Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Diwali Pujan Samagri List: दीपावली पूजा सामग्री की ये रही पूरी लिस्ट, नहीं रहेगी पूजा अधूरी

Diwali 2022: दीपावली 24 अक्टूबर दिन सोमवार को है और इस दिन देवी लक्ष्मी-गणपति की पूजा में क्या-क्या सामग्री चाहिए होगी उसकी पूरी लिस्ट नोट कर लें.

Latest News
article-main

दीपावली पूजा सामग्री की ये रही पूरी लिस्ट

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदीः  दीपावली कार्तिक अमावस्या को होती है. इस बार ये तिथि 24 अक्टूबर, सोमवार को है. दीपावली की शाम को देवी लक्ष्मी के साथ-साथ भगवान श्रीगणेश और ज्ञान की देवी सरस्वती की पूजा भी की जाती है. इस दिन की पूजा में अनेक चीजों (Diwali 2022 Pujan Samagri List) का उपयोग होता है. अक्सर जल्दबाजी में लोग कुछ न कुछ चीजें भूल ही जाते हैं.

इसलिए आज ही पूजा की इन सामग्री को नोट कर बाजार से ले आएं और साथ ही पूजा के समय किन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए यह भी जान लें. धनतेरस के दिन ही लक्ष्मी-गणेश की प्रतिमा खरीदने का विधान होता है. आज खरीदी गई प्रतिमा को दिवाली के दिन पूजा मंदिर में स्थापित किया जाता है. आज हम आपको बता रहे हैं लक्ष्मी पूजा में किन-किन चीजों का होना जरूरी है और पूजा करते समय किन बातों का ध्यान रखें… 

दीपावली पूजा में ये चीजें जरूर होना चाहिए (Diwali 2022 Pujan Samagri List)
 मां लक्ष्मी, भगवान श्रीगणेश और देवी सरस्वती की प्रतिमा. कुछ स्थानों पर प्रतिमाओं की पूजा की जाती है तो कहीं चित्रों की. आप अपनी सुविधा अनुसार इनमें से किसी एक का चुनाव कर सकते हैं.
इसके बाद रोली, कुमुकम, चंदन, सिंदूर, अबीर, गुलाल, चावल, पान, सुपारी (पूजा की), नारियल, लौंग, इलायची, धूप, कपूर, कलावा, शहद, दही, गंगाजल, गुड़, अगरबत्ती, दीपक, रूई ये सभी चीजें होना भी जरूरी है. 
इनके अलावा जनेऊ, इत्र, चौकी, कलश, कमल गट्टे की माला, शंख, आसन, थाली, चांदी का सिक्का, बैठने के लिए आसन आम के पत्ते और 11 दीपक भी अपनी लिस्ट में शामिल करें. ये भी जरूरी चीजें हैं.
भोग के लिए पंचामृत, फल खीर, मेवे, खील-बताशे, गन्ना आदि चीजें भी अपनी लिस्ट में नोट कर लें. इन सभी चीजों को पहले से ही व्यवस्था कर लें ताकि पूजा के समय आपको दौड़-भाग न करनी पड़े.

इन बातों का रखें ध्यान
1. पूजा स्थल पर देवी लक्ष्मी की दो मूर्तियां न रखें. ऐसा होना वास्तु शास्त्र की दृष्टि से शुभ नहीं माना जाता.
2. स्थापित की गई मूर्ति या चित्र कहीं से खंडित यानी कटा-फटा नहीं होना चाहिए. ऐसी प्रतिमा या चित्र की पूजा करना शुभ नहीं होता.
3. पूजा करते समय प्रसन्न रहें, किसी भी तरह के गलत विचार मन में न लाएं. परिवार के साथ बैठकर पूजा करें.
4. पूजा के दौरान शुद्ध घी का एक बड़ा दीपक भी जरूर लगाएं, जो अगले दिन तक जलते रहना चाहिए. अगले दिन इसे शुभ मुहूर्त देखकर थोड़ा सा खिसका दें.
5. पूजा के दौरान उपयोग की गई पूजन सामग्री को सम्मान पूर्वक किसी नदी में प्रवाहित करें. भूलकर भी उसका अपमान न होने पाए.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. डीएनए हिंदी इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv

पसंदीदा वीडियो