Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Cholesterol Reduce: धमनियों में चिपकी वसा होगी तुरंत ढीली, सुबह उठते ही पीएं ये काढ़ा

Garlic Water Benefits: मोबिल ऑयल के समान नसों में जमी वसा धमनियों को सकरा बनाती है. इससे बचना है तो रोज सुबह एक खास तरह का काढ़ा पीना शुरू कर दें.

Latest News
article-main

 धमनियोें में चिपकी वसा होगी तुरंत ढीली, सुबह उठते ही पीएं ये काढ़ा

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदीः हाई कोलेस्ट्रॉल (High Cholesterol) में नसों के अंदर फैट की मोटी और सख्त चिपचिपी लेयर (Thick and Hard Sticky Layer of Fat Inside Veins) जमने लगती है. ये इतनी चिपचिपी होती है कि आसानी से इसे हटाना या पिघलाना आसान नहीं होता है. ये वसा नसों में ब्लड फ्लो (Blood Flow)  के लिए जगह कम करती जाती है और नतीजा हार्ट अटैक (Heart Attack) और स्ट्रोक (Stroke) के रूप में सामने आता है.

अगर आप हाई कोलेस्ट्रॉल का सामना कर रहे तो आपके लिए आपके किचन में रखा लहसुन रामबाण दवा है. अमूमन इसे कच्चा खाने की सलाह दी जाती है, लेकिन अगर आपकी नसों में जमी वसा बेहद सख्त हो चुकी है तो कच्चा खाने से बेहतर होगा कि आप इसका काढ़ा बना कर पीना शुरू कर दें. तो चलिए आपको बताएं कि इसका काढ़ा बनेगा कैसे और क्यों ये ज्यादा इफेक्टिव होता है. साथ ही यह भी जानें कि लहसुन का काढ़ा अन्य किन बीमारियों की दवा है.

यह भी पढ़ें: Cholesterol Cure : नहीं पिघल रही नसों में जमी वसा? इस बीज से दूर होगी समस्या

इसलिए है काढ़ा ज्यादा फायदेमंद
लहसुन जब कच्चा खाया जाता है तो लहसुन में मौजूद एलिसिन बॉडी में जाकर टूटता है और धीरे-धीरे इसका असर होता है, लेकिन जब इसे काढ़े के रूप में गुनगुना पीया जाता है तो ये नसों में जकड़ी वसा को ढिला कर देता है. साथ ही एलिसिन आसानी से अपना काम कर पाता है. वसा इससे तेजी से पिघलती है. 

लहसुन के पोषक तत्व भी जानें
एलिसिन के अलावा लहसुन में एंटी.फंगलए एंटी.बैक्टीरियलए एंटीऑक्सीडेंट गुण भी होते हैंए जो कई तरह के रोगों से बचाए रखते हैं. लहसुन के सेवन से कई तरह के इंफेक्शन से बचाव होता है, इसके अलावा इसमें फॉस्फोरस, आयरन, मैग्नीशियम, जिंक, कॉपर, राइबोफ्लेविन, थायमिन, नियासिन जैसे तत्व होते हैं जो कई तरह से शरीर पर काम करते हैं और बीमारियों को दूर करने में मददगार होते हैं. 

कैसे बनाएं लहसुन का पानी
इसके लिए लहसुन तीन से चार लहसुन को छीलकर क्रश कर लें और करीब दो गिलास पानी में डाल कर उबाल लें. जब पानी एक कप हो जाए तो इसे गुनगुना पी लें. लहसुन को छानें नहीं बल्कि साथ में ही पीएं. आप चाहें तो इसमें नींबू, शहद औश्र कालीमिर्च मिला कर एक सूप बना कर भी पी सकते हैं. कोशिश करें बिना नमक पीएं.
कब पीना चाहिए लहसुन का पानी 
लहसुन का पानी सुबह खाली पेट पीएं. लहसुन की तासीर गर्म होती है इसलिए कभी भी लहसुन के पानी का सेवन रात में न करें. 

यह भी पढ़ें: Cholesterol Remedy : हाई कोलेस्ट्रॉल वाले खा लें ये एक फल, नसों में चर्बी का नहीं रहेगा नामोनिशान

Garlic Water के फायदे

  • पेट में दर्द, ऐंठन, सूजन और गैस की समस्या मेॆ लहसुन का पानी पीना चाहिए. 
  • लहसुन एक नैचुरल तरीके से खून को पतला करने के गुण पाए जाते हैं. सुबह लहसुन का पानी पीने से ब्लड प्रेशर की समस्या भी दूर होगी.
  • कमजोर इम्यूनिटी, सर्दी-जुकाम की समस्या में भी लहसुन का पानी पीना चाहिए. लहसुन में मौजूद एंटीबायोटिक, एंटी फंगल गुण शरीर को संक्रमण और बीमारियों से बचाने में मदद करते हैं. 
  • एलिसिन में समृद्ध लहसुन, एक ऑर्गोसल्फर यौगिक पाया जाता है, जो दिल से संबंधित बीमारियों से राहत दिलाने में मददगार साबित होता है.
  • जिन लड़कियों को पीरियड्स में कमर दर्द, शरीर में ऐंठन और पेट में ऐंठन की समस्या होती है उन्हें भी लहसुन का पानी पीना चाहिए. लहसुन का पानी पीने से पेट दर्द और ऐंठन में आराम मिल सकता है.
     

(Disclaimer: हमारा लेख केवल जानकारी प्रदान करने के लिए है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें.) 


देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv