Twitter
Advertisement
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Nafe Singh Rathee Murder: हरियाणा सरकार ने CBI को सौंपी नफे सिंह हत्याकांड की जांच, हिरासत में 2 संदिग्ध

Nafe Singh Rathee Murder: हरियाणा के झज्जर जिले के बहादुरगढ़ में कुछ अज्ञात हमलावरों ने INLD स्टेट चीफ नफे सिंह राठी और पार्टी के एक अन्य कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या कर दी थी.

Latest News
article-main

Nafe Singh Rathee Murder Case

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

हरियाणा के कद्दावर नेता और इंडियन नेशनल लोकदल (INLD) के प्रदेश अध्यक्ष नफे सिंह राठी की हत्या (Nafe Singh Rathee Murder Case) की जांच सीबीआई को सौंप दी गई है. हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने सोमवार को विधानसभा में इसका ऐलान किया है. उन्होंने कहा कि सरकार इस मामले की जांच के लिए हर तरह के सहयोग के लिए तैयार है. डीसी शक्ति सिंह और एसपी अर्पित जैन ने कहा कि पुलिस की 8 टीमें घटित की गई हैं. दो संदिग्धों को हिरासत में लिया है. जिनसे पूछताछ की जा रही है.

गृह मंत्री अनिल विज ने विधानसभा में कहा, ‘अगर सदन सिर्फ CBI जांच से संतुष्ट है तो मैं सदस्यों को आश्वासन देता हूं कि हम मामला सीबीआई को सौंप देंगे.’ सदन की कार्रवाई की शुरुआत में, विपक्षी दल कांग्रेस ने नफे सिंह राठी की हत्या का मुद्दा उठाया और घटना की जांच हाईकोर्ट के न्यायाधीश से या फिर सीबीआई से कराने की मांग की. ऐसे में विधानसभा अध्यक्ष ने कानून-व्यवस्था पर स्थगन प्रस्ताव स्वीकार कर लिया. प्रश्नकाल के तुरंत बाद, कांग्रेस सदस्यों ने यह मुद्दा उठाया और कानून-व्यवस्था पर चर्चा की मांग की.

दिल्ली से सटे हरियाणा के झज्जर जिले के बहादुरगढ़ में रविवार को कुछ अज्ञात हमलावरों ने INLD स्टेट चीफ नफे सिंह राठी और पार्टी के एक अन्य कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या कर दी थी. लोकसभा चुनाव से कुछ हफ्तों पहले हुए इस हमले को लेकर विपक्षी दलों ने बीजेपी पर निशाना साधा. उन्होंने मनोहर लाल खट्टर सरकार पर कानून-व्यवस्था खराब होने का आरोप लगाया.

12 लोगों पर मुकदमा दर्ज 
पुलिस ने इस मामले में हरियाणा के एक पूर्व विधायक और 11 अन्य के खिलाफ FIR दर्ज की है. पुलिस ने पूर्व विधायक नरेश कौशिक, कर्मबीर राठी, रमेश राठी, सतीश राठी, गौरव राठी, राहुल और कमल के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज की है. इनके अलावा पांच अज्ञात लोगों का भी एफआईआर में उल्लेख किया गया है. हत्या समेत भारतीय दंड संहित (आईपीसी) की विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया गया है.


ये भी पढ़ें- जब बंदूक की नोक पर Pankaj Udhas को सुनानी पड़ी थी गजल, क्या था वो किस्सा 


नफे सिंह राठी के परिजनों ने हत्या के दोषियों की गिरफ्तारी होने तक उसके शव का अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया. वहीं, मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि वारदात में शामिल एक भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा. उन्होंने कहा कि पुलिस को आरोपियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने और कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने के लिए कहा गया है.

इनेलो के वरिष्ठ नेता अभय सिंह चौटाला ने भाजपा नीत सरकार पर आरोप लगाया कि राठी की जान को खतरा होने के बावजूद सरकार उन्हें सुरक्षा मुहैया कराने में विफल रही. उन्होंने घटना की सीबीआई जांच की भी मांग की. कांग्रेस और आम आदमी पार्टी (आप) ने भी इस घटना को लेकर खट्टर सरकार पर निशाना साधा.

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

Advertisement

Live tv

Advertisement
Advertisement