Twitter
Advertisement
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Chandigarh Deputy Mayor और सीनियर डिप्टी मेयर चुनाव में BJP को मिली जीत, AAP-कांग्रेस को लगा झटका

Chandigarh Deputy Mayor Elections: चंडीगढ़ नगर निगम के डिप्टी मेयर और सीनियर डिप्टी चुनाव में AAP और कांग्रेस को फिर झटका लगा है और बीजेपी उम्मीदवारों को जीत हासिल हुई है.

Latest News
article-main

चंडीगढ़ नगर निगम डिप्टी मेयर चुनाव

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

चंडीगढ़ नगर निगम के डिप्टी मेयर और सीनियर डिप्टी मेयर पदों के लिए हुए चुनावों में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने जीत हासिल की है. सीनियर डिप्टी मेयर पद पर कुलजीत सिंह संधू और डिप्टी मेयर पद पर बीजेपी के राजिंदर शर्मा को जीत हासिल हुई. आम आदमी पार्टी (AAP) के तीन पार्षदों के बीजेपी में शामिल हो जाने की वजह से उसके पार्षदों की संख्या 17 हो गई थी. हाल ही में चंडीगढ़ नगर निगम के मेयर के चुनाव का मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा था. सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में गड़बड़ी स्वीकार करते हुए आम आदमी पार्टी (AAP) के उम्मीदवार कुलदीप कुमार को मेयर घोषित कर दिया था. 

सोमवार को डिप्टी मेयर चुनाव के लिए फिर से हुई वोटिंग में बीजेपी के कुलजीत सिंह संधू सीनियर डिप्टी मेयर पद के लिए चुने गए. वहीं, डिप्टी मेयर के पद पर बीजेपी के राजिंदर शर्मा को जीत मिली है. सीनियर डिप्टी मेयर पद कुलजीत सिंह संधू को 19 वोट मिले जबकि कांग्रेस के गुरप्रीत गाबी को 16 वोट मिले. एक वोट अवैध घोषित किया गया. मेयर ने चुनाव के नतीजों की घोषणा की. डिप्टी मेयर पद के चुनाव में राजिंदर शर्मा को 19 और विपक्षी उम्मीदवार को कुल 17 वोट मिले.


यह भी पढ़ें- वोट फॉर नोट केस में SC का अहम फैसला, 'घूसखोरी में नहीं मिल सकती छूट'


क्या है चंडीगढ़ नगर निगम का गणित?
चंडीगढ़ नगर निगम के कुल 35 सदस्यीय सदन में अब बीजेपी के 17 पार्षद हैं. तीन आम आदमी पार्टी (आप) पार्षदों के 19 फरवरी को बीजेपी में शामिल होने के बाद उसके सदस्यों की संख्या 14 से बढ़कर 17 हो गई थी. अब AAP के 10 सदस्य हैं जबकि कांग्रेस के सात सदस्य हैं. शिरोमणि अकाली दल का एक पार्षद है. बीजेपी नेता और चंडीगढ़ से सांसद किरण खेर को भी निगम के पदेन सदस्य के रूप में मतदान का अधिकार है. 

सुप्रीम कोर्ट ने चंडीगढ़ मेयर चुनाव के परिणाम को 20 फरवरी को पलटते हुए AAP-कांग्रेस गठबंधन के हारे हुए उम्मीदवार कुलदीप कुमार को शहर का नया मेयर घोषित किया था. कोर्ट ने 30 जनवरी के चुनाव के गड़बडियां पाए जाने के बाद निर्वाचन अधिकारी अनिल मसीह (बीजेपी नेता) के खिलाफ गंभीर कदाचार के लिए मुकदमा चलाने का भी आदेश दिया था.


यह भी पढ़ें- नफे सिंह राठी हत्याकांड: गोवा में छिपे दो शूटर गिरफ्तार, तलाश जारी 


पिछली बार भी इन्हीं दोनों को मिली थी जीत
बता दें कि सीनियर डिप्टी मेयर और डिप्टी मेयर पदों के लिए चुनाव प्रक्रिया का संचालन मेयर कुलदीप कुमार ने किया, जिन्होंने हाल ही में चंडीगढ़ के मेयर का पदभार संभाला है. बीजेपी ने 30 जनवरी को चंडीगढ़ मेयर चुनाव में कांग्रेस-आप गठबंधन के खिलाफ जीत हासिल की थी. मेयर पद के लिए बीजेपी के मनोज सोनकर ने AAP के कुलदीप कुमार को हराया था.

मतपत्रों में छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए AAP और कांग्रेस के पार्षदों ने वरिष्ठ उपमहापौर और उपमहापौर पदों के चुनाव का बहिष्कार कर दिया था, जिससे संधू और राजिंदर शर्मा की जीत हुई थी. इस बार भी बीजेपी ने राजिंदर शर्मा को डिप्टी मेयर पद के लिए मैदान में उतारा है. उनका मुकाबला कांग्रेस की निर्मला देवी से है.

देश-दुनिया की Latest News, ख़बरों के पीछे का सच, जानकारी और अलग नज़रिया. अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और वॉट्सऐप पर.

Advertisement

Live tv

Advertisement
Advertisement