Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

गुजरात चुनाव से पहले कांग्रेस में फूट, Hardik Patel ने हाईकमान को दिखाए बगावती तेवर!

कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल अब अपनी पार्टी की कार्यप्रणाली खुश नहीं हैं. उन्होंने आरोप लगाया है कि कांग्रेस ने उन्हें दरकिनार कर दिया है.

article-main

बीजेपी में शामिल होंगे हार्दिक पटेल

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी: कांग्रेस (Congress) के फायर ब्रांड नेता हार्दिक पटेल (Hardik Patel) के सितारे इन दिनों में गर्दिश में है. पाटीदारों के सबसे बड़े नेताओं में शुमार हार्दिक पटेल को उन्हीं की पार्टी ने दरकिनार कर दिया है. हार्दिक पटेल कांग्रेस की गुजरात यूनिट की कार्यशैली से खुश नहीं हैं. हार्दिक पटेल ने यह भी कहा है कि उन्हें स्टेट यूनिट में दरकिनार किया जा रहा है.

हार्दिक पटेल ने कहा है कि पार्टी नेतृत्व उनकी क्षमताओं का उपयोग करने में इच्छुक नहीं है. हार्दिक पटेल साल 2015 में भड़के पाटीदार आंदोलन को लेकर चर्चा में रहे हैं. गुजरात में पाटीदार समुदाय को अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC) के अंतर्गत आरक्षण देने की मांग को लेकर चलाए गए आंदोलन की उन्होंने अगुवाई की थी. 

Punjab में कांग्रेस को मिला सिद्धू का विकल्प, अमरिंदर सिंह राजा को दी गई प्रदेश की कमान

क्यों कांग्रेस से खफा-खफा हैं हार्दिक पटेल?

हार्दिक पटेल ने बुधवार को पाटीदार नेता नरेश पटेल (Naresh Patel) को कांग्रेस में शामिल कराने में हो रही देरी को लेकर भी पार्टी के नेतृत्व पर सवाल खड़ा किया है. हार्दिक पटेल ने कहा, 'नरेश पटेल को कांग्रेस में शामिल करने को लेकर पार्टी में जिस तरह की बातें हो रही हैं वो पूरे समुदाय का अपमान है. अब दो महीने से अधिक समय बीत चुका है. अब तक कोई फैसला क्यों नहीं लिया जा रहा? कांग्रेस आलाकमान या स्थानीय नेतृत्व को नरेश पटेल को पार्टी में शामिल करने के संबंध में जल्द निर्णय लेना चाहिए.'

कांग्रेस को दिलाई जीत लेकिन पार्टी ने किया दरकिनार

हार्दिक पटेल ने दावा किया कि पाटीदार आरक्षण आंदोलन ने 2015 के स्थानीय निकाय चुनावों में कांग्रेस को अच्छी संख्या में सीट जीतने में मदद दी. उन्होंने कहा कि आंदोलन के चलते 2017 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को राज्य की 182 सीटों में से 77 सीटों पर जीत मिली. 

हार्दिक पटेल ने कहा, 'इसके बाद क्या हुआ? कांग्रेस में भी कई लोग यह महसूस करते हैं कि 2017 के बाद पार्टी द्वारा हार्दिक का उचित उपयोग नहीं किया गया. ऐसा इसलिए भी हो सकता है क्योंकि पार्टी में कुछ लोग सोचते होंगे कि आज अगर मुझे महत्व दिया गया तो मैं पांच या 10 साल बाद उनके रास्ते में आ जाऊंगा.'

यह भी पढ़ें-
कांग्रेस में प्राण फूंकने के लिए Robert Vadra हैं तैयार, कहा- जनता चाहेगी तो...
अब हरियाणा में बढ़ी Congress की मुसीबतें, कुमारी शैलजा ने की इस्तीफे की पेशकश, हाईकमान अलर्ट

 

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv