Twitter
Advertisement
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Paytm App चलाने वालों के लिए खुशखबरी, RBI ने तलाशा बैंक बंद होने पर भी ऐप को एक्टिव रखने का रास्ता

Paytm App चलाने की जिम्मेदारी भारतीय रिजर्व बैंक की तरफ से नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया को सौंपी जा सकती है. इसके लिए RBI ने NPCI को पत्र लिखा है.

Latest News
article-main

Paytm Fact Check

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

Paytm App Latest News: भारतीय रिजर्व बैंक की तरफ से पेटीएम पेमेंट्स बैंक (Paytm Payments Bank) के खिलाफ की जा रही कार्रवाई का असर Paytm App पर नहीं पड़ेगा. पेटीएम पेमेंट्स बैंक का संचालन बंद करने की स्थिति में भी Paytm App चलती रहे, इसके लिए RBI ने अभी से राह तलाशनी शुरू कर दी है. भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) ने शुक्रवार को कहा कि पेटीएम ऐप को संचालित करने के लिए थर्ड पार्टी एप्लिकेशन प्रोवाइडर के तौर पर काम करने की जिम्मेदारी नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) को दी जा सकती है. इसके लिए RBI ने NPCI को पत्र लिखकर इस बात की संभावना तलाशने के लिए कहा है. 

बैंक के लेनदेन पर लग जाएगी 15 मार्च से रोक

पेटीएम पेमेंट्स बैंक के लेनदेन में गड़बड़ियों के कारण RBI ने उसके कस्टमर के अकाउंट्स और वॉलेट्स में पैसा जमा किए जाने पर रोक लगा दी है. यह रोक 15 मार्च, 2024 से लागू हो जाएगी. इस आदेश के बाद पेटीएम ऐप चला रहे लोगों में तरह-तरह की चिंताएं फैल गई थीं. लोग यह चिंता जता रहे थे कि 15 मार्च से उनकी ऐप बंद हो जाएगी. इन्हीं चिंताओं के कारण RBI ने NPCI को पत्र लिखा है.

RBI ने Paytm की पेरेंट कंपनी की रिक्वेस्ट पर उठाया है ये कदम

RBI ने NPCI (National Payments Corporation of India) को एक पत्र लिखा है. इसमें NPCI से आग्रह किया गया है कि वह Paytm App पर UPI ट्रांजेक्शन चालू रखने के लिए थर्ड पार्टी एप्लिकेशन प्रोवाइडर (TPAP) के तौर पर काम करने का परीक्षण करके देखे. RBI ने कहा है कि उसका मकसद पेटीएम पेमेंट्स बैंक के '@paytm' हैंडल का इस्तेमाल डिजिटल पेमेंट के लिए करने वाले UPI कस्टमर्स को आगे भी किसी तरह की परेशानी नहीं होने देना है. RBI ने अपने बयान में कहा है कि उसने NPCI से यह आग्रह One97 Communications Ltd (OCL) के आग्रह पर उठाया है, जो पेटीएम ब्रांड की पेरेंट कंपनी है. 

4-5 बैंकों को दी जा सकती है जिम्मेदारी

RBI ने कहा है कि '@paytm' हैंडल वाले कस्टमर्स के दूसरे बैंकों के साथ अबाधित माइग्रेशन के लिए NPCI 4-5 बैंक को सर्टिफाइड कर सकता है. इससे इन बैंकों को पेमेंट सर्विस प्रोवाइडर (PSP) बैंक के तौर पर हाई वोल्यूम यूपीआई ट्रांजेक्शंस को प्रोसेस करने की क्षमता मिल जाएगी. 

(PTI इनपुट के साथ)

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

Advertisement

Live tv

Advertisement
Advertisement