने के लिए बेताब था.

article-main
FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी: जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के पूर्व सीएम और नेशनल कॉन्फ्रेंस के पूर्व अध्यक्ष फारूख अब्दुल्ला ने कश्मीर के अखनूर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए धर्म को लेकर हो रही टिप्पणियों पर नाराजगी जाहिर की है. उन्होंने कहा कि कोई भी धर्म खराब नहीं होता है बल्कि खराब लोग होते हैं जो कि धर्म को बदनाम करते हैं. इसके अलावा अब्दुल्ला ने पाकिस्तान के लेकर बड़ा बयान दे दिया है. उन्होंने कहा है कि पाकिस्तान उनसे रिश्ते के लिए बेताब रहा है लेकिन हमने कभी ऐसा किया ही नहीं.

फारूख अब्दुल्ला अखनूर में एक फैक्ट्री का उद्घाटन करने पहुंचे थे. इस दौरान एक जनसभा में उन्होंने कहा है कि हम इसके लिए खुश हैं कि पाकिस्तान का हमारे पिता ने सहयोग नहीं दिया था, क्योंकि पाकिस्तान में लोग आज सशक्त नहीं हैं. फारूख अब्दुल्ला ने कहा कि हमने कभी पाकिस्तान से हाथ नहीं मिलाया. जिन्ना मेरे पिता से मिलने आए थे लेकिन हमने उनसे हाथ मिलाने से इन्कार कर दिया.

Punjab में बीजेपी में शामिल हुए चार नेताओं को मिली X कैटगरी की सुरक्षा, IB की रिपोर्ट पर गृहमंत्रालय ने लगाई मुहर

डा. फारूख अब्दुल्ला ने यह उम्मीद जताई है कि जम्मू कश्मीर व लद्दाख फिर से एक होंगे. उन्होंने कहा है कि जम्मू कश्मीर फिर से संपूर्ण राज्य बनेगा. जम्मू कश्मीर से राज्य का दर्जा छीन कर उसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने पर मोदी सरकार को एक बार फिर आड़े हाथों लिया है. उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर में लोग जल्द चुनाव चाहते हैं ताकि उनकी चुनी हुई सरकार हो.

देश में आर्थिक स्थिति को लेकर फारूख अब्दुल्ला ने कहा, "इस समय महंगाई चरस सीमा पर है. महंगाई पर किसी का नियंत्रण नहीं है. फल, सब्जियों, गैस सिलेंडर के दाम लगातार बढ़ रहे है. महंगाई से भी लोग परेशान हैं. हम भी चाहते हैं कि जम्मू कश्मीर में जल्द चुनाव हों. लोगों का अपना विधायक हो जो उनकी सुने." फारूक ने कहा कि विधायक भी लोगों के संपर्क में रहते है. उन्हें अगली बार भी चुनाव जीतना होता है. उन्होंने कहा कि इस समय जम्मू कश्मीर में नौकरशाही हावी है. बाबू लोग लोगों की सुनते नहीं हैं और लोगों के काम नहीं हो रहे हैं.

5 राज्यों से है आफताब की लव स्टोरी का कनेक्शन, जांच में उलझी दिल्ली पुलिस

उन्होंने कहा, "जब वर्ष 1996 में नेशनल कॉन्फ्रेंस दोबारा सत्ता में आई तो कौन था यहां। यहां हर समय बंदूकें चलती थीं. हमने इस जमायत को संभाला. स्कूल बंद थे, पुल नहीं थे. हर चीज खत्म हो चुकी थी.  हमने दोबारा इस रियासत को वापस ट्रैक पर लगाया. गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में परिसीमन का काम पूरा हो चुका है औ चुनाव आयोग चुनाव की तैयारियों में जुटा हुआ है. यह माना जा रहा है कि राज्य में जल्द ही चुनावों की दस्तक होगी. यही कारण है कि नेशनल कॉफ्रेंस लेकर बीजेपी और पीडीपी सभी चुनाव की तैयार कर रही है. 

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर. 

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv