Twitter
Advertisement
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

UP Board Paper Leak: यूपी बोर्ड पेपर लीक मामले में बड़ा एक्शन, 2 लोग गिरफ्तार, मुख्य आरोपी अभी भी फरार

UP Board Paper Leak: पुलिस ने बताया कि पेपर शुरू होते ही मुख्य आरोपी विनय चौधरी ने प्रश्न पत्र WhatsApp ग्रुप पर डाला था. लेकिन कुछ देर बाद उसने डिलीट कर दिया था.

Latest News
article-main

Representative Image

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

उत्तर प्रदेश में हजारों लाखों छात्र-छात्राओं की मेहनत पर एक बार फिर पानी फिर गया. पूरी साल घंटो पढ़ाई करके यूपी बोर्ड 12वीं की परीक्षा देने पहुंचे छात्रों को जब पता चला कि उनका पेपर सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है तो वह मयूस हो गए. दरअसल, 29 फरवरी को यूपी बोर्ड 12वीं का जीव विज्ञान और गणित का पेपर था. लेकिन परीक्षा शुरू होने से पहले ही पेपर लीक (UP Board Paper Leak) हो गए. इस मामले में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है, जबकि मुख्य आरोपी अभी भी फरार है.

यूपी बोर्ड इंटरमीडिएट के ये दोनों पेपर आगरा से लीक हुए हैं. पुलिस ने इस मामले में केंद्र व्यवस्थापक राजेंद्र सिंह उर्फ हुड्डा और अतिरिक्त केंद्र व्यवस्थापक गंभीर सिंह को गिरफ्तार किया है. जपकि पेपर को लीक करने वाला मुख्य आरोपी विनय चौधरी अभी भी फरार है. विनय कॉलेज में कंम्यूटर ऑपरेटर का काम देखता था. वह कॉलेज प्रबंधक का बेटा बताया जा रहा है.

पुलिस ने बताया कि पेपर शुरू होते ही विनय चौधरी ने प्रश्न पत्र WhatsApp ग्रुप पर डाला था. लेकिन कुछ देर बाद उसने डिलीट कर दिया. लेकिन तब तक पेपर सोशल मीडिया पर वायरल हो चुका था. इसकी भनक लगते ही विनय ग्रुप से एग्जिट हो गया और अपना मोबाइल बंद कर फरार हो गया. पुलिस उसे पकड़ने के लिए जगह-जगह दबिश दे रही है.


ये भी पढ़ें- बेंगलुरु के फेमस रामेश्वरम कैफे में धमाका, कई लोग गंभीर रूप से घायल, जांच में जुटी पुलिस


दो लोग गिरफ्तार
इस पेपर लीक मामले की जांच अरीब अहमद को सौंपी गई है. अरीब अहमद ने कहा कि DIOS ने थाना फतेहपुर सीकरी में तहरीर दी थी. उन्होंने आरोप लगाया था कि अंतर सिंह इंटर कॉलेज के कंप्यूटर ऑपरेटर विनय चौधरी ने बायोलॉजी और मैथ के पेपर व्हाट्सएप ग्रुप पर वायरल कर दिए हैं. तहरीर मिलने के बाद पुलिस तुरंत एक्शन में आई और केंद्र के व्यवस्थापक और अतिरिक्त केंद्र व्यवस्थापक को गिरफ्तार कर लिया. ये दोनों एग्जाम सेंटर पर तैनात थे.

UP Police Exam हुआ था लीक
बता दें कि इससे पहले 18 फरवरी 2024 को राज्य में यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती का पेपर लीक (UP Police Paper Leak) हो गया था. जिसके बाद परीक्षा को रद्द करने का फैसला किया गया. अब यह परीक्षा 6 महीने बाद होगी.

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर. 

Advertisement

Live tv

Advertisement
Advertisement