Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Online Gaming: दीवाने हैं पबजी और अन्य गेम्स के तो संभल जाएं, ये हैं इनके Health Hazards

Online Gaming के ज़्यादा इस्तेमाल की वजह से नींद  ना आना  एक कॉमन प्रॉब्लम है. आंखों के अधिक इस्तेमाल करने के कारण नींद न आने की समस्या हो जाती है

article-main

आरती राय

Updated: May 31, 2022, 07:02 PM IST

Edited by

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी : किसी ज़माने में खेल इसलिए खेले जाते थे कि उनसे तनाव दूर हो, पर इन दिनों जो गेम्स खेले जा रहे हैं वे ज़रुर तनाव को बढ़ा देते हैं. आनलाईन गेमिंग(Online Gaming) के कारण दुनियाभर में ऐसा ही कुछ हो रहा है. लोगों के तनाव का स्तर बढ़ता जा रहा है. जानिए ऑनलाईन गेमिंग कैसे बाजार और आपके स्वास्थ्य को बदल रही है.

कितना बढ़ा है आनलाईन गेमिंग का बाजार

बीते कुछ सालो में एंड्राइड फ़ोन और हाई स्पीड इंटरनेट की वजह से  भारत सहित दुनिया के हर कोने में  ऑनलाइन गेमिंग(Online Gaming)  इंडस्ट्री ने काफी तरक्की की है. भारत में भी वीडियो गेम इंडस्ट्री  का कारोबार बहुत बड़ा है. एक अनुमान के मुताबिक, 2024 तक गेमिंग इंडस्ट्री की वैल्यू बढ़कर 25 हजार करोड़ पर पहुंच जाएगी. अलिबाबा, टेनसेंट, नजारा और युजु (Youzu) जैसी दिग्गज कंपनियों के साथ साथ कई बड़े स्टार्टअप्स भी अब गेमिंग प्लेटफार्म पर तरह- तरह की चीज़े ले कर आरहे है . IBEF के लेटेस्ट स्टडी के मुताबिक गेमिंग भारत में सबसे तेजी से बढ़ती इंडस्ट्री में से एक है. इस इंडस्ट्री ने साल 2019-20 में 40% की वृद्धि दर्ज की और 1.5 बिलियन अमेरिकी डॉलर का भारत में कारोबार किया है. IBEF की रिपोर्ट के मुताबिक ये आकड़ो इतनी तेज़ी से बढ़ रहे है की गेमिंग इंडस्ट्री 2025 तक यूएस $ 5 बिलियन को पार कर जाएगी.  भारतीय की गेमिंग इंडस्ट्री ने हाल ही में यूज़र्स के मामले में अमेरिका को पीछे छोड़ दिया है. अब भारत में 300 मिलियन से ज्यादा आनलाईन गेमर हो गए हैं.

ऑनलाईन गेमिंग कितनी खतरनाक

आजकल ज़्यादातर टीनेजर्स आपस में जब डिस्कशन करते है तो उनके बीच के टॉपिक में कही न कही ऑनलाइन गेम्स ने अपनी जगह ले ली है . खास कर लड़के जिनकी लाइफ में "हैशटैग कूल ब्रो  " का ख़िताब गेम्स में नया लेवल हासिल कर के मिलता है . ये गेम्स(Online Gaming) जितने ही इंट्रेस्टिंग होते है उतने ही  दिमाग को घूमा देने वाले भी हो सकते है . खासकर चैलेंज और वायलेंस से जुड़े हुए गेम्स टीनएजर्स के दिमाग पर अलग छाप छोड़ सकते है. कई ऑनलाइन गेम्स में पैसे का लेन-देन भी होता है जो कभी कभी बेहद खतरनाक और जानलेवा साबित हो सकता है . कई देशो के ऑनलाइन गेम के चैलेंज को पूरा करते हुए कई बड़ी  घटनाएं भी घट चुकी है.  भारत सहित कई देशो में PUBG  और ब्लू व्हेल (Blue Whale Challenge) जैसे गेम्स को युवाओ में बढ़ते हुए क्राईम और किशोरों की आत्महत्या के बाद बैन कर दिया.

WHO -  गेमिंग की लत, मानसिक स्वास्थ्य की एक समस्या

आर्थिक मोर्चे पर वीडियो गेम इंडस्ट्री ने नए आयाम पेश किए हैं तो वहीं स्वास्थ्य के लिहाज से इसने पूरे देश के लिए एक बड़ी चुनौती खड़ी की है.इसमें कोई दो राय नहीं कि ऑनलाइन गेम(Online Gaming) के दुष्प्रभाव इसके फायदों से कहीं ज्यादा हैं. जून 2018 में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने गेमिंग की लत को मानसिक स्वास्थ्य की एक समस्या के रूप में लिस्ट किया है. वही ऑनलाइन गेम्स  की आदत ने  बच्चो से ले कर किशोरों की आउटडोर एक्टविटी को एक दम खत्म कर दिया है.

ऑनलाईन गेमिंग कैसे आपको नुकसान पहुंचाती है

गेमिंग की लत बच्चों और बड़ो सभी पर असर डालती है . अगर आप ज़रुरत से ज़्यादा समय ऑनलाइन गेम्स को देते है .तो ये आपके मानसिक स्वास्थ के साथ साथ शारीरिक स्वास्थ्य को भी भारी नुकसान पहुंचाता है. मानसिक रोग विशेषज्ञ डॉक्टर निमेष देसाई के मुताबिक बच्चो और  टीनएजर्स पर नज़र रखने की ज़रुरत है .माता पिता को चाहिए कि एक हद तक ही टेक्नोलॉजी और गेम्स खेलने की इजाज़त दें बच्चो को, क्योंकि वायलेंस से भरे गेम्स टीनएजर्स के दिमाग पर गहरा असर डाल सकते है .

ऑनलाइन गेमिंग(Online Gaming) के ज़्यादा इस्तेमाल की वजह से नींद  ना आना  एक कॉमन प्रॉब्लम है. आंखों के अधिक इस्तेमाल करने के कारण नींद न आने की समस्या हो जाती है .ऑनलाइन गेमिंग की वजह से  डिप्रेशन और तनाव की भी समस्या हो सकती है. ज़्यादा वीडियो गेम्स खेलने वाले लोग डिप्रेशन और तनाव में रहती हैं क्योंकि  गेमर्स  वर्चुअल दुनिया से कनेक्ट हो जाती हैं और असली दुनिया को समझ नहीं पाते उन्हें नकली दुनिया में ही अपनी असली दुनिया दिखाई देने लगती है. गेम के अंदर के लोग ही उन्हें अपने लगने लगते हैं ऐसे में बाहर की दुनिया और बाहर के लोग उनके लिए डिप्रेशन और तनाव पैदा करते हैं .

क्या है नया गेम "अंडरवर्ल्ड गैंग वॉर"

भारत में हाल ही में लांच हुए एक नए गेम " अंडरवर्ल्ड गैंग वॉर" ने लॉन्चिंग के साथ ही खूब पब्लिसिटी पा ली है . इस गेम के आने से पहले ही इसकी पॉपुलैरिटी का अंदाजा ये है कि महज़  ट्रेलर ने सोशल मीडिया लॉन्चिंग के साथ  3 मिलियन व्यूज से ज़्यादा हो गए. ये गेम 22 मई को एंड्राइड पर लांच हुआ है .  इस गेम का कांसेप्ट वायलेंस से भरा है . स्पोर्ट्स कंपनी एमपीएल का कहना है कि ये एक बैटल रॉयल गेम है जिसमें मार-धाड़, बंदूक, बम, छुपने, लड़ने के साथ भरपूर हिंसा है. इसमें ऑनलाइन कई खिलाड़ी लड़ते है और जो अंत में बच जाता है .वो विनर होता है.

Hyperthermia है गर्मियों की खतरनाक बीमारी, ऐसे करें इससे बचाव

क्या है ब्लू व्हेल (Blue Whale Challenge)    

ऑनलाइन गेम ब्लू व्हेल इस मामले में एक खूनी वीडियो गेम साबित हो चुका है. इसमें बच्चों को 50 टास्क पूरे करने के लिए कहा जाता था. टास्क के अंतिम दिन वीडियो गेम में उनसे अपनी जिंदगी खत्म करने के लिए कहा जाता था.

पबजी गेम क्या है? (PUBG kya hai)

पबजी गेम ऑनलाइन चैटिंग खेलने का एक मोबाइल गेम है. Mobile video game PUBG  में एक साथ 100 खिलाडी ऑनलाइन जुड़ सकते है. एक map के अंदर खेलने की दी गई आजादी, लोगों को इस खेल की ओर आकर्षित करती है. इस खेल में गेमर को एक सीमित क्षेत्र (मैप) के अंदर छोड़ दिया जाता है और इनमें से जो एक खिलाड़ी या एक ग्रुप आखिरी में बचता है वही विजेता कहलाता है.

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों पर अलग नज़रिया, फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv