Twitter
Advertisement
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Shani Dev Blessings: शनिदेव की क्रूर दृष्टी से बचने के घर में रख लें ये चीजें, जीवन में दूर हो जाएंगी बाधाएं

भगवान शनिदेव (Shanidev Happy) प्रसन्न हो तो व्यक्ति को रंक से राजा बना देते हैं. वहीं उनकी क्रूर दृष्टी व्यक्ति के जीवन को बाधाओं से भर देते हैं. ऐसी स्थिति से जूझ रहे हैं तो घर में इन चीजों को रख लें. इससे शनिदेव की कृपा (Shanidev Blessings) प्राप्त होगी. 

Latest News
article-main
FacebookTwitterWhatsappLinkedin

Shanidev Blessings Upay: 9 ग्रहों में शनिदेव (Shanidev Blessings) को न्यायधीश की उपाधि दी गई है. उन्हें कर्म फल दाता भी कहते हैं. ज्योतिष के अनुसार, शनिदेव व्यक्ति के कर्मों के हिसाब से ही उन्हें फल प्रदान करते हैं, जो व्यक्ति नियम के अनुरूप जीवन व्यतीत नहीं करता है. किसी गरीब और कमजोर को सताता है तो उस पर शनि देव की क्रूर दृष्टी (Shani Dev ) पड़ती है. ग्रहों के दशा बदलने के साथ ही व्यक्तियों को शनि की ढैय्या और साढ़े साती का भी सामना करना पड़ता है. यह लंबी अवधि के दोष हैं, जो जल्दी से खत्म नहीं होते. ऐसे लोगों को शनि का प्रकोप झेलना पड़ता है. व्यक्ति तो जीवन में आर्थिक तंगी, मानसिक कष्ट से लेकर स्वास्थ्य बीमारियों का सामना करना पड़ता है. 

अगर आप भी शनि की साढ़े साती या ढैय्या से (Shani Sadesatti And Dhaiya) परेशान हैं और उनकी पीड़ा से छुटकारा पाना चाहते हैं तो शनिवार के दिन कुछ उपाय कर सकते हैं. इसके अलावा कुछ चीजें हैं, जिन्हें घर में रखने से कष्टों से निवरण मिल जाता है. वहीं जब शनि देव प्रसन्न हो जाते हैं तो व्यक्ति को रंक से राजा बना देते हैं. आइए जानते हैं वो चीजें, जिन्हें घर में रखने मात्र से ही शनि के दोष मिट जाते हैं. 

 


Lathmar Holi: दुनिया भर में मशहूर है ब्रज की लट्ठमार होली, जानें इसके शुरू होने से लेकर खेलने तक की अनोखी परंपरा


घर में रखें शनि यंत्र (Shani Yantra)

अगर आप शनिदेव की कृपा पाना चाहते हैं तो शनि यंत्र को घर में रखें. इसकी रोज सुबह पूजा अर्चना करें. शनिदेव के मंत्रों का जाप करें. इससे शनिदेव प्रसन्न होते हैं. व्यक्ति को सुख और सौभाग्य बरसाते हैं. शनिदेव के आशीर्वाद से व्यक्ति के जीवन में आने वाली सभी परेशानी और कष्ट दूर हो जाते हैं. 

शनि चालीसा का करें पाठ (Shani Chalisa Path) 

अगर किसी व्यक्ति पर शनि की ढैय्या या साढ़े साती चल रही है तो घर शनि चालीसा लाकर रखें. इसका हर शनिवार सूर्यास्त होने के बाद पाठ करें. ऐसा करने से शनि की क्रूर दृष्टी से छुटकारा मिलता है. शनिदेव की कृपा प्राप्त होती है. 

नीलम रत्न धारण करें (Neelam Stone)

शनि देव का सबसे प्रिय रत्न नीलम होता है. ज्योतिष की मानें तो यह रत्न शनि के शुभ फल प्रदान करता है. हालांकि रत्न धारण करने से पहले किसी ज्योतिष से सलाह जरूर लेनी चाहिए. इसी के बाद इस रत्न को धारण करना चाहिए. इस रत्न को धारण करने मात्रा से व्यक्ति जीवन में शुभ प्रभाव दिखने लगते हैं. ग्रह कुंडली में शनि की स्थिति मजबूत होती है और व्यक्ति का भाग्य का द्वार चमक उठता है. 

 


Mahashivratri Puja 2024: महाशिवरात्रि पर भगवान शिव को जरूर चढ़ाये ये विशेष चीजें, प्रसन्न हो जाएंगे महादेव


हनुमान जी की तस्वीर (Hanuman Ji Picture)

पौराणिक मान्यता है कि जिस भी व्यक्ति पर शनि दोष या ढैय्या चल रही होती है. उसे घर में हनुमान जी की तस्वीर या प्रतिमा जरूर रखनी चाहिए. नियमित रूप से हनुमान जी की पूजा करनी चाहिए. इससे शनि दोष दूर हो जाएगा. इसकी वजह शनि देव का हनुमान जी को दिया हुआ वचन है, जिसमें शनिदेव ने अपने मित्र हनुमान जी को कहा था कि आपके भक्तों को मेरा दोष कभी नहीं सहना पड़ेगा. उन्हें शुभ फल प्रदान होंगे. 

भगवान शिव की प्रतिमा (Lord Shiva Picture)

शनिदेव महादेव को अपना गुरु मानते हैं. जिस जगह पर भगवान शिव की पूजा की जाती है. उनकी प्रतिमा स्थापित की जाती है. वहां पर शनिदेव कृपा बरसाते हैं. वह अपने गुरु की पूजा और सत्कार से प्रसन्न होकर व्यक्ति के जीवन से दुख और कष्टों को मिटा देते हैं. 

शमी का पेड़ लगाये (Shami Plant)

शमी के पेड़ का बड़ा महत्व है. ज्योतिष में इस पौधे को शनिदेव का प्रिय बताया गया है. कहा जाता है कि शमी के पौधे में शनिदेव का वास होता है. यह पौधा जिस भी घर में होता है. वहां शनिदेव कृपा करते हैं. शमी के पेड़ की पूजा अर्चना करने और धूप दीप दिखाने से ही शनिदेव कष्ट और दुखों का निवारण कर देते हैं. 

Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. डीएनए हिंदी इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

Advertisement

Live tv

Advertisement
Advertisement