Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Drop in Sperm Count: भारत के पुरुषों की कम हो रही प्रजनन क्षमता, इन कारणों से गिर रहा स्पर्म काउंट

Men Sperm Count में बहुत गिरावट आई है. हालिया एक रिसर्च बताती है कि पुरुषों की प्रजनन क्षमता कम हुई है.

Latest News
article-main
FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी: Drop In Sperm Count in Men- एक अंतरराष्ट्रीय रिसर्च ने दावा किया है कि दुनियाभर में पुरुषों के स्पर्म काउंट में जबरदस्त गिरावट दर्ज हुई है. स्पर्म काउंट से सिर्फ प्रजनन क्षमता नहीं घटती बल्कि कई तरह के कैंसर का खतरा बढ़ता है और साथ में आयु भी कम हो जाती है. पिछले 46 सालों का आंकड़ों के आधार पर स्पर्म में 50 फीसदी की कमी आई है.

शोधकर्ताओं ने कहा कि इसमें भारत भी शामिल है. शुक्राणुओं की संख्या न केवल मानव प्रजनन के लिए घातक है बल्कि पुरुषों के स्वास्थ्य के लिए भी नुकसानदायक है. शोधकर्ताओं ने बताया कि बिगड़ती लाइफस्टाइल और आहार की वजह से ही इसमें गिरावट दर्ज हो रही है. ह्यूमैन रिप्रोडक्शन अपडेट में 53 देशों के आंकड़ों को दर्शाया गया है. इसमें सात सालों के आंकड़ों का ब्योरा दिया गया है. इसमें दक्षिण अफ्रीका,भारत, अमेरिका, एशिया को शामिल किया गया है. 

यह भी पढ़ें- पुरुषों में क्यों कम होती जा रही है स्पर्म की संख्या, कारण 

हिब्रु यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने भारत के प्रति चिंता जताई है, उन्होंने कहा कि भारत में पुरुषों के स्पर्म में ज्यादा गिरावट आई है. साथ ही इसके पीछे के कारण भी बताया कि जीवनशैली तथा पर्यावरण में रसायन भ्रूण का इसपर बुरा असर हो रहा है. 

यह भी पढ़ें- सेक्स संबंधित ये बीमारियां कैसे होती हैं, कारण, लक्षण और बचाव कैसे करें 

यह भी पढ़ें- सेक्स से जुड़ी ये बीमारी क्या है, पुरुष और महिला दोनों को होती है, लक्षण

शुक्राणु नें गिरावट के कारण

स्मोकिंग, तनाव, शराब का सेवन, देर से सोना, मोटापा, नशीले पदार्थों का सेवन, अधिक दवाओं का खाना, डायबिटीज 

पुरुषों के यौन स्वास्थ्य के लिए जरूरी है ये आहार 

मसूर दाल, ब्रोकली, डार्क चॉकलेट, शीलाजीत, मेथी, गाजर, चुंकदर, अनार, केला, लहसुन, अंडा, अश्वगंधा 

यह भी पढ़ें- पॉल्यूशन से पुरुषों की प्रजनन क्षमता पर पड़ता है असर, कैसे 

Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. डीएनए हिंदी इसकी पुष्टि नहीं करता है.) 

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

 

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv