Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Earthquake: जयपुर में लगे भूकंप के झटके, 3.8 थी तीव्रता, घरों से निकले लोग

राजस्थान के जयपुर समेत कुछ इलाकों में सुबह भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं. हालांकि किसी जानमाल के नुकसान की कोई खबर नहीं है.

article-main

डीएनए हिंदी वेब डेस्क

Updated: Feb 18, 2022, 10:55 AM IST

Edited by

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदीः राजस्थान की राजधानी जयपुर (Jaipur) में आज शुक्रवार सुबह भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं. नेशनल सेंट फॉर सीस्मोलॉजी के मुताबिक, भूकंप सुबह करीब 8.01 बजे जयपुर में महसूस किया गया. राजस्थान से 92 किलोमीटर उत्तर-पश्चिम में भूकंप की तीव्रता 3.8 मापी गई. भूकंप के झटकों को सीकर और फतेहपुर में भी महसूस किया गया. लोगों को करीब 3 सेकेंड तक भूकंप के झटकों का अहसास हुआ.

5 फरवरी को भी आया था भूकंप  
5 फरवरी को जम्मू-कश्मीर में भूकंप के तेज झटके महसूस किये गए थे. रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 5.7 मापी गई थी. बताया गया था कि भूकंप का एपीसेंटर अफगानिस्तान-तजाकिस्तान बॉर्डर पर था. इसके झटकों को दिल्ली और आसपास के इलाकों तक महसूस किया गया था. गुरुवार को भी जम्मू कश्मीर में भूकंप के झटके महसूस हुए थे. 

यह भी पढ़ेंः सीमापुरी में IED को डिफ्यूज करने के लिए NSG ने ऐसे चलाया ऑपरेशन, थोड़ी भी होती चूक तो...

क्यों आता है भूकंप?
धरती मुख्य तौर पर चार परतों से बनी हुई है. इसमें इनर कोर, आउटर कोर, मैन्टल और क्रस्ट कोर. क्रस्ट और ऊपरी मैन्टल कोर को लिथोस्फेयर के नाम से जाना जाता है. ये 50 किलोमीटर की मोटी परत कई वर्गों में बंटी हुई है. इसे टैकटोनिक प्लेट्स कहा जाता है. ये टैकटोनिक प्लेट्स अपनी जगह पर हिलती-डुलती रहती हैं. जब ये प्लेट बहुत ज्यादा हिलने लगती है तो उसे भूकंप कहते हैं. 

ऐसे मापी जाती है भूकंप की तीव्रता
भूकंप की तीव्रता को मापने के लिए रिक्टर स्केल का पैमाना इस्तेमाल किया जाता है. अभी तक भूकंप की अधिकमत तीव्रता तय नहीं हो पाई है. हालांकि रिक्टर स्केल पर 7.0 या उससे अधिक की तीव्रता वाले भूकंप को सामान्य से खतरनाक माना जाता है. इसी पैमाने पर 2 या इससे कम तीव्रता वाला भूकंप सूक्ष्म भूकंप कहलाता है जो ज्यादातर महसूस नहीं होते हैं. 4.5 की तीव्रता का भूकंप घरों को क्षतिग्रस्त कर सकता है. रिक्टर स्केल पर भूकंप को 1 से 9 तक के अंकों के आधार पर मापा जाता है. भूकंप को इसके केंद्र यानी एपीसेंटर से मापा जाता है. 

(हमसे जुड़ने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर आएं और डीएनए हिंदी को ट्विटर पर फॉलो करें.)

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv