Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Shraddha Murder Case: सूखेगा तालाब तभी खुलेंगे श्रद्धा मर्डर केस के राज? आफताब के दावे का सच खंगाल रही पुलिस

दिल्ली पुलिस श्रद्धा मर्डर केस की जांच के लिए महाराष्ट्र गई. इस दौरान अलग-अलग जगह से पुलिस को अहम सबूत मिले हैं.

article-main

श्रद्धा मर्डर मामले में आरोपी आफताब को तिहाड़ जेल में रखा गया है.

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी: श्रद्धा वलकर मर्डर केस (Shraddha Murder Case) में पुलिस की जांच जैसे-जैसे तेज हो रही है वैसे वैसे ही इसकी पेचीदगी भी बढ़ती ही जा रही है. इस हत्याकांड का आरोपी भले ही पुलिस की गिरफ्त में हो लेकिन वह कुछ भी सही से नहीं बोल रहा है. ऐसे में अब यह खबरे आई हैं कि श्रद्धा की हत्या का शव आफताब ने हत्या के बाद तालाब में फेंका था, इसके चलते पुलिस ने छतरपुरल एनक्लेव में स्थित तालाब को खाली कराने के लिए नगर निगम को आदेश दिया है. इसके साथ ही पुलिस फोर्स इस केस में एक-एक पहलू की गहनता से जांच कर रही है. तालाब से पानी निकाला जा रहा है. तालाब सूखने के बाद ही श्रद्धा के सिर की तलाशा जा सकता है. 

जंगल से मिली खोपड़ी की हड्डियां

दिल्ली पुलिस ने महरौली हत्याकांड की शिकार श्रद्धा वालकर के अवशेष का तलाशी अभियान तेज करते हुए रविवार को एक वन क्षेत्र से खोपड़ी के कुछ हिस्से और कुछ हड्डियां बरामद की तथा दक्षिण दिल्ली के मैदानगढ़ी में एक तालाब खाली करने के लिए टीम तैनात कीं हैं.  

17 टुकड़े हो चुके हैं बरामद

जानकारी के मुताबिक श्रद्धा के शव के 35 टुकड़े करने वाले आफताब के जरिए अब तक दिल्ली पुलिस को जंगलों से अलग-अलग किस्म की हड्डियों के 17 टुकड़े मिल चुके हैं. इन सभी की जांच की जा रही है. फोरेंसिक एक्सपर्ट्स का कहना है कि इनको देखकर आसानी से पहचाना जा सकता है कि ये इंसान की हैं. हालांकि इन हड्डियों को श्रद्धा की हड्डियां साबित करना अभी भी एक बड़ी चुनौती है. इसके लिए डीएनए टेस्ट कराया जा रहा है. फोरेंसिक टीम के मुताबिक इन हड्डियों में एक फेमर बोन है, यानी वो हड्डी जिसे हम आम बोलचाल की भाषा में जांघ की हड्डी या थाई बोन कहते हैं. 

Shraddha Case: महरौली के जंगलों से मिली हड्डियों का क्या है राज? पुलिस भी देख रह गई दंग

इस मामले की जांच में दिल्ली पुलिस महाराष्ट्र के पालघर में पहुंची. यहां दिल्ली पुलिस की एक टीम ने श्रद्धा हत्या मामले में बयान दर्ज कराने के लिए तीन लोगों को बुलाया. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि वसई अपराध शाखा कार्यालय में बयान दर्ज करने की प्रक्रिया चल रही है. अधिकारी ने बयान दर्ज कराने वालों का बिना नाम लिए बताया कि तीनों व्यक्ति श्रद्धा को जानते थे और उसके काफी क्लोज रहे हैं. 

दिल्ली पुलिस की टीम ने जिनसे पूछताछ की है उसको लेकर सामने आया है कि वे काफी करीबी लोग थे. यहां के माणिकपुर में श्रद्धा और आफताब दिल्ली जाने से पहले रुके थे. अधिकारियों के मुताबिक शनिवार को दिल्ली पुलिस की टीम ने पालघर में जिन चार लोगों के बयान दर्ज किए, उनमें दो पुरुष भी शामिल थे. श्रद्धा ने इनसे 2020 में आफताब द्वारा मारपीट किए जाने के बाद सहायता मांगी थी. इन्हें श्रद्धा ने बताया भी था कि  मारपीट के बाद उसे कितनी चोटें भी लगी हैं. 
'पहले किए शव के 35 टुकड़े, फिर जलाए श्रद्धा के सारे फोटो', आरोपी आफताब का खुलासा

इसके अलावा अब दिल्ली पुलिस पांच राज्यों में अलग-अलग स्थानों पर आफताब को ले जाने की प्लानिंग कर रही है जिससे श्रद्धा मर्डर केस से जुड़ा एक एक सुराख मिल सके और आफताब के खिलाफ एक मजबूत केस बनाया जा सके. हालां कि दिल्ली पुलिस को आफताब का नार्को टेस्ट करने की परमिशन भी मिल चुकी है जो कि जल्द ही किया जा सकता है. 

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर. 

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv