Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

CBI जांच के बीच बीरभूम जिले में मिले 40 देसी बम 

बीरभूम के रामपुरहाट इलाके में TMC नेता भादु शेख की हत्या के बाद भीड़ ने घरों में आग दी थी.

article-main

पुष्पेंद्र शर्मा

Updated: Mar 26, 2022, 10:38 PM IST

Edited by

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी: बीरभूम जिले के रामपुरहाट के मारग्राम में शनिवार को 40 देसी बम बरामद किए गए. बीरभूम के पुलिस अधीक्षक (एसपी) नागेंद्र नाथ त्रिपाठी ने कहा कि बमों को चार बाल्टियों में छिपाकर एक निर्माणाधीन घर के पीछे रखा गया था. उन्होंने बताया कि जांच शुरू कर दी गई है. बम मिलने की यह घटना बीरभूम हिंसा के बाद सामने आई है. बीरभूम हिंसा में आठ लोगों की जलकर मौत हो गई थी. 

पश्चिम बंगाल के बीरभूम के रामपुरहाट इलाके में मंगलवार को तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) नेता भादु शेख की हत्या के बाद भीड़ ने घरों में आग दी थी. इसमें कुल आठ लोगों की मौत हो गई थी. मामले की जांच सीबीआई कर रही है. इससे पहले दिन में सीबीआई की 30 सदस्यीय टीम रामपुरहाट पहुंची और हिंसा की जांच शुरू की. 

Birbhum violence: क्या है बीरभूम का मामला? जानिए क्यों भड़की थी हिंसा

सीबीआई ने शुरू की जांच 
शुक्रवार देर रात रामपुरहाट पहुंची सीबीआई की टीम ने शनिवार सुबह डीआइजी रैंक के एक अधिकारी के नेतृत्व में जांच शुरू की. सीबीआई के एक अधिकारी ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया, हमने जांच शुरू कर दी है. हमें जल्द से जल्द जांच करनी है क्योंकि इसकी समय सीमा है. तीन समूहों में बांटते हुए डीआइजी अखिलेश सिंह के नेतृत्व में सीबीआई की एक टीम ने गांव के पुरबापारा इलाके का दौरा किया जहां मंगलवार तड़के नरसंहार हुआ था. 

उन्होंने बोगटुई में लगभग पांच घंटे बिताए जहां वे सबसे पहले सोनू शेख के घर गए, जहां से सात जले हुए शव मिले. सीबीआई ने सोनू शेख के घर और उसमें जले हुए अवशेषों की जांच की और फिर फातिक शेख और मिहिलाल शेख सहित पड़ोसी के घरों में गए.

Birbhum Violence पर चुप क्यों हैं सियासी पार्टियां, क्यों बड़े दलों ने किया है किनारा?

वीडियोग्राफी करने के अलावा सीबीआई के अधिकारियों ने केंद्रीय फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला (सीएसएफएल) कर्मियों के साथ क्षेत्र की 3डी स्कैनिंग की और मौके से नमूने एकत्र किए. एक अन्य अधिकारी ने कहा, इस बात की भी जांच की गई कि क्या आग घरों के बाहर के लोगों ने लगाई थी या घटना के पीछे कोई और कारण था या नहीं. 

West Bengal: TMC नेता की हत्या के बाद बीरभूम में बवाल! जले हुए मकानों से सात लोगों के शव बरामद

लिस्ट की जा रही है तैयार 
उन्होंने कहा कि घटना के चश्मदीदों से बात करेंगे और इलाके के सभी निवासियों की लिस्ट तैयार की जा रही है. गवाहों और अन्य ग्रामीणों से बात करना आवश्यक है. हम स्थानीय निवासियों की एक सूची तैयार कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि सीबीआई के अधिकारी जांच के लिए बीरभूम जिले में ही रहेंगे. सीबीआई अधिकारियों ने शनिवार को आईजी (बर्धमान रेंज) बी एल मीणा और बीरभूम जिले के पुलिस अधीक्षक नागेंद्र त्रिपाठी के साथ भी बैठक की. 

गूगल पर हमारे पेज को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें. 
 

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv