Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Uttarakhand: ऋषिगंगा बाढ़ के साल भर बाद एक और शव बरामद, 104 अभी भी लापता

एक साल पहले ऋषिगंगा में आई भीषण बाढ़ के मृतकों में से एक शव आज बरामद किया गया है. तपोवन विष्णुगाड जलविद्युत परियोजना टनल की सफाई के दौरान शव मिला है. 

article-main

स्मिता मुग्धा

Updated: Feb 21, 2022, 11:56 PM IST

Edited by

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी: उत्तराखंड के ऋषिगंगा में करीब साल पहले भयंकर बाढ़ आई थी जिसमें 206  लोगों की मौत हुई थी. 104 लोगों के शव अभी तक नहीं मिले हैं. बहुत से मृतकों का शव उस वक्त बरामद नहीं किया जा सका था. आज एनटीपीसी की तपोवन विष्णुगाड जलविद्युत परियोजना टनल की सफाई के दौरान एक शव बरानद किया गया है. मृतक की पहचान किमाना गांव के रोहित भंडारी के तौर पर हुई है. पुलिस ने शव को फिलहाल पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. 

पिछले साल आई थी बाढ़
पिछले साल 7 फरवरी को उत्तराखंड के चमोली में ऋषिगंगा में बाढ़ की वजह से जान-माल का काफी नुकसान हुआ था. इस हादसे में ऋषिगंगा पावर प्रोजेक्ट पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया था. एनटीपीसी के निर्माणाधीन तपोवन विष्णुगाड जलविद्युत परियोजना की टनल में भारी मात्रा में मलबा भर गया था. इस मलबे को निकालने का काम अभी तक चल रहा है. हादसे में 206 लोगों की मौत हुई थी. 104 लोगों का शव अब तक बरामद नहीं हुआ है. 

पढ़ें: Hijab Row पर अमित शाह का बड़ा बयान, स्कूल का ड्रेस कोड सबको मानना चाहिए

टनल की सफाई में मिले हैं शव
टनल में मलबा भर जाने की वजह से सफाई का काम जारी है. इसी सफाई के दौरान शव मिले हैं. पिछले महीने भी यहां 2 शव बरामद किए गए थे. अब तक कुल 36 शव बरामद किए गए हैं जिनमें से कुछ की पहचान की पुष्टि अभी नहीं हुई है. टनल की सफाई का काम अभी भी जारी है. 

ग्लेशियर फटने से हुआ था हादसा
यह हादसा ऋषिगंगा नदी में एक ग्लेशियर के फटने से हुआ था. ग्लेशियर फटने की वजह से भारी मात्रा में बाढ़ आ गई थी. इस त्रासदी में 206 लोगों की मौत हुई थी जिसमें से दर्जनों का शव अब तक नहीं मिल सका है. 

पढ़ें: Pakistan की महिला 5 साल भारतीय जेल में बिताने के बाद लौटेगी अपने देश, जानें क्या है पूरा केस 

हमसे जुड़ने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर आएं और डीएनए हिंदी को ट्विटर पर फॉलो करें.

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv