Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Vitamin D Overdose: जरूरत से ज्यादा ली विटामिन डी तो शरीर के लिए बन जाएगी Toxic, जानिए कैसे ?

Vitamin D के ओवरडोज से हो सकते हैं ये नुकसान, आप भी जान लें, क्यों डॉक्टर की सलाह से ही लेने चाहिए सप्लीमेंट्स

article-main
FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी: हमारे शरीर के लिए सभी विटामिन्स (Vitamins) की बहुत आवश्यकता होती है,जिसमें विटामिन डी (Vitamin D) बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है. इसलिए डॉक्टर्स भी विटामिन डी के सप्लीमेंट्स लेने पर जोर देत हैं लेकिन क्या आपको पता है कि इसका ओवरडोज (Overdose of Vitamin D) भी आपके लिए बहुत नुकसानदायक साबित हो सकता है.

जी हां एफएसएसआई (FSSAI) ने भी इस बात को स्वीकार किया है कि विटामिन डी का ओवरडोज आपको कई बीमारियों का शिकार बना देता है. ये शरीर में जाकर टॉक्सिक की तरह काम करने लगता है. चलिए आज हम जानेंगे इस विटामिन को किस मात्रा में लेना चाहिए और ज्यादा लेने के नुकसान क्या हैं 

यह भी पढ़ें- विटामिन बी 12 के कमी के संकेत जानें यहां

Overdose के नुकसान

जरूरत के हिसाब से विटामिड डी लेना कभी नुकसान दायक नहीं होगा. लेकिन कोशिश करनी चाहिए कि इस विटामिन के नेचुरल सोर्स जैसे धूप, दूध, अंडा, ओट्स या कुछ खाने की चीजों को अगर अपनी लाइफस्टाइल में शामिल किया जाए तो बेहतर होगा. अगर विटामिन डी की अधिक गोलियां खाईं जाएं तो आपको उल्टी, मुंह सूखना, कमजोरी और जी मिचलाने की दिक्कत हो सकती है.एक्सपर्ट्स कहते हैं कि तीन महीने के अंतराल में आप विटामिन डी का कोर्स कर सकते हैं. 

यह भी पढ़ें- विटामिन बी 12 के ओवरडोज से हो सकती हैं ये बीमारियां
 
क्या होते हैं नुकसान (Side effects of Overdose of Vitamin D in Hindi)

  • विटामिन डी (Vitamin D) के अत्यधिक सेवन से शरीर में कैल्शियम और फास्फोरस की मात्रा में वृद्धि हो सकती है जिससे फेफड़ों में क्रिस्टल्स बनने लगते हैं. इससे फेफड़ों को नुकसान भी पहुंच सकता है. 
  • विटामिन डी गोलियों की ओवरडोज ब्लड प्रेशर बढ़ाने वाली भी साबित होती हैं. सिरदर्द होना और पेट में गड़बड़ी भी इसके साइड इफेक्ट्स में शामिल है. 
  • कई बार मन घबराने लगता है और शरीर में कमजोरी महसूस होती है
  • इसके ओवरडोज से किडनी की समस्या दिखाई दे सकती है.
  • आप मानसिक बीमारी से भी जूझ सकते हैं.

विटामिन डी की कमी के लक्षण (Signs of Vitamin D deficiency in Hindi)

कई कारणों की वजह से शरीर में इस विटामिन की कमी दिखाई देती है.जैसे अगर आप धूप नहीं लगाते हैं, खान पान में लापरवाही करते हैं. एलकोहल या फिर किसी नशीले पदार्थ का सेवन ज्यादा करते हैं तो आपको इसकी कमी हो सकती है. 

  • ब्लड प्रेशर (उच्च रक्तचाप)
  • थकान महसूस करना
  • जोड़ों और हड्डियों में दर्द होना
  • शरीर में झुर्रियां पड़ना
  • डिप्रेशन और तनाव  होना
  • मांसपेशियां कमजोर होना
  • डायबिटीज होना
  • कैंसर का खतरा होना
  • इम्यूनिटी कमजोर होना
  • बच्चों में रिकेट्स रोग का होना
  • हड्डियों का मुलायम होना

    यह भी पढ़ें- विटामिन ए है बहुत जरूरी, जानिए किसमें पाया जाता है 

विटामिन डी की गोलियों को डॉक्टर की सलाह से ही खाना चाहिए और हो सके तो कुछ समय के अंतराल पर खाएं. लगातार ओवरडोज करने से आपके शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाता है. गर्भावस्था और ब्रेस्टफीड कराने वाली महिलाओं को खासतौर पर विटामिन डी की गोलियां सीमित मात्रा में खानी चाहिए.जिन लोगों में किडनी से जुड़ी समस्या हो वे बिना किसी सलाह के गोलियां ना खाएं. जिन लोगों के खून में कैल्शियम (Calcium) की अत्यधिक मात्रा हो उन्हें विटामिन डी के सेवन से परहेज करना चाहिए. 

नोट : हमारा लेख केवल जानकारी प्रदान करने के लिए है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों पर अलग नज़रिया, फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

 

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv