Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Udaipur Murder case: आतंकियों ने कर्रवाई थी रियाज की शादी, राजस्थान में ISIS के लिए खड़ा कर रहे थे स्लीपर सेल!

Udaipur Murder case: राजस्थान के उदयपुर में दर्जी कन्हैयालाल की हत्या करने वाले मोहम्मद रियाज जब्बार और गौस मोहम्मद को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है. ये दोनों राजस्थान के कई जिलों में खूंखार अंतरराष्ट्रीय आतंकी संगठन ISIS के लिए स्लीपर सेल बना रहे थे...

article-main

मोहम्मद गौस और मोहम्मद रियाज

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिन्दी: उदयपुर (Udaipur) में दर्जी कन्हैयालाल की हत्या करने वाले मोहम्मद रियाज (Mohammad Riyaz) और गौस मोहम्मद (Mohammed Ghaus) को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है. ये दोनों राजस्थान के कई जिलों में खूंखार अंतरराष्ट्रीय आतंकी संगठन ISIS के लिए स्लीपर सेल बना रहे थे. मोहम्मद रियाज और गौस ने पाकिस्तान के कराची में आतंक की ट्रेनिंग भी ली थी. उसी दौरान ये पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन दावत-ए-इस्लाम के संपर्क में आए थे. इसी संगठन ने रियाज की शादी भी करवाई थी. गौरतलब है कि राजस्थान में उदयपुर के पहले जोधपुर और बूंदी में इस तरह की घटनाएं हो चुकी हैं. इन घटनाओं से यहां से आम लोग डरे हुए हैं.

दैनिक भास्कर में छपी खबर के मुताबिक, दोनों के परिजनों से जब पुलिस ने पूछताछ की तो राजस्थान में बड़ी आतंकी साजिश का खुलासा हुआ है. मोहम्मद रियाज 20 साल पहले उदयपुर आ गया था और यहीं पर उसकी दोस्ती मोहम्मद गौस से हुई थी. उदयपुर में रहते हुए दोनों एक मौलाना के संपर्क में आए. मौलाना ने इनका ब्रेनवॉश कर आतंकी ट्रेनिंग के लिए पाकिस्तान भेज दिया.

यह भी पढ़ें, उदयपुर में हिंदू टेलर के मर्डर का अजमेर कनेक्शन, शक के दायरे में यह संगठन

शुरुआती जांच में पता चला है कि दोनों ने प्रदेश के कई जिलों में गरीब और बेरोजगार युवाओं को उकसाकर स्लीपर सेल से जोड़ रहे थे. इस काम के लिए अरब देशों से फंडिंग हो रही थी और इनको पाकिस्तान से निर्देशित किया जा रहा था.

सूत्रों की मानें तो 2014 में मोहम्मद रियाज और मोहम्मद गौस करीब 30 लोगों के साथ आतंकी ट्रेनिंग के लिए कराची गए थे. वहां इनकी ट्रेनिंग करीब 45 दिन तक चली थी. वहां इनका संपर्क दावत-ए-इस्लाम और तहरीक-ए-लब्बैक जैसे संगठनों से हुआ.

यह भी पढ़ें, मृतक कन्हैया की पत्नी का बड़ा बयान, कहा- हत्यारों को दो फांसी वरना और किसी को मार देंगे

ट्रेनिंग से लौटने के बाद रियाज और गौस मुस्लिम नौजवानों को दूसरे धर्म के लोगों पर हमला करने के लिए उकसाता था. इसके लिए ये वीडियो का इस्तेमाल करते थे. ये मुस्लिम समाज के बदमाशों को भी अपने साथ जोड़ते थे. 

पूछताछ में जांच एजेंसियों को पता चला है कि इन्हें सऊदी अरब के सलमान और अबू इब्राहिम ने नूपुर शर्मा के बयान के बाद 'मिसाल कायम' करने को कहा था. इसी के बाद इन्होंने उदयपुर में कई लोगों के साथ मीटिंग भी की थी और 20 जून को कन्हैयालाल को मारने का प्लान बनाया था, लेकिन किसी कारणवश 20 जून को इनका प्लान फेल कर गया. ये दोनों पाकिस्तान में बैठे कुछ लोगों से लगातार संपर्क में थे. NIA इस मामले की जांच कर रही है.

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों पर अलग नज़रिया, फ़ॉलो करें डीएनए  हिंदी गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv