Twitter
Advertisement
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Unhealthy Cooking Methods: खाना बनाने के ये 3 तरीके सेहत को पहुंचाते हैं गंभीर नुकसान, तुरंत बदलें आदत

Unhealthy Cooking Methods: खाना बनाने का ये तीन तरीका सेहत के लिए नुकसानदेह होता है, आइए जानते हैं इन तरीकों के बारे में...

Latest News
article-main

Unhealthy Cooking Methods

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

भारतीय खाना अपने स्वाद के लिए दुनियाभर में फेमस है. भारतीय खानपान की बात करें तो हर राज्य का भोजन दूसरे राज्य के भोजन (Indian Foods) से स्वाद में काफी भिन्न होता है और इसे बनाने का तरीका भी अलग-अलग होता है. लेकिन, आज हम आपको खाना पकाने के कुछ ऐसे तरीकों के बारे में बता रहे हैं, जो आपके लिए नुकसानदेह हो सकता है. दरअसल खाना कितना सेहतमंद (Cooking Mistakes) है ये खाना बनाने के तरीके पर भी मायने रखता है. क्योंकि, कई बार खाना बनाने का तरीका उसके पोषक तत्वों को खत्म कर देता है. आज हम आपको ऐसे ही तीन तरीकों के बारे में बता रहे हैं तो (Common Cooking Mistakes) आइए जानते हैं इसके बारे में...

खाना बनाने का गलत तरीका (Unhealthy Ways Of Cooking)

एयर फ्रायर में पका खाना (Air Fryer) 

आजकल लोगों को बीच एयर फ्राइंग का चलन तेजी से बढ़ रहा है, लेकिन एयर फ्रायर में पका हुआ खाना सेहत के लिए फायदेमंद नहीं होता है. दरअसल चीज और मीट जैसी चीजों को एयर फ्रायर में पकाने से इसके पोषक तत्व खत्म हो जाते हैं. क्योंकि जब आप एयर फ्रायर में चिकन को यूं ही कुक करने के लिए रख देते हैं तो इससे वह बाहर से सूख जाता है. लेकिन अंदर से अच्छी तरह नहीं पकता. ऐसे में अधपके चिकन का सेवन करने से व्यक्ति कई गंभीर बीमारियों की चपेट में आ जाता है. 


यह भी पढे़ं-  Acne या Pimples नहीं, चेहरे पर निकलने वाले लाल दाने हो सकते हैं इस गंभीर बीमारी के संकेत


ग्रिलिंग भी है नुकसानदेह (Grilling)

वहीं कई लोग खाने को स्वादिष्ट बनाने के लिए ग्रिलिंग प्रोसेस अपनाते हैं, लेकिन ग्रिलिंग अगर खुली हवा और उच्च तापमान पर की जाए, तो यह भोजन के पोषक तत्वों को खत्म कर देती है. इसके अलावा जब हम खुली हवा में ग्रिलिंग करते हैं, तो इससे  हेट्रोसायक्लिक एमाइन (एचसीए) और पॉलीसाइक्लिक एरोमैटिक हाइड्रोकार्बन (पीएएच) जैसे यौगिक का निर्माण होता है और यह सेहत के लिए बहुत ही नुकसानदेह हो सकता है. 


यह भी पढे़ं- Congenital Heart Disease क्या है? गर्भावस्था में इन गलतियों के कारण बढ़ता है इस बीमारी का खतरा


नॉन-स्टिक में पका खाना (Non Stick Pan)

आमतौर पर नॉन-स्टिक पैन का इस्तेमाल अब लोग रेगुलर बेसिस पर करने लगे हैं, लेकिन इस कुकिंग यूटेंसिल पर पॉलीटेट्राफ्लुओरोएथिलीन (पीटीएफई) की कोटिंग होती है, जिसे टेफ्लॉन के नाम से जाना जाता है. आपको बता दें कि इन तवे को अधिक गर्म करने या उन पर धातु के बर्तनों का उपयोग करने से जहरीले धुएं और कण निकल सकते हैं. यह भी कुकिंग मेथड सेहत को काफी नुकसान पहुंचाते हैं. इसलिए जितना कम हो सके इन तीन कुकिंग मेथड का प्रयोग करने से बचना चाहिए. 

Disclaimer: यह लेख केवल आपकी जानकारी के लिए है. इस पर अमल करने से पहले अपने विशेषज्ञ डॉक्टर से परामर्श लें.

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर. 

Advertisement

Live tv

Advertisement
Advertisement