Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Loksabha Attendance: लोकसभा की किसी भी चर्चा में नहीं शामिल हुए सनी देओल, इन दो सांसदों की अटेंडेंस 100 प्रतिशत

17th Loksabha: लोकसभा के इस कार्यकाल में कुल 9 सांसद ऐसे रहे जिन्होंने एक भी चर्चा में हिस्सा नहीं लिया जबकि कुल 274 बैठकें आयोजित हुईं.

Latest News
article-main

Loksabha

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

17वीं लोकसभा का अंतिम सत्र पूरा हो चुका है. इन पांच सालों में लोकसभा की कुल 274 बैठकें आयोजित हुईं. 17वीं लोकसभा के दौरान सिर्फ दो सांसद ऐसे रहे जो सभी 274 बैठकों में शामिल रहे. दोनों ही सांसद सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के हैं. इसमें मोहन मंडावी और भागीरथ चौधरी का नाम है. कुल 9 सांसद ऐसे थे जिन्होंने एक भी चर्चा में हिस्सा नहीं लिया. इनमें बीजेपी के सांसद सनी देओल और टीएमसी के शत्रुघ्न सिन्हा के नाम शामिल हैं.

यह संयोग ही है कि मोहन मंडावी और भागीरथ चौधरी दोनों ही पहली बार बार लोकसभा पहुंचे थे. इन दोनों सदस्यों को सदन में एक-दूसरे के बगल वाली सीटें आवंटित की गई थीं. इस बारे में मंडावी ने कहा, "मुझे जो काम सौंपा गया है, मैं उसे पूरी जिम्मेदारी के साथ करता हूं. मैं छत्तीसगढ़ के आदिवासी क्षेत्र कांकेर का प्रतिनिधित्व करता हूं और मैंने कोविड-19 महामारी के दौरान भी सदन में भाग लिया था."

यह भी पढ़ें- दिल्ली में 'एकला चलो' की राह पर AAP, कांग्रेस को दिया एक सीट का ऑफर 

अगल-बगल बैठते थे दोनों सांसद
'पीआरएस लेजिस्लेटिव' नामक संस्था द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के अनुसार, राजस्थान के अजमेर लोकसभा क्षेत्र से सांसद भागीरथ चौधरी और मोहन मंडावी की उपस्थिति 17वीं लोकसभा के दौरान 100 प्रतिशत रही. इन पांच वर्षों के कार्यकाल के दौरान औसतन 79 प्रतिशत की उपस्थिति देखी गई. मंडावी ने कहा कि लोकसभा में उनकी और चौधरी की अगल-बगल सीटें थीं.

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर से बीजेपी सांसद पुष्पेंद्र सिंह चंदेल संसद में सबसे सक्रिय सदस्य थे, जिन्होंने 17वीं लोकसभा में 1,194 चर्चाओं में भाग लिया था, उनके बाद अंडमान और निकोबार द्वीप समूह से कुलदीप राय शर्मा (833 चर्चाएं) थे. यह संस्था किसी सदस्य द्वारा विधेयकों पर चर्चा में भाग लेने, शून्यकाल के दौरान मुद्दे उठाने, विशेष उल्लेख और अन्य सदस्यों द्वारा उठाए गए मुद्दों से खुद को जोड़ने को 'चर्चा में भागीदारी' की श्रेणी में मानती है.

यह भी पढ़ें- Farmers Protest 2.0: आखिर क्यों बार-बार आंदोलन कर रहे हैं किसान, क्या हैं मांगें? जानें सबकुछ 

लोकसभा की किसी भी चर्चा में नहीं आए 9 सांसद
बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) के सांसद मलूक नागर (बिजनौर) ने 582 चर्चाओं में भाग लिया, इसके बाद धर्मपुरी से डीएमके सदस्य डीएनवी सेंथिलकुमार (307 चर्चाओं), कोल्लम से आरएसपी सदस्य एनके प्रेमचंद्रन (265), बारामती से राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) की सदस्य सुप्रिया सुले (248) ने भाग लिया. अभिनेता-सांसद सनी देओल (बीजेपी) और शत्रुघ्न सिन्हा (टीएमसी) उन नौ लोकसभा सदस्यों में से थे, जिन्होंने किसी भी चर्चा में भाग नहीं लिया. 

बीजेपी सांसद रमेश जिगाजिनागी, बी एन बचेगौड़ा, प्रधान बरुआ, अनंत कुमार हेगड़े और वी श्रीनिवास प्रसाद, टीएमसी सदस्य दिब्येंदु अधिकारी और बीएसपी सदस्य अतुल कुमार राय अन्य वे सदस्य थे जिन्होंने 17वीं लोकसभा में किसी चर्चा में भाग नहीं लिया.

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv

पसंदीदा वीडियो