Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

PM मोदी 30 अक्टूबर को वडोदरा में रखेंगे सी-295 मिलिट्री ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट प्लांट की आधारशिला, जानें इसकी खासियत

C-295 Transport Aircraft: टाटा और एयरबस मिलकर इस विमान का निर्माण करेंगी. इस प्रोजेक्ट पर 21 हजार करोड़ से अधिक रुपये खर्च होंगे. 

article-main

C295 विमान का निर्माण वडोदरा में होगा.

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदीः भारत में अब मिलिट्री ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट का भी निर्माण होगा. टाटा ग्रुप गुजरात के वडोदरा में एक मैन्यूफेक्चरिंग यूनिट लगाने जा रहा है जिसमें अत्याधुनिक विमानों का निर्माण किया जा सकेगा. इस प्लांट को विदेशी कंपनी एयरबस के सहयोग से तैयार किया जा रहा है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 30 अक्टूबर को इस मैन्यूफेक्चरिंग यूनिट की आधारशिला रखेंगे. इस प्लांट में सी-295 मिलिट्री ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट का निर्माण होगा. 'मेक इन इंडिया' और घरेलू विमानन निर्माण को बढ़ावा देने के लिए इस परियोजना की शुरुआत की जा रही है. 

21 हजार करोड़ से अधिक होंगे खर्च 
जानकारी के मुताबिक पहली बार ऐसा हो रहा है कि सी-295 विमान का निर्माण यूरोप के बाहर किया जाएगा. इतना ही नहीं इस प्रोजेक्ट के तहत पहली बार किसी निजी कंपनी द्वारा सैन्य विमान का निर्माण भारत में किया जाना है. इस प्रोजेक्ट पर 21,935 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं. इस विमान का उपयोग नागरिक उद्देश्यों के लिए भी किया जा सकता है. 30 अक्टूबर को प्रधानमंत्री मोदी के साथ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्रभाई पटेल शामिल होंगे. 

ये भी पढ़ेंः दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने जारी की एडवाइजरी, इन रास्तों पर निकलने से पहले डाल लें नजर

56 विमानों का होगा निर्माण 
प्रोजेक्ट के तहत कुल 56 विमानों का निर्माण किया जाएगा. बता दें कि सुरक्षा संबंधी कैबिनेट समिति ने 8 सितंबर, 2021 को एयरबस डिफेंस एंड स्पेस एसए, स्पेन से 56 सी-295 मेगावाट परिवहन विमान की खरीद को मंजूरी दी थी. इस प्रोजेक्ट में वायुसेना को एयरबस कंपनी के 56 मीडियम-लिफ्ट मिलिट्री ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट्स, सी-295 मिलेंगे, जिसमें से 16 एयरक्राफ्ट सीधे एयरबस से खरीदे जाएंगे, बाकी 40 टाटा‌ एडवां‌स कंपनी के साथ भारत (वडोदरा) में ही बनाए जाएंगे.

क्या है सी-295 विमान की खासियत  
यह मालवाहक विमान के तौर पर उपयोग किया जाता है. विमान में करीब 6 टन का पेयलोड ले जा सकता है. यह विमान करीब 11 घंटे तक उड़ान भर सकता है. विमान में 71 सैनिक या 50 पैराट्रूपर्स एकसाथ ले जाए जा सकते हैं. मौजूदा समय में भारत के पास इस रेंज में सिर्फ एवरो एयरक्राफ्ट हैं. यह विमान भी काफी पुराने हो चुके हैं. सी-295 इन्हीं विमानों की जगह लेगा.   

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर. 

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv

पसंदीदा वीडियो