Twitter
Advertisement
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

ISRO चीफ S Somnath को कैंसर, Aditya L-1 लॉन्च के दिन हुआ था खुलासा

ISRO Chief S Somnath: एस. सोमनाथ ने हाल में ही दिए गए एक इंटरव्यू में इसका खुलासा किया है. आइए जानते हैं कि उन्होंने क्या कुछ कहा है.

Latest News
article-main
ISRO Chief S Somnath

 
FacebookTwitterWhatsappLinkedin

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के चीफ एस सोमनाथ कैंसर  को लेकर एक हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है. उन्होंने एक इंटरव्यू के दौरान बताया कि वह कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से लड़ रहे हैं. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक आदित्य-एल1 लॉन्च के दिन इसरो प्रमुख एस सोमनाथ को कैंसर का पता चला था. इसके साथ उन्होंने खुलासा किया कि चंद्रयान-3 मिशन के दौरान ही उन्हें स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याएं होने लगी थीं. 

ISRO चीफ एस सोमनाथ ने एक इंटरव्यू जब दौरान बताया कि चंद्रयान-2 मिशन लॉन्च के दौरान भी उन्हें स्वास्थ्य संबंधी कुछ दिक्कत हुई. हालांकि, उस वक्त ये साफ पता नहीं चल पाया था. आदित्य-एल1 लॉन्च के दिन इस बात की जानकारी हुई. उन्होंने कहा कि ये बीमारी न केवल मेरे लिए बल्कि मेरे परिवार और सहयोगियों के लिए भी किसी सदमे से कम नहीं था. ये सभी मेरे चुनौती भरे दिनों में मेरे साथ रहे थे. सोमनाथ ने बताया कि लॉन्चिंग के बाद उन्होंने पेट का स्कैन कराया.


यह भी पढ़ें: वोट फॉर नोट केस में SC का अहम फैसला, 'घूसखोरी में नहीं मिल सकती छूट'


एस सोमनाथ ने कराया इलाज 

उन्होंने बताया कि जांच और इलाज के लिए वो चेन्नई गए. उन्हें पता चला कि यह बीमारी उन्हें जेनेटिकली मिली है. उन्हें पेट का कैंसर हुआ था. इसके बाद सोमनाथ ने सर्जरी कराई और उनकी कीमोथैरेपी चलती रही. उन्होंने कहा कि  ट्रीटमेंट हुआ और वो ठीक हो गए. दवाइयां फिलहाल चल रही हैं. सोमनाथ ने बताया कि उन्हें पता है कि इसके इलाज में काफी समय लगेगा. यह एक लंबी प्रक्रिया है लेकिन यह जंग में लडूंगा. अपना काम और इसरो के मिशन और लॉन्च को पर पूरा ध्यान है. इसरो के आगे के सारे मिशन पूरा करके ही दम लूंगा.

 


यह भी पढ़ें: दिल्ली में हर महीने महिलाओं को मिलेंगे 1,000 रुपये, केजरीवाल का बड़ा तोहफा 


चार दिन अस्पताल में बिताने के बाद शुरु कर दिया काम 

एस सोमनाथ ने यह भी बताया कि उनकी रिकवरी किसी करिश्मे से कम नहीं है क्योकिं वह केवल चार दिन अस्पताल में भर्ती रहे. उन्होंने कहा कि पांचवें दिन से बिना किसी दर्द के काम करना शुरू कर दिया. उन्होंने बताया कि अब मैं लगातार चेकअप और स्कैन कराता रहता हूं. अब मैं पूरी तरह ठीक हो चुका हूं और अपना काम शुरू कर चुका हूं. मुझे उस वक्त अपने के पूरी तरह से ठीक होने का भरोसा नहीं था. 

देश-दुनिया की Latest News, ख़बरों के पीछे का सच, जानकारी और अलग नज़रिया. अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और वॉट्सऐप पर. 

Advertisement

Live tv

Advertisement
Advertisement