Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

R. Madhavan की फिल्म Rocketry से खुश हैं रजनीकांत, मिलकर एक्टर को दिया यह खास तोहफा

Rocketry: The Nambi Effect: हाल ही में रिलीज हुई अपनी फिल्म रॉकेट्री: द नांबी इफेक्ट की सफलता को एंजॉय कर रहे आर माधवन ने मेगास्टार रजनीकांत से मुलाकात की. दिग्गज अभिनेता ने आर माधवन और नंबी नारायणन (जिन पर फिल्म आधारित है) को अपने घर पर सम्मानित किया.

article-main

डीएनए हिंदी वेब डेस्क

Updated: Jul 31, 2022, 10:30 PM IST

Edited by

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी: Rocketry: The Nambi Effect: अभिनेता आर. माधवन ( R. Madhavan) ने वैज्ञानिक नंबी नारायणन (Nambi Narayanan) के साथ सुपरस्टार रजनीकांत (Rajinikanth) से मुलाकात कर उन्हें सम्मानित किया है. वैज्ञानिक नंबी नारायणन की जिंदगी पर बनी फिल्म को मिल रही तारीफों पर एक्टर काफी खुश हैं. सोशल मीडिया पर अपनी मुलाकात की एक वीडियो क्लिप साझा करते हुए माधवन ने लिखा, "जब आपको नंबी नारायणन की मौजूदगी में वन-मैन इंडस्ट्री और लेजेंड से आशीर्वाद मिलता है, तो यह हमेशा के लिए यादगार हो जाता है. रॉकेटरी की सराहना करने के लिए शुक्रिया रजनीकांत सर. इस प्रेरणा ने हमें पूरी तरह से फिर से जीवंत कर दिया है. हम आपसे प्यार करते हैं."

वीडियो क्लिप में, रजनीकांत, माधवन और नंबी नारायणन दोनों को रेशमी शॉल भेंट कर उनका सम्मान करते हुए दिखाई दे रहे हैं. रजनीकांत के साथ माधवन और नंबी नारायणन की मुलाकात के पल सोशल मीडिया पर फैंस की तरफ से काफी पसंद किए जा रहे हैं.

ये भी पढ़ें - इस फिल्म को करने से चूक गए थे आर माधवन, बाद में हुई थी बहुत बड़ी हिट

 

अभिनेता रजनीकांत ने रॉकेटरी: द नांबी इफेक्ट की सराहना करते हुए कहा कि आम तौर पर सभी को और विशेष रूप से बच्चों को इसे देखना चाहिए. सुपरस्टार ने तमिल में ट्वीट करते हुए कहा था, "रॉकेटरी एक ऐसी फिल्म है जिसे हर किसी को देखना चाहिए, खासकर युवाओं को. माधवन ने निर्देशक के रूप में अपने पहले प्रयास में अपने रियल एक्टिंग की और फिल्म निर्माण के माध्यम से साबित कर दिया है कि वह बेहतरीन निर्देशकों में से हैं. इस तरह की फिल्म देने के लिए माधवन को मेरा दिल से धन्यवाद और बधाई."

फिल्म में माधवन रॉकेट साइंटिस्ट नंबी नारायणन की भूमिका निभाते नजर आ रहे हैं. यह फिल्म भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के पूर्व रॉकेट वैज्ञानिक के जीवन पर आधारित है, जिस पर जासूसी का झूठा आरोप लगाया गया था और 1994 में गिरफ्तार किया गया था.

फिल्म को भारत, फ्रांस, कनाडा, जॉर्जिया और सर्बिया में शूट किया गया है, और हिंदी, अंग्रेजी, तमिल, तेलुगु, मलयालम और कन्नड़ सहित दुनिया भर में छह भाषाओं में रिलीज भी किया गया.

ये भी पढ़ें - Rocketry: R Madhavan ने 'द कश्मीर फाइल्स'- 'शेरशाह' को पछाड़ा, इस मामले में बनाया नया रिकॉर्ड

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv