Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Independence Day 2022: लालकिले से पीएम मोदी ने दिया 83 मिनट का भाषण, जानें किसके नाम दर्ज है सबसे लंबा भाषण देने का रिकॉर्ड

Longest Speech of Indian Independence: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लालकिले से 83 मिनट का भाषण दिया है. यह लालकिले से उनका चौथा सबसे लंबा भाषण है. जवाहर लाल नेहरू के नाम लालकिले से 17 बार भाषण देने का रिकॉर्ड दर्ज है. 

article-main
FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदीः प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) ने आजादी के 75 साल पूरे होने पर लालकिले से 9वीं बार संबोधित (Independence Day Speech) किया. इस दौरान उन्होंने भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद पर जमकर प्रहार किया. लालकिले से अपने 83 मिनट के संबोधन में उन्होंने देश को अगले 25 सालों के ब्लू प्रिंट की जानकारी दी. पीएम मोदी ने भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में देशवासियों से सहयोग मांगा. बता दें कि 15 अगस्त के मौके पर पीएम मोदी का सबसे लंबा भाषण साल 2016 में लाल किले से दिया गया भाषण था. उस समय उन्होंने 94 मिनटों तक देशवासियों को संबोधित किया था. 

जवाहर लाल नेहरू के नाम सबसे ज्यादा भाषण देने का रिकॉर्ड
पीएम मोदी अब तब 9 बार लालकिले से देश को संबोधित कर चुके हैं लेकिन लालकिले से सबसे ज्यादा भाषण देने का रिकॉर्ड देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के नाम दर्ज है. नेहरू ने स्वतंत्रता दिवस पर कुल 17 बार देशवासियों को संबोधित किया. इसके बाद पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी का नाम आता है. उन्होंने 16 बार लालकिले से देश को संबोधित किया था. वहीं, साल 2004 से 2014 तक प्रधानमंत्री रहे मनमोहन सिंह ने कुल 10 बार लाल किले की प्राचीर से स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लोगों को संबोधित किया. पीएम मोदी लालकिले से सबसे ज्यादा बार भाषण देने की लिस्ट में तीसरे और गैर कांग्रेसी पीएम के तौर पर पहले प्रधानमंत्री है. पीएम मोदी से पहले पूर्व प्रधानमंत्री और बीजेपी के दिग्गज नेता अटल बिहारी वाजपेयी ने साल 1998 से 2003 के बीच सबसे लगातार छह बार तिरंगा लाल किले से फहराया था.   

ये भी पढ़ेंः PM मोदी ने भ्रष्टाचार और परिवारवाद को बताया देश के लिए बड़ी समस्या, जानिए भाषण की बड़ी बातें
 
पीएम मोदी ने नाम दर्ज है ये रिकॉर्ड 
पीएम मोदी के नाम लालकिले से सबसे लंबा भाषण देने का रिकॉर्ड दर्ज है. साल 2016 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुल 94 मिनट तक लाल किले की प्राचीर से भाषण दिया, जो किसी भी प्रधानमंत्री द्वारा स्वतंत्रता दिवस पर दिया जाने वाला सबसे लंबा भाषण रहा. साल 2015 में पीएम मोदी ने 86 मिनट तक देशवासियों को संबोधित किया था. वहीं, साल 2017 में पीएम मोदी ने सिर्फ 56 मिनट लंबा ही भाषण दिया. यह उनका सबसे छोटा भाषण रहा. बता दें कि 1947 में पंडित जवाहर लाल नेहरू ने 72 मिनट तक देशवासियों को संबोधित किया था.  

कब-कितना लंबा दिया भाषण
साल दर साल पीएम मोदी के भाषण को देखें तो साल 2014 में 65 मिनट, 2015 में 88 मिनट, 2016 में 94 मिनट, 2017 में 56 मिनट, साल 2018 में 83 मिनट, साल 2019 में 92 मिनट, साल 2020 में 90 मिनट और 2021 में 88 मिनट तक पीएम मोदी ने लाल किले से भाषण दिया.  

ये भी पढ़ेंः Independence Day 2022: लाल किले पर पहली बार हुआ यह काम, खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दी जानकारी

मनमोहन सिंह के नाम सबसे छोटे भाषण देने का रिकॉर्ड
लालकिले से पीएम मोदी अकेले ऐसे प्रधानमंत्री हैं जो लगातार एक घंटे से अधिक का भाषण देते रहे हैं, सिर्फ 2017 में उन्होंने 56 मिनट का भाषण दिया था. हालांकि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने 10 बार देश को लालकिले से संबोधित किया और उनके नाम सबसे छोटे भाषण देने के रिकॉर्ड दर्ज हैं. मनमोहन सिंह ने सिर्फ दो बार ही साल 2005 और 2006 में 50 मिनट से अधिक समय लिया. साल 2004 में मनमोहन सिंह का भाषण 45 मिनट,2005 में 50 मिनट, साल 2006 में 50 मिनट, 2007 में 40 मिनट, 2008 और 2009 में 45 मिनट, 2010 में 35 मिनट, 2011 में 40 मिनट, 2012 में 32 मिनट और साल 2013 में 35 मिनट का रहा. वहीं पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी ने 2002 में 25 मिनट और साल 2003 में 30 मिनट तक लाल किले से संबोधित किया था.

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर. 

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv