Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Pakistan के विदेश मंत्री ने मौजूदा राजनीतिक संकट पर भी अलापा कश्मीर राग, भारत पर लगाए आरोप

पाकिस्तान की सरकार इस वक्त आर्थिक और राजनीतिक मोर्चे पर संघर्ष कर रही है लेकिन इमरान खान के मंत्री भारत के खिलाफ जहर उगलना नहीं भूल रहे हैं. 

Latest News
article-main

शाह महमूद कुरैशी

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी: इमरान खान की सरकार भले ही पाकिस्तान में चंद दिनों की मेहमान हो लेकिन उनके कारिंदे अब भी भारत के खिलाफ जहर उगल रहे हैं. पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी (Shah Mehmood Qureshi News) ने अपने देश के राजनीतिक संकट के लिए भारत पर आरोप लगाए हैं. अपनी सरकार बचाने के लिए भी उन्होंने अपना पुराना कश्मीर राग छेड़ दिया है. 

इमरान के मंत्री ने राजनीतिक संकट के लिए भारत पर लगाए आरोप
पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने आरोप लगाया कि भारत नहीं चाहता है कि पाकिस्तान में एक मजबूत सरकार हो. कुरैशी ने यह भी कहा कि पाकिस्तानियों के हितों की रक्षा के लिए संघर्ष करने वाली सरकार से भारत नफरत करता है. पाक विदेश मंत्री यहीं नहीं रुके और इसके बाद उन्होंने कश्मीर के मामले को भी बीच में घसीटा. उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने भारत के साथ बेहतर संबंध बनाने की कोशिश की है लेकिन कश्मीर पर भारत की ज्यादतियों को हम बर्दाश्त नहीं कर सकते हैं.

पढ़ें: Pakistan Political Crisis: जानें, इमरान खान ने किसे बनाया है कार्यवाहक प्रधानमंत्री?

भारत के बाद अमेरिका पर भी साधा निशाना 
पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने भारत पर आरोपों की बौछार करने के बाद अमेरिका को भी खूब सुनाया है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के मामलों को प्रभावित करने के लिए अमेरिका दबाव बना रहा है. कुरैशी ने कहा कि आंतरिक मामलों में बाहरी हस्तक्षेप की वजह से पाकिस्तान में ऐसे चिंताजनक हालात बने हैं. उन्होंने अमेरिकी हस्तक्षेप को अनुचित बताते हुए कहा कि हमने इस पर विरोध दर्ज करने के लिए एक राजदूत को भी बुलाकर आपत्ति जताई थी.

राजनीतिक संकट को बताया आंतरिक मामला
पाकिस्तानी मीडिया एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, कुरैशी ने अपने देश के मौजूदा हालात के लिए वैश्विक ताकतों को जिम्मेदार ठहराया है. कुरैशी ने यह भी कहा कि किसी भी देश को पाकिस्तान के आंतरिक मामलों में दखल देने की इजाजत नहीं है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान एक स्वतंत्र देश है और उसके फैसले संविधान, कानून और जनता की आकांक्षाओं के अनुरूप होने चाहिए. उन्होंने अपनी सरकार के तारीफों के पुल भी बांधे.

पढ़ें: Pakistan: SC ने नेशनल एसेंबली भंग करने के फैसले के खिलाफ टाली सुनवाई, इमरान खान को मौका?

गूगल पर हमारे पेज को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें. हमसे जुड़ने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर आएं और डीएनए हिंदी को ट्विटर पर फॉलो करें.

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv

पसंदीदा वीडियो