Twitter
Advertisement
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Indrani Mukerjea की कहानी दिखाने पर लग गई रोक, CBI ने की थी बैन की मांग, जानें क्यों मच रहा बवाल

शीना बोरा मर्डर केस पर बनी डॉक्युमेंट्री-सीरीज The Indrani Mukerjea Story Buried Truth को दिखाने पर रोक लग गई है. ये सीरीज Netflix पर रिलीज होने वाली थी.

Latest News
article-main

Indrani Mukerjea

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

शीना बोरा मर्डर केस पर बनी डॉक्युमेंट्री-सीरीज द इंद्राणी मुखर्जी स्टोरी: द बरीड ट्रुथ (The Indrani Mukerjea Story Buried Truth) इन दिनों काफी चर्चा में बनी हुई है. ट्रेलर रिलीज के बाद सीबीआई ने इसकी रिलीज को रोकने के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था और इसकी रिलीज पर रोक लगाने की मांग की थी. अब मुंबई के विशेष अदालत ने इस मामले पर फैसला सुनाया है और अब इसपर रोक लगा दी गई है. ये सीरीज नेटफ्लिक्स (Netflix) पर स्ट्रीम होने वाली थी.

बॉम्बे हाई कोर्ट ने नेटफ्लिक्स से इंद्राणी मुखर्जी पर बनी वेब सीरीज की स्क्रीनिंग रोकने का आदेश दिया है. सीरीज कल यानी 23 फरवरी को रिलीज होने वाली थी. अब इस मामले की अगली सुनवाई गुरुवार (29 फरवरी) को होगी. वहीं ANI की ट्वीट की मानें तो नेटफ्लिक्स को सीबीआई अधिकारियों के लिए एक विशेष स्क्रीनिंग की व्यवस्था करने के लिए भी कहा गया है.

सीबीआई ने सीरीज के ट्रेलर रिलीज के बाद एक याचिका कर डॉक्यूमेंट्री पर आपत्ति जाहिर किया था. उनका दावा था कि शीना बोरा मर्डर केस मामला कोर्ट में विचाराधीन है और डाक्यूमेंट्री की वजह से गवाह को ये प्रभावित कर सकती है.


ये भी पढ़ें: OTT और सिनेमाघरों में धमाल मचाने को तैयार हैं ये 9 फिल्में, आज ही बुक कर टिकट


क्या है फिल्म की कहानी 

इस डॉक्यूमेंट्री में शीना बोरा की हत्या और उसके बाद 2015 में शीना की कथित मां इंद्राणी मुखर्जी की गिरफ्तारी को दिखाया जाएगा. इसमें इस केस की परतों को खोलने दावा किया गया था. बता दें कि शीना बोरा मर्डर केस को लेकर साल 2022 में इंद्राणी मुखर्जी को जमानत दे दी गई थी.

CBI ने अर्जी में की थी ये मांग

पीटीआई की मानें तो सीबीआई ने अर्जी लगाकर मांग की थी कि शीना बोरा हत्याकांड से जुड़ी इंद्राणी मुखर्जी समेत बाकी सभी लोगों को इसमें न दिखाया जाए. किसी भी प्लेटफॉर्म पर डॉक्यू सीरीज के प्रसारण पर तुरंत रोक लगा दिया जाए, जब तक कि इस मामले का निपटारा नहीं हो जाता है.

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

Advertisement

Live tv

Advertisement
Advertisement