Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Artemis 1 Launch: नासा ने नहीं मानी हार, आज दोबारा होगा मून रॉकेट का लॉन्च

Artemis-1 Launch Live: एक बार तकनीकी गड़बड़ी की वजह से रोके गए Artemis-1 रॉकेट का आज दोबारा लॉन्च किया जाएगा. नासा को उम्मीद है कि इस बार कोई गड़बड़ी नहीं होगी.

article-main

आज फिर से होगा Artemis-1 का लॉन्च

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी: अमेरिका की स्पेस एजेंसी नासा के 'मून रॉकेट' Artemis-1 का लॉन्च 29 अगस्त को हुई तकनीकी गड़बड़ी की वजह से टालना पड़ा था. अब नासा (NASA) ने इसे फिर से लॉन्च करने का फैसला किया है. फ्लोरिडा के समय के अनुसार, Artemis 1 रॉकेट को आज 2 बजकर 17 मिनट पर लॉन्च किया जाएगा. इसका मतलब है कि भारत के समय के अनुसार यह लॉन्च रात के 11:47 बजे किया जाएगा. 

इस मिशन के मैनेजर माइकल सैरफिन ने एक ब्रीफिंग के दौरान कहा, 'कोई गारंटी नहीं है कि हम शनिवार को लॉन्च कर ही लेंगे लेकिन हम फिर भी कोशिश करने वाले हैं.' फ्लोरिडा का मौसम ऐसा है कि रॉकेट लॉन्च करने की संभावना 60 प्रतिशत है. आपको बता दें कि यह इस रॉकेट का पहला मिशन है जिसमें कोई अंतरिक्ष यात्री सवार नहीं होगा. हालांकि, अगर यह मिशन कामयाब होता है तो इसमें अंतरिक्ष यात्रियों को भी भेजा जाएगा.

यह भी पढ़ें- China के वैज्ञानिकों ने अंतरिक्ष में उगा दिया धान और सब्जियां, जानिए धरती पर कब आएगी ये 'स्पेस नर्सरी'

क्यों कैंसल हो गया था लॉन्च?
इस रॉकेट का लॉन्च 29 अगस्त को होना था. लॉन्च से कुछ घंटे पहले ही पता चला कि इंजन में तकनीकी खरीबी आ गई है. इस वजह से इसके लॉन्च को कैंसल कर दिया गया. बाद में पता चला कि रॉकेट के चार में एक इंजन में खराबी आ गई थी और इसे ठीक किए बिना लॉन्च करना संभव नहीं था. दरअसल, इंजन काम न करने से रॉकेट का तापमान कंट्रोल में नहीं आ रहा था.

यह भी पढ़ें- Tibet के पठार पर एक शहर जितना बड़ा टेलीस्कोप बना रहा है चीन, सूरज पर नज़र रखने की तैयारी

क्या है Artemis I मिशन?
अमेरिका की स्पेस एजेंसी नासा चांद पर अपना एक मिशन भेज रही है. इसी के लिए Artemis-1 रॉकेट की टेस्टिंग की जा रही है. इसके बाद Artemis-2 और Artemis-3 भी भेजा जाएगा. Artemis-3 मिशन में इंसानों को भी चांद पर भेजा जाएगा और इसमें कम से कम एक महिला भी होगी. Artemis-1 की खासियत यह है कि यह काफ भारी वजन वाले मिशन को स्पेस में भेज सकता है. इस मिशन की अवधि 42 दिन, 3 घंटे और मिनट है. अगर यह सफल होता हो तो यह लगभग  12 लाख किलोमीटर की दूरी तय करेगा.

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv

पसंदीदा वीडियो