Twitter
Advertisement
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Delhi police ने नवजात बच्चों की तस्करी करने वाले गैंग का किया पर्दाफाश, 8 आरोपी गिरफ्तार

Delhi police: दिल्ली के रोहिणी में चाइल्ड ट्रैफिकिंग गैंग (Child Trafficking Gang) का पर्दाफाश हो चुका है. रोहिणी जिला पुलिस ने गैंग के आठ सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है, जिसमें पांच महिलाएं और तीन पुरुष शामिल हैं.

Latest News
article-main

Delhi police ने नवजात बच्चों की तस्करी करने वाले गैंग का किया पर्दाफाश, 8 आरोपी गिरफ्तार

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने चाइल्ड ट्रैफिकिंग रैकेट (Child Trafficking Racket) से जुड़े 8 लोगों को गिरफ्तार किया है. इस गैंग में 5 महिलाएं और तीन पुरुष भी शामिल हैं. आरोप है कि ये लोग अलग-अलग राज्यों में नवजात बच्चों की खरीद-बिक्री करते थे. ये लोग 10-15 दिन की एक बच्ची को बेचने जा रहे थे. पुलिस (Police) ने मौके पर पहुंचकर उस बच्ची को बचा लिया. 

रोहिणी के DCP गुर इकबाल सिंह सिद्धू  ने बताया कि बच्ची को पंजाब के मुक्तसर से 50 हजार रुपये में खरीदा गया था. वे लोग बच्ची के लिए किसी खरीदार का इंतजार कर रहे थे. गिरफ्तार लोगों में पीयूष अग्रवाल, राजिन्दर और रमन की पहचान हो सकी है जबकि 2 महिलाएं दिल्ली (Delhi) की और 3 पंजाब (Punjab) से हैं.


ये भी पढ़ें-Girlfriend ने लगाया था रेप का आरोप, पहले से हुए एग्रीमेंट ने बॉयफ्रेंड को बचा लिया  


 

छापेमारी कर रही है पुलिस
आपको बता दें कि पुलिस ने दोनों महिलाओं के खिलाफ IPC और जुविनाइल जस्टिस एक्ट (JJA) के तहत मामला दर्ज करके उन्हें गिरफ्तार कर लिया है. DCP ने बताया कि जब महिलाओं से सख्ती से पूछताछ की गई तब उन्होंने गिरोह के बारे पूरी जानकारी दी. गिरोह के दूसरे सदस्यों को पकड़ने के लिए एक टीम का गठन किया गया है. टीम ने जांच के दौरान पंजाब में कई जगहों पर छापे मारे. मामले में 6 और लोगों को गिरफ्तार किया है, जिनमें 3 महिलाएं भी शामिल हैं. 

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि महिलाएं बच्ची को 10 से 15 लाख रुपये में बेचने वाली थीं. महिलाओं ने इसी महीने एक और बच्चा बेचा था, जो लगभग इसी उम्र का था. बच्चों को खरीदने और बेचने वालों के बारे में पता लगाया जा रहा है. उन्होंने बताया कि गिरफ्तार हुए आरोपियों में ज्यादातर लोग दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में ही रहते हैं.

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

Advertisement

Live tv

Advertisement
Advertisement