Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

धरती पर सूरज बनाने में जुटी है यह वैज्ञानिक, जानें कौन हैं Sejal Shah और क्या है इनका ये खास एक्सपेरिमेंट

Indian Scientist Sejal Shah: न्यूक्लियर फ्यूजन से जुड़े एक एक्सपेरिमेंट के जरिए वैज्ञानिक सेजल शाह धरती पर सूरज बनाने की कोशिश में लगी हैं. इससे दुनिया भर की ऊर्जा जरूरतों का हल निकल सकता है.

article-main

Sun on Earth

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी: अंतरिक्ष और इसके बाहर की दुनिया हमेशा हमारे लिए आश्चर्य का विषय रही है. इस दुनिया के बारे में हम जितना जानते हैं वैज्ञानिकों के अध्ययन की वजह से ही जानते हैं. ऐसी ही एक वैज्ञानिक इन दिनों चर्चा में हैं. नाम है सेजल शाह (Sejal Shah). सेजल एक ऐसा प्रयोग कर रही हैं जिसके जरिए वह धरती पर ही सूरज बना देंगी.सेजल गांधीनगर स्थित इंस्टीट्यूट फॉर प्लाज्मा रिसर्च (IPR) में साइंटिस्ट हैं.

धरती पर सूरज बनाने वाली हैं सेजल
अब सेजल अपनी नॉलेज और दिमाग का इस्तेमाल कर धरती पर सूरज का निर्माण करने की तैयारी में हैं. इस प्रयोग की सबसे अच्छी बात यह है कि इसके जरिए धरती की ऊर्जा की जरूरतें पूरी होंगी. बेशक धरती पर ऊर्जा निर्माण के कई स्रोत हैं, लेकिन उनमें से अधिकतर की वजह से ग्रीनहाउस गैसों की अत्यधिक मात्रा पैदा होती है. यह हमारे पर्यावरण के लिए खतरनाक है. 

ये भी पढ़ें-  Supermoon 2022: जानिए कब दिखेगा इस साल का सबसे बड़ा चंद्रमा, जानिए क्यों है इतना खास

इस समस्या का हल सूर्य से मिलने वाली ऊर्जा में ही मौजूद है. सेजल इसी आधार पर अपने एक्सपेरीमेंट को लेकर आगे बढ़ रही हैं. इस एक्सपेरीमेंट के जरिए धरती पर ही सूरज का न्यूक्लियर फ्यूजन क्रिएट किया जाएगा. इस प्रक्रिया के जरिए अत्यधिक मात्रा में ऊर्जा पैदा होगी, जो कि दुनिया भर में पैदा हो रहे ईंधन और ऊर्जा संकट का हल बन सकती है.

कौन है सेजल शाह
सेजल का बचपन गुजरात के एक छोटे से शहर में गुजरा. इस शहर में उच्च शिक्षा के लिए कोई कॉलेज या यूनिवर्सिटी भी नहीं थी. कई तरह के संघर्ष और कोशिशों के बाद वह यूनिवर्सिटी में दाखिला ले पाईं.वह हमेशा से जिंदगी में कुछ बड़ा करना चाहती थीं और इसके लिए उन्होंने साइंस की दुनिया को चुना. अब वह अपनी विशेषज्ञता के बल पर भारत को नई ऊंचाइयों पर ले जाना चाहती हैं. इन दिनों वह ITER-India (इंटरनेशनल न्यूक्लियर फ्यूजन रिसर्च) की टीम का हिस्सा हैं.

ये भी पढ़ें-  कहां से आते हैं नोट, कौन लेता है नोट छापने का फैसला? जानें पूरी डिटेल

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों पर अलग नज़रिया, फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.  

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv