Twitter
Advertisement
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Mahashivratri 2024: भगवान शिव के इस मंत्र जाप से रोग के साथ भय से मिलती है मुक्ति, जानें और भी फायदे

हिंदू धर्म में जप (Mantra Jaap) तप के साथ मंत्रों में बहुत बड़ी शक्ति होती है. इन मंत्रों के जाप से ही व्यक्ति का भाग्य चमकने से लेकर अकाल मृत्यु (Accidental Death) तक का भय खत्म हो जाता है. इस मंत्र (Lord Shiva Mantra) के जाप से व्यक्ति लाभ प्राप्त होता है. 

Latest News
article-main
FacebookTwitterWhatsappLinkedin

Mahamrityunjay Mantra Ke Labh: हिंदू धर्म में पूजा अर्चना करने के साथ ही मंत्र जाप का बड़ा महत्व है. मंत्र न सिर्फ भगवान से (Lord Shiva Mantra) जोड़ता है. इसका सकारात्मक प्रभाव जीवन पर पड़ता है. भगवान को प्रसन्न करने के लिए उनके अलग अलग मंत्र होते हैं. इन्हीं में से एक भगवान शिव का महामृत्युंजय मंत्र (Maha Mrityunjaya Mantra) है. महामृत्युंजय मंत्र बहुत ही शक्तिशाली मंत्रों (Lord Shiva Powerful Mantra) में से एक है. इसका अर्थ मृत्यु को जीतने वाला होता है. ज्योतिषाचार्य प्रीतिका मोजुमदार के अनुसार, महामृत्युंजय मंत्र के जाप मात्र से ही व्यक्ति के जीवन में रोग, दोष और भय खत्म हो जाता है, जो भी व्यक्ति नियमित रूप से महामृत्युंजय मंत्र का जाप करता है. उसकी काल मृत्यु नहीं होती. आइए जानते हैं इस मंत्र के और भी लाभ...

महामृत्युंजय मंत्र के जाप से महादेव प्रसन्न होते हैं. महादेव सभी दोष और कष्टों से मुक्त कर देते हैं. महाशिवरात्रि पर महादेव की पूजा अर्चना के दौरान महामृत्युंजय मंत्र के जाप (Maha Mrityunjaya Mantra Chanting Benefits) से विशेष कृपा प्राप्त होती हे. 

ये है महामृत्युंजय मंत्र

''ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम् । उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्''

यह है महामृत्युंजय मंत्र का अर्थ

महामृत्युंजय मंत्र का अर्थ है कि हम भगवान शिव की आराधन करते हैं, जिनके तीन नेत्र होते हैं., जो सुगंधित हैं और हमारा पोषण करते हैं. जिस प्रकार फल शाखा के बंधन से मुक्त हो जाता है. ठीक उसी तरह हम भी मृत्यु और नश्वरता से मुक्त हो जाएं.

ये हैं महामृत्युंजय मंत्र जप के लाभ

 


Numerology: इन तारीखों में जन्में लोग अपने जुनून को बनाते हैं करियर, जीवन में करते हैं खूब तरक्की


अकाल मृत्यु का भय हो जाता है दूर

शास्त्रों की मानें तो नियमित रूप से महामृत्युंजय मंत्र के जाप करने से ही अकाल मृत्यु का डर खत्म हो जाता है. गंभीर बीमारियों से लड़ने और उन्हें दूर करने की क्षमता आती है. घर से बाहर जाते समय इस मंत्र का जाप करने से नकारात्मकता दूर होती है और व्यक्ति के सभी काम बनते चले जाते हैं. 

सुख समृद्धि की होती है प्राप्ति

भगवान शिव के सबसे शक्तिशाली मंत्रों में से एक महामृत्युंजय मंत्र का नियमित जाप व्यक्ति के भाग्य को जागृत करता है. यह मनुष्य को धन से लेकर सुखा शांति और सौभाग्य की प्राप्ति कराता है. ​इस मंत्र के जाप से महादेव का आशीर्वाद प्राप्त होता है. कहा जाता है कि, जो भी व्यक्ति नियमित रूप से महामृत्युंजय मंत्र का जाप करता है. उसे आर्थिक तंगी से गुजरना नहीं पड़ता.  

आरोग्य की होती है प्राप्ति

कहा जाता है नियमित रूप से महामृत्युंजय मंत्र का जाप करने से व्यक्ति की उम्र बढ़ती है. उसे स्वास्थ से लेकर मानसिक रूप से होने वाला तनाव और बीमारियों से छुटकारा मिलता है. शरीर के अंदर पॉजिटिव एनर्जी आती है, जो व्यक्ति को बल और शक्ति प्रदान करती है. 

 


जीवन में पाना चाहते हैं सफलता तो रात को सोने से पहले जरूर करें ये काम, चमक जाएगी किस्मत


सम्मान और यश मिलता है

महामृत्युंजय मंत्र के जाप से व्यक्ति को अच्छे स्वास्थ और धन लाभ के साथ ही यश और सम्मान की प्राप्ति होती है. समाज में इन्हें एक अलग दर्जा मिलता है. 

संतान सुख  

संतान प्राप्ति की इच्छा रखने वाले साधकों को महामृत्युंजय मंत्र के जप की सलाह दी जाती है. उनके मंत्र जाप करने से ही व्यक्ति को संतान सुख की प्राप्ति होती है. संतान की वृद्धि होती है. संतान पर महादेव का आशीर्वाद बना रहता है. 

 Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. डीएनए हिंदी इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

देश-दुनिया की Latest News, ख़बरों के पीछे का सच, जानकारी और अलग नज़रिया. अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और वॉट्सऐप पर.

Advertisement

Live tv

Advertisement
Advertisement