Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Water Deficiency in Body: शरीर में पानी की कमी से होती हैं ये कई बीमारियां, आज से ही पीएं इतना पानी 

Less Water Side Effects: से तो हर किसी को पता है कि शरीर में कितनी पानी की जरूरत है फिर भी हम कम पानी पीते हैं और फिर हमें कई बीमारियां घेर लेती हैं, किडनी समस्या,(Kidney) मोटापा, (Obesity) बीपी (BP) और कब्ज जैसी बीमारियों से दूर हहने के लिए पयार्प्त मात्रा में पीएं पानी 

Latest News
article-main
FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी: Less Water Side Effects in Body हमारे शरीर में 60 फीसदी पानी है और पानी हमारे जीवन के लिए कितना जरूरी है यह सब जानते हैं. शरीर में पानी की एक पर्याप्त मात्रा है, अगर आप उस मात्रा से कम पानी पीते (Water in body) हैं या फिर शरीर में किसी भी रूप से पानी की कमी होती है तो कई बीमारियां घर कर जाती हैं. आजकल पानी की कमी से ही ज्यादातर बीमारियां पनपती हैं. चलिए हम जानते हैं कि पानी की कमी से शरीर में क्या परेशानी होती (Less Water Side Effects) है और हमें कितनी मात्रा में पानी पीना चाहिए. 

शरीर में जैसे ही पानी की कमी होती है हमें, थकान, कमजोरी, सिरदर्द (Headache, Weakness) जैसी समस्याएं होनी लगती हैं. यह किसी भी उम्र में हो सकती हैं, इसके अलावा पानी कम पीने से हमारे पेशाब का रंग भी पीला हो जाता है. अधिक पसीना निकलने या एक्सरसाइज करने के कारण भी आपके शरीर में पानी की कमी हो सकती है, पानी की कमी कई कारणों से हो सकती है, कई बार आप खुद पानी कम पीते हैं,

आपको लगता है कि लिक्विड चीजें लेने से ही पानी की कमी पूरी हो जाती है लेकिन ऐसा नहीं है. कई बार मौसम की वजह से भी शरीर में डीहाईड्रेशन (Dehydration) होने लगता है. डिहाईड्रेशन के कारण आपको मोटापा (Obesity) ,डायबिटीज,(Diabetes) कैंसर (Cancer) और हृदय रोग जैसी बीमारियां भी हो सकती हैं हालांकि इसके लिए जरूरी नहीं है कि आप दिनभर केवल सादा पानी पीएं, आप पानी के कई लिक्विड फॉर्म (Liquid)ले सकते हैं, जैसे जूस,सूप या अन्य तरल पदार्थ. फिर भी पानी की मात्रा कम न हो इस बात का ध्यान रखना बहुत जरूरी है. 

यह भी पढ़ें- ये हैं पुरुषों के लिए सुपरफूड, जानिए कैसे बढ़ता है स्टेमिना

मोटापा (Obesity)

पानी पीने से शरीर से विषाक्त और अपशिष्ट उत्पादों को बाहर निकालने में मदद मिलती है. पेट भी भरा हुआ महसूस होता है. वहीं जब पानी की कमी होती है, तो मेटाबोलिज्म स्लो हो जाता है और फैट-टॉक्सिन्स (Fat and toxins) शरीर में जमा होने लगते हैं. इससे मोटापा (Obesity) बढ़ना तय है. इसके अलावा पानी की कमी क्रेविंग भी बढ़ाती है जिससे आपको बेमतलब की भूख लगती है और इससे मोटापा बढ़ता है

गैस और पेट में जलन (Acidity) 

शरीर में पानी की कमी होने से खाना ठीक से हजम नहीं होता है, शरीर में गैस बनती है, इससे हाथ और पैरों में जलन होती है. सीने और पेट में भी जलन का एहसास होता है. आपको एसिटिडी बहुत ज्यादा बनने लगती है. 

हाई ब्लड प्रेशर (High Bp)

हमारे परिवहन तंत्र को ठीक से काम करने के लिए पानी की जरूरत होती है क्योंकि अकेले शरीर में रक्त की मात्रा सभी धमनियों, नसों और केशिकाओं को भरने के लिए पर्याप्त नहीं होती है. अधिक पानी पीने से खून से विषाक्त पदार्थ बाहर निकलने में मदद मिलती है और ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है. इसके साथ ही खून में तरल पदार्थ बना रहता है जिससे खून की मात्रा भी सही रहती है. इससे धमनियां खुली रहती हैं और ब्लड प्रेशर नहीं बढ़ता.

ब्लड सर्कुलेशन  


शरीर में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर हो, इसके लिए पानी की मात्रा सही रखनी चाहिए. कम से 8 ग्लास पानी बहुत आवश्यक है, इससे शरीर में खून चलता रहता है और बीच में नहीं रुकता. अगर ऐसा होता है तो ब्लड क्लॉट और अन्य स्ट्रोक की समस्या भी हो सकती है. 

यह भी पढे़ं- ज्यादा नमक से होती है ये परेशानियां, जानिए क्या क्या 

कब्ज की शिकायत (Constipation)


पानी कम पीने से कब्ज की बीमारी होती है और यह धीरे धीरे बवासीर में बदल जाती है. अगर आपका पेट सही से साफ नहीं होगा तो आपको कई बीमारियां होंगी और पेट साफ रखने के लिए सबसे जरूरी है कि आप पानी सही से पीएं, क्योंकि इससे पाचन क्रिया सही होगी और खाना हजम अच्छे से होगा. 

स्किन में समस्या (Skin Problem) 

स्किन में कई तरह के चकते, मुंहासे और दाग निकल आते हैं. अगर पानी ठीक से पीएंगे तो लिवर साफ रहेगा और स्किन भी साफ रहेगी 

किडनी 

पानी पर्याप्त मात्रा में पीने से आपकी किडनी सही से काम करेगी, किडनी शरीर का अहम अंग है, अगर उसमें कुछ गड़बड़ी हुई तो काफी परेशानी हो जाती है. पानी कम पीने से किडनी में पत्थर भी बनने लगते हैं. 

यूटीआई की समस्या (UTI) 


अगर पानी कम पीते हैं तो पेशाब में जलन के साथ साथ यूटीआई यानी यूरिन इंफेक्शन होना तय है. पेट में गर्मी होगी, यूरिन साफ नहीं होगा. 

कुछ बातों का रखें खयाल 

दिन में कम से कम 2-3 लीटर पानी पीने की कोशिश करें, भले ही इसके अलावा आप कोई लिक्विड लें लेकिन पानी की मात्रा कम ना हो
खड़े होकर पानी पीने से कई और बीमारियां होती हैं, इसलिए पानी हमेशा बैठकर पीना चाहिए. इससे शरीर में पानी ठीक से पहुंचता है 
 

Disclaimer: हमारा लेख केवल जानकारी प्रदान करने के लिए है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें.) 

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों पर अलग नज़रिया, फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv