Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Shocking Video: गंगा किनारे लगा मरी हुई मछलियों का ढेर

गंगा किनारे मरी हुई मछलियों का ढेर सोचने पर मजबूर करता है कि आखिर हम प्रदूषण को कंट्रोल करने में इतने नाकाम हो चुके हैं कि मासूम जीव-जंतुओं का जीना मुश्किल हो चुका है.

article-main

डीएनए हिंदी वेब डेस्क

Updated: Jul 27, 2022, 11:50 AM IST

Edited by

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी: पर्यावरण की सेहत इस वक्त हमारे लिए एक बड़ा विषय होना चाहिए. जिस तरह हमारे आस-पास की हवा बदल रही है अगर हम  प्रकृति के प्रति सचेत न हुए तो आने वाले समय में मुश्किलें और बढ़ सकती हैं. इस खबर में जो वीडियो हम आपको दिखा रहे हैं वह यकीनन आपको परेशान कर सकती है. जिस गंगा मां को पतित पावनी कहा जाता है उसमें इतना जहर घोला जा रहा है कि मछलियों की जान पर बन आई है. वीडियो बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने शेयर किया. इसमें आप देखेंगे कि गंगा किनारे मरी हुई मछलियों का ढेर लगा हुआ है और साथ में प्लास्टिक की बोतल भी पड़ी है. साफ है फैक्ट्रियों का गंदा पानी अब भी नदी में छोड़ा जा रहा है और लोग कूड़ा फेंकने से भी कोई गुरेज नहीं करते.

इस वीडियो को शेयर करते हुए वरुण गांधी ने लिखा, गंगा हमारे लिए सिर्फ नदी नहीं, 'मां' है. करोड़ों देशवासियों के जीवन, धर्म और अस्तित्व का आधार है मां गंगा. इसलिए नमामि गंगे पर 20,000 करोड़ का बजट बना. 11,000 करोड़ खर्च के बावजूद प्रदूषण क्यों? गंगा तो जीवनदायिनी है, फिर गंदे पानी के कारण मछलियों की मौत क्यों? जवाबदेही किसकी?

यह भी पढ़ें: इसे कहते हैं Bad Luck, उड़ता हुआ आया गाड़ी का टायर और महिला को कर दिया चित्त


इस वीडियो पर लोग भी अपनी चिंता जाहिर कर रहे हैं. डॉक्टर चयनिका ने लिखा, लोग तो आजकल अपनी जननी तक का सिर्फ दिखावे के लिए इस्तेमाल करते है, ऐसे में गंगा मां की किसको फिक्र होगी? रोहित ने लिखा, सड़कों पर जलभराव और नदियां प्रदूषित करने के उत्तरदायी हम खुद हैं. यह गंदगी हमारी देन है न कि नगरपालिका की. हमें प्लास्टिक का उपयोग बंद करना होगा और नदियों में कूड़ा व अन्य सामान न डालें. यह प्रण हम सभी को करना चाहिए.

यह भी पढ़ें: Viral Video: फिनिश लाइन पर टूटकर बिखर गई कार, लोग बोले - इससे मजबूत तो नोकिया का फोन था

 

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv