Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

सावधान! पहले मैसेज फिर प्रोडक्ट रेटिंग और अकाउंट से उड़ गए 37 लाख रुपये, ठगी की यह कहानी आपको भी शॉक कर देगी

एक महिला ने Telegram पर एक व्यक्ति से संपर्क किया और वेबसाइट पर प्रोडक्ट रेटिंग के जरिए कमाई कराने का झांसा देकर ठगी का शिकार बना लिया.

article-main

डीएनए हिंदी वेब डेस्क

Updated: Dec 22, 2022, 01:21 PM IST

Edited by

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदीः आजकल ऑनलाइन स्कैम के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. ऐसा ही एक मालमा मुंबई में देखने को मिला जहां 40 साल का एक व्यक्ति साइबर फ्रॉड का शिकार हो गया और एक लिंक पर क्लिक कर लगभग 38 लाख रुपये गंवा दिए. यह फ्रॉड टेलीग्राम चैन और एक वेबसाइट के जरिए किया गया और ठगी के बाद इसे डिलीट कर दिया गया.

दरअसल 22 नवम्बर को मुंबई के मीरा रोड में रहने वाले एक व्यक्ति को टेलीग्राम पर एक अज्ञात महिला का मैसेज मिला जिसने उसे आश्वासन दिया कि वह उसे ऑनलाइन कमाई का अवसर प्रदान कर सकती है. 40 वर्षीय व्यक्ति (जिसकी पहचान उजागर नहीं की गई है) को महिला ने इस आश्वासन दिया कि वो उसे उसकी कंपनी के प्रोडक्ट्स पर अच्छी रेटिंग देने के एवज में अच्छा कमीशन दे सकती है. 

प्रोडक्ट रेटिंग के बहाने बनाया शिकार

इसके बाद एक अन्य महिला ने टेलीग्राम पर उस व्यक्ति से संपर्क किया और उसे वेबसाइट का एक लिंक देकर उसे लॉगिन कर अपनी जानकारी दर्ज करने के लिए कहा. इसके साथ ही महिला ने उसे वेबसाइट पर लिस्टेड अलग-अलग प्रॉपर्टीज को 5 स्टार रेटिंग देने के लिए कहा. महिला ने कहा कि ऐसा करने के बाद उस व्यक्ति की कमाई वेबसाइट पर उसके ई-वॉलेट में दिखने लगेगी. 

फ्रॉड का शिकार हुए व्यक्ति ने 28 नवंबर को काम करना शुरू किया और देखा कि उसके ई-वॉलेट में  उसकी कमाई को दिखने लगी है. यहां तक सबकुछ ठीक चल रहा था. इसके बाद उससे हर टास्क के पूरा करने पर प्रीमियम शुल्क देने के लिए कहा गया और बताया गया कि टास्क पूरा होने पर यह चार्ज भी उसके ई-वॉलेट में जुड़ जाएगा और सब उसे एक साथ मिल जाएगा.

फर्जी वेबसाइट पर की 37.80 लाख की पेमेंट

व्यक्ति ने 28 नवम्बर से लेकर 3 दिसम्बर तक वेबसाइट पर 37.80  लाख रुपये के प्रीमियम चार्ज का भुगतान किया. फॉर्ड का शिकार हुए व्यक्ति के अनुसार पेमेंट निकालने के दिन उनके ई-वॉलेट में 41.50 लाख रुपये दिख रहे थे लेकिन वेबसाइट पर उसकी रिक्वेस्ट पेंडिंग थी. लेकिन बाद में वेबसाइट और टेलीग्राम चैनल और वेबसाइट गायब हो गए तब व्यक्ति का अंदाजा हुआ कि वो फ्रॉड का शिकार हो गए हैं. 
 
ठगी का शिकार होने के बाद व्यक्ति ने पुलिस स्टेशन में इसकी शिकायत दर्ज करवाई है. मुंबई पुलिस ने इल मामले को लेकर IPC के सेक्शन IP420 और 66D के तहत FIR दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. 

कहीं आप ना हो जाएं ऑनलाइन फ्रॉड के शिकार

अगर आपको भी कोई ऐसा ऑफर देता है या ऑनलाइन लिंक के जरिए पेमेंट करने के लिए कहता है तो भूलकर भी ऐसा न करें क्योंकि किसी भी अननोन लिंक पर क्लिक करना या फिर किसी अंजान व्यक्ति पर भरोसा करना आपके लिए खतरनाक हो सकता है. इस तरह के लिंक पर क्लिक करने पर आपकी सारी जानकारी जैसे बैंक अकाउंट, कार्ड डिटेल, मोबाइल नंबर आदि की जानकारी ठगों के पास पहुंच सकती है और वो आपके अकाउंट को खाली कर सकते हैं.

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv